लॉक डाउन नहीं लगेगा, अफवाहों से सावधान रहें आमजन

अजमेर, 31 जुलाई। जिला कलक्टर श्री प्रकाश राजपुरोहित ने कहा कि कोरोना महामारी का संक्रमण रोकने के लिए जिला प्रशासन, पुलिस और चिकित्सा विभाग टेस्ट, ट्रैक और आइसोलेट की रणनीति पर काम कर रहे हैं। जिन इलाकों में कोरोना का ज्यादा प्रसार है, वहां सैंपलिंग ज्यादा से ज्यादा की जाएगी। हमारा प्रयास है कि जिले में प्रत्येक संक्रमित व्यक्ति तक पहुंच कर उसे उपचार दिया जाए ताकि वह किसी अन्य को संक्रमित नहीं कर सके। आमजन मास्क, सेनेटाइजेशन और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करें ताकि संक्रमण को रोका जा सके। जिले में बढ़ रहे पॉजीटिव के आंकड़े तथा मृत्यु के आंकडे़ को लेकर किसी को भयभीत होेने की जरूरत नहीं है।

जिला कलक्टर श्री प्रकाश राजपुरोहित ने कलेक्ट्रेट सभागार में मीडिया से बातचीत में जिले में कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए जिला प्रशासन, पुलिस और चिकित्सा विभाग की रणनीति की जानकारी दी। पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप भी उनके साथ उपस्थित रहे। जिला कलक्टर ने कहा कि वर्तमान में हमारी सबसे बड़ी चुनौती अनलॉक के साथ-साथ कोरोना के प्रसार के रोकना है। हम टेस्ट, टै्रक और आइसोलेट की नीति पर काम कर रहे हैं। हमारा सर्वाधिक ध्यान लक्षण और बिना लक्षण वाले सभी संक्रमित व्यक्तियों की पहचान कर उन्हें आइसोलेट करना है। हम अपनी रणनीति पर सफलता पूर्वक आगे बढ़ रहे है। हमने कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए टेस्टिंग की क्षमता को 3 हजार 500 तक बढ़ा लिया है। जिले में जितने भी लक्षण वाले और बिना लक्षण वाले मरीज सामने आ रहे है। उन सभी को उनकी बीमारी के अनुसार होम या अस्पताल में आइसोलेट कर उपचार दिया जा रहा है। हमारा प्रयास है कि संक्रमण और मृत्यु की दर लगातार कम हो। इसके लिए राज्य सरकार ने जिन नई और महंगी दवाओं को मंजूरी दी है। वह भी अजमेर में उपचार के लिए काम में ली जा रही है। कई मरीजों को यह दवा दी भी गई है।

उन्होंने कहा कि वर्तमान में पॉजीटिव मिल रहे मरीजों में बहुत बड़ी संख्या उन मरीजों की है जो बिना लक्षण वाले है। यही मरीज संक्रमण के प्रसार के लिए बड़ा कारण है। हमारी कोशिश है कि ऎसे सभी मरीजों को टै्रक कर उपचार दिया जाए। इसी तरह वेन्डर, सुपर स्पै्रडर और प्रवासी श्रमिकों की टैस्टिंग पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। अजमेर जिले में होम आइसोलेट किए जा रहे मरीजों को पल्स ऑक्सीमीटर भी दिया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने में सबसे बड़ी भूमिका वर्तमान में आमजन की है। हम मास्क लगाकर, दो गज की दूरी रखकर, सैनेटाइज कर और खुले में ना थूक कर कोरोना संक्रमण को को रोकने में अपनी भूमिका निभा सकते है। वर्तमान में अनलॉक चल रहा है, स्कूल, कॉलेज और मंदिरों के अलावा अन्य अधिकांश गतिविधियां जारी है। ऎसे में हम सभी ध्यान रखें कि बचाव के नियमों का पूरी तरह पालन करना है। प्रशासन, पुलिस, पंचायतीराज तथा स्थानीय निकाय विभाग लगातार जुर्माना कर रहे है। यह जुर्माना लगातार जारी रहेगा।

जिला कलक्टर श्री राजपुरोहित ने कहा कि जिन इलाकों में कोरोना के ज्यादा केस सामने आएंगे वहां कन्टेंमेंट जोन बनाकर कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए काम किया जा रहा है। हम अस्पतालों में भी लगातार सुविधाओ का विस्तार कर रहे हैं।

पुलिस अधीक्षक श्री कुंवर राष्ट्रदीप ने कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए हम सभी को सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क और सेनेटाईजेशन के नियमों का पालन करना जरूरी है। उन्होंने कहा कि अजमेर जिले में किसी तरह का लॉकडाउन नहीं होने जा रहा है। आमजन अफवाहों पर ध्यान नहीं दें। जिला प्रशासन और पुलिस का प्रयास है कि आमजन को किसी तरह की परेशानी ना हो लेकिन नियमों का पालन करना बेहद जरूरी है। इस अवसर पर अतिरिक्त जिला कलक्टर शहर श्री विशाल दवे, जवाहर लाल नेहरू चिकित्सालय के अधीक्षक डॉ. अनिल जैन, सीएमएचओ डॉ. के.के. सोनी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

फैक्ट फाइल

जिले में उपलब्ध वेंटीलेटर-133

ऑक्सीजन बेड- 131

पल्स ऑक्सीमीटर-891

टेस्टिंग क्षमता-3500

जुलाई में कुल सैम्पल- 27101

कुल सैम्पल- 54496

जिले में 15 जुलाई तक कुल चालान- 2121

जिले में 15 से 30 जुलाई तक कुल चालान- 8261

Leave a Comment

error: Content is protected !!