कोविड-19 संक्रमण में सतर्कता से ही बचाव – जैन

अजमेर ! जिला प्रशासन अजमेर के प्रोटोकॉल अधिकारी आलोक जैन ने कहा कि कोरोनावायरस संक्रमण में सतर्कता से ही बचाव सम्भव है।

प्रोटोकॉल अधिकारी जैन राजस्थान के लोकप्रिय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देशानुसार जिला प्रशासन अजमेर द्वारा कोविड-19 संक्रमण के बचाव के लिए चलाए जा रहे जन आंदोलन नो मास्क नो एंट्री कार्यक्रम के तहत जवाहर फाउंडेशन एवं पूर्वांचल जन चेतना समिति द्वारा जागरूकता पर नाका मदार शॉपिंग सेंटर पर शाम को 5 बजे आम नागरिकों से औपचारिक बातचीत कर रहे थे।

कोविड-19 संक्रमण के बचाव के लिए चलाए जा रहे जागरूकता अभियान में के प्रोटोकॉल अधिकारी जैन ने कहा कि हमें कोरोना से बचाव के लिए मास्क लगाने, बार-बार हाथ धोने, सार्वजनिक स्थान पर नहीं थूकने और सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने जैसे उपायों की कड़ाई से पालना करनी होगी। तभी हम इस महामारी को फैलने से रोक पाएंगे । हमें जन चेतना लाकर और नियमों की कड़ाई से पालना करवाकर लोगों की आदतों को बदलना होगा ।

कोविड-19 संक्रमण से बचाव के लिए जागरूक करने के लिए जिला प्रशासन अजमेर के प्रोटोकॉल अधिकारी आलोक जैन , जिला शिक्षा अधिकारी देवी सिंह कच्छावा, प्रताप यादव एवं जवाहर फाउंडेशन के प्रतिनिधि सौरभ यादव के नेतृत्व में जवाहर फाउंडेशन एवं पूर्वांचल जन चेतना समिति के सदस्यों ने आम नागरिकों से समझाइश की एवं 400 मास्क वितरित किए।
इस अवसर जवाहर फाउंडेशन के निखिल टंडन , सुनील धानका , चंद्रेश सुनिया , मिलन टंडन , सारिका जैन आदि ने सोशल डिस्टेंस मेंटेन करते हुए निर्धन असहाय दिहाड़ी मजदूर ग्रामीणों एवं जरूरत मंदो को उच्च तकनीक से निर्मित धोने योग्य मास्क वितरित किए।
जवाहर फाउंडेशन के प्रभारी श्री रजनीश कुमार ने बताया कि कोविड-19 संक्रमण से बचाव के लिए जागरूकता अभियान के लिए जवाहर फाउंडेशन की अजमेर शहर में 10 टीम का गठन किया गया है, यह टीमें अजमेर शहर में विभिन्न स्थानों पर मास्क वितरण बैनर एवं स्टिकर लगाकर आमजन से समझाइश करेगी अजमेर जिले की सभी विधानसभा में अलग से टीम का गठन किया गया है जो अपने सामाजिक सरोकार के लिए कार्य कर रहे हैं

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

error: Content is protected !!