दुग्ध उत्पादकों को मिलेगा बकाया भुगतान

अजमेर, 29 जून। अजमेर डेयरी के संचालक मंडल की 135 वीं बैठक अध्यक्ष श्री रामचंद्र चौधरी की अध्यक्षता में संपन्न हुई । संचालक मंडल की बैठक में महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया कि दूध उत्पादकों के मई एवं जून माह के बकाया भुगतान लगभग 60 करोड़ 15 अगस्त पूर्व दूध उत्पादकों को संघ द्वारा भुगतान कर दिया जाएगा ।
श्री चौधरी ने बताया कि विगत एक पखवाड़े से दूध की बिक्री, घी की बिक्री एवं सरप्लस दूध अन्य संघों को बेचने से प्रतिदिन लगभग सवा सौ करोड़ रूपए की आय हो रही है । यही क्रम आगे और बढ़ने की संभावना है, जिससे पशुपालकों के 6 सप्ताह का पेमेंट 15 अगस्त से शुरू होने की पूरी पूरी संभावना है। विगत 4 माह में दूध एवं दूध के उत्पाद की बिक्री प्रतिदिन 60 से 70 लाख के बीच ही हो पा रही थी । इसके कारण पशुपालकों का भुगतान 60 से 70 करोड़ रूपए बकाया हो गया है । इसी प्रकार गत दिनों मार्च एवं अपे्रल माह का लगभग 70 करोड़ का भुगतान ग्रामीण बैंक बड़ौदा से 15 करोड़ का ऋण लेकर एवं मुख्यमंत्री सहायता कोष के 7 करोड़ रूपए मिलने से तथा अन्य स्त्रोतों से पैसों की व्यवस्था करके किसानों को फरवरी और मार्च का भुगतान किया गया । इस दौरान अजमेर डेयरी में नया निर्माणाधीन प्लांट के पेटे मई माह में 5 करोड़ का भुगतान किया गया है एवं वर्तमान जून माह का 5 करोड़ का भुगतान कल जारी कर दिया जाएगा। इस प्रकार संघ द्वारा एनडीडीबी निर्माण पेटे के 300 करोड़ रूपए का भुगतान आज तक कर दिया गया है।

उन्होंने बताया कि संचालक मण्डल में अन्य महत्वपूर्ण निर्णय अनुसार एनसीडीसी नई दिल्ली से अनुरोध किया गया कि विगत चार-पांच माह से कोराना वायरस महामारी के दौरान दूध एवं दूध के उत्पाद की बिक्री बहुत कम हुई है जिससे कि पशुपालकों का भुगतान भी 6 सप्ताह का अभी बकाया है । इन परिस्थितियों के कारण एनडीडीबी प्लांट का निर्माण अगस्त माह में पूरा नहीं कर पा रही है । इसमें 6 सितम्बर को मूलधन एवं ब्याज की किस्तों का बकाया देना है परन्तु संघ की वर्तमान आर्थिक परिस्थिति में देना संभव नहीं है। साथ ही रिजर्व बैंक के दिशा निर्देश अनुसार मोरटोरियम पीरियड एवं ब्याज का भुगतान एक्सटेंड करने हेतु समस्त वित्तीय संस्थाओं को निर्देश दिए गए हैं उसी के अनुरूप एनसीडीसी से अनुरोध किया जाता है कि हमारे उपरोक्त दोनों मोरटोरियम एवं ब्याज के भुगतान की अवधि 6 सितम्बर के स्थान पर 6 मार्च की जाए।

उन्होंने बताया कि कोरोना के कारण विगत 4 माह में दूध एवं दूध उत्पाद के भंडार की सहकारी जगत भरमार हो रखी है जिससे दूध एवं दूध के उत्पादों के भाव 25 प्रतिशत की गिरावट आ गई है। कोरोना के कारण जिले में सावर्जनिक आवागमन के साधन सुचारू रूप से प्रारम्भ नहीं हुए हैं अतः संघ में कार्यरत ठेका श्रमिकाें को आने जाने में आर्थिक व्यय हो रहा है इस हेतु संघ ने ठेका श्रमिकों को 50 रूपये प्रतिदिन का विशेष अलाउंस देने का निर्णय लिया है।

उन्होंने बताया कि संचालक मण्डल की बैठक में अन्य निर्णय में एडीए द्वारा संघ के सीवरेज लाइन का कार्य पूर्ण करने पर बधाई अर्पित करता है एवं आभार व्यक्त करता है । साथ ही भविष्य में कंचन नगर एवं डेयरी परिसर में दो सड़कों का निर्माण हेतु उनके द्वारा दिए गए प्रस्ताव अनुसार खर्चे की अनुमति दी जाती है और यह उपरोक्त तीनों सड़कें समय पर पूरी करवा ली जाए। दूध उत्पादकों के भुगतान समय पर करने हेतु बैंक ऑफ बड़ौदा ग्रामीण से 15 करोड़ वर्किग कैपिटल के रूप में लेने का निर्णय किया गया। यह 10 जुलाई से पूर्व मिलने की संभावना है जिससे कि दूध उत्पादकों को दो पेमेंट एक साथ देने का प्रयास किया जाएगा। एनडीडीबी द्वारा निर्मित नवीन प्लांट पर चर्चा की गई । उसमें यह निर्णय लिया गया कि एलपीजी सिस्टम एवं 6 लीटर वाली दो पैकिंग मशीन शीघ्रता शीघ्र स्थापित की जाए जिससे संघ को करोड़ो रूपए प्रति वर्ष की बचत होगी । एनडीडीबी से यह भी अनुरोध किया गया कि इस प्लांट को किसी भी परिस्थिति में आगामी अगस्त माह तक संपूर्ण किया जाए।

उन्होंने बताया कि किसान के्रडिट कार्ड की तरह भारत सरकार ने पशु पालकों के लिए भी के्रडिट योजना आरम्भ की है इसके अन्तर्गत पशुपालकों को तीन प्रतिशत ब्याज पर एक लाख 60 हजार की अतिरिक्त राशि उपलब्ध करवायी जाएगी। भूमिहीन पशु पालकों को भी इसका लाभा मिलेगा। पशुआें का बीमा कराने के उपरान्त इससे लाभान्वित हुआ जा सकता है। अजमेर डेयरी अपने स्तर पर लगभग 60 हजार पशु पालक सदस्यों के आवेदन भरवा रहा है।

अजमेर डेयरी के प्रबन्ध निदेशक श्री उमेश व्यास ने बताया कि डेयरी द्वारा बिक्री केन्द्रों की संख्या बढ़ायी जाएगी साथ ही नये आउटलेट एवं सरस पार्लर भी खोले जाएंगे । लम्बे वितरण मागोर्ं को छोटे भागों में बांटा गया है इससे उपभोक्ताओं को दुग्ध उत्पाद शीघ्र प्राप्त हो सकेंगे। नये उत्पाद भी आरम्भ किए जाएंगे।

Leave a Comment

error: Content is protected !!