आनलाइन सिन्धी बाल संस्कार शिविरों का शुभारंभ 16 जून से

वर्चुअल तैयारी बैठक में लिये गये निर्णय
10 जून 2021 -भारतीय सिन्धु सभा राजस्थान की ओर से कोरानाकाल में विद्यार्थियों के लिये आॅनलाइन सिन्धी ई-बाल संस्कार शिविरों का शुभारंभ सिन्धुपति महाराजा दाहरसेन के 1309वें बलिदान दिवस पर 16 जून को किये जायेगें। उक्त निर्णय सभा की प्रदेश स्तरीय वर्चुअल तैयारी बैठक में अध्यक्ष श्री मोहनलाल वाधवाणी की अध्यक्षता में लिया गया।
प्रदेश के भाषा,साहित्य मंत्री व कार्यक्रम संयोजक डाॅ. प्रदीप गेहाणी (जोधपुर) ने बताया विद्यार्थियों के लिये तैयार किये गये समूहों में अध्ययन करवाया जायेगा व अलग अलग रोजगार सम्बंधी कांउसिलिंग व ज्ञानवर्धक प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया गया है जिसमें विजेताओं को सम्मानित किया जायेगा। सम्मान में प्रशस्ति पत्र के साथ रूप्ये 31,000 के नकद राशि भी वितरित की जायेगी। प्रतिभागियों को ई रंगीन सर्टीफिकेट का वितरण भी किया जायेगा।
राष्ट्रीय मंत्री महेन्द्र कुमार तीर्थाणी ने कहा कि राजस्थान प्रदेश में ऐसे सिन्धी बाल संस्कार शविरों के आयोजन से बच्चों को सिन्धी भाषा, सभ्यता के साथ सनातन संस्कारों का ज्ञान अलग अलग सत्रों में होगा। आॅनलाइन प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया जायेगा।

प्रदेश महामंत्री ईश्वर मोरवाणी ने बताया कि किताब में प्रार्थना, खेलकूद की जानकारी, सिन्धी गीत, लोक गीत-नृत्य, नाटक, कविता, भजन व देश भक्ति के प्रेरणा प्रसंग जोडे गये है। राज्य में आॅनलाइन सिन्धी बाल संस्कार शिविरों का आयोजन ईकाइयों के सहयोग से किया जा रहा है। पन्द्रह दिवसीय शिविर में 5 से 18 वर्षीय छात्र-छात्राओं को सम्मिलित किये गया है।
शिविरों को सफल बनाने के लिये बेठक में सुरेश कटारिया, श्रीमति वंदना वजीराणी (चित्तौडगढ) श्रीमति शोभा बसंताणी(जयपुर) गिरधारी ज्ञानाणी, राजकुमार दादवाणी (खैरथल) घनश्याम ठारवाणी भगत, महेश टेकचंदाणी, मोहन कोटवाणी (अजमेर) मूलचंद बसताणी, दीपेश सामनाणी (जयपुर) राधाकिशन शिवलाणी (पाली) जय चंचलाणी (कोटा) घनश्याम हरवाणी (श्रीगंगानगर) सुरेश केसवाणी (बीकानेर) घनश्याम मंघनाणी (हनुमानगढ) राजा संगताणी (बालोतरा)वीरूमल पुरसवाणी,प्रकाश फुलवाणी, नरेश टहिल्याणी ने भी विचार प्रकट किये।

(ईश्वर मोरवाणी)
प्रदेश महामंत्री,
मो.09414349864

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

error: Content is protected !!