अजमेर हिंदी बोलने वाला इकलौता शहर

यह बहुत दिलचस्प तथ्य है कि राजस्थान में इकलौता शहर अजमेर ऐसा है, जहां की आम बोली हिंदी है। अन्य सभी शहरों, यथा जयपुर, जोधपुर, उदयपुर, कोटा, बीकानेर इत्यादि में हालांकि हिंदी भी चलन में है, मगर आम बोलचाल की भाषा थोड़ा-थोड़ा अंतर लिए हुए राजस्थानी ही बोली जाती है। आम आदमी की बोली हिंदी … Read more

…जब प्रकाश सेठी अजमेर आये

कांग्रेस के युवा नेता संजय गांधी की मार्च 1980 में होने वाली यात्रा की तैयारियों का जायज़ा लेने के लिये उस वक्त के केन्द्रीय पेट्रोलियम मंत्री प्रकाश सेठी अजमेर आये, उन्होंने सुभाष उद्यान में आयोजित होने वाले सर्व धर्म सम्मेलन की तैयारियों को अंतिम रूप दिया। श्री सेठी ने सर्किट हाऊस में पत्रकारों से बातचीत … Read more

आत्मविश्वास का पर्याय है डी बी गुप्ता

श्री देवेन्द्र भूषण गुप्ता आत्मविश्वास के पर्याय के रूप में जाने जाते हैं, इन्हें कभी टेंशन में किसी ने नहीं देखा होगा। विपरीत परिस्थितियों में मुस्कुराकर कार्य करने की कला कुछ बिरले ही उच्च अधिकारियों में देखी जा सकती है जिनमें श्री गुप्ता सर्वोपरि हैं । 26 मई 1994 से 12 अगस्त 1996 तक अजमेर … Read more

श्री निरंजन आर्य के साथ यादगार संस्मरण

पुष्कर मेले में लोक कलाकारों का स्वर्णिम काल श्री निरंजन आर्य ने अजमेर में ज़िला कलक्टर रहते हुये विश्व प्रसिद्ध पुष्कर मेले में ऐसी छाप छोड़ी कि वर्ष 2002 से लोक कलाकारों का स्वर्णिम युग प्रारंभ हुआ। पूरे विश्व के मीडिया ने इसी साल से मेले को जो पब्लिसिटी दी उसकी पुनरावृत्ति दो- तीन वर्षों … Read more

अफसरशाही के आगे जनप्रतिनिधि इतने मजबूर क्यों?

पिछले दिनों स्वामी न्यूज फेसबुक लाइव में कांग्रेस व भाजपा के विभिन्न प्रमुख नेताओं से हुई बातचीत से एक बात खुल कर सामने आई है कि जनहित के लिए किए जा रहे विकास कार्यों में जनप्रतिनिधियों की ही नहीं चलती, सारे निर्णय प्रशासन ही करता है। विशेष रूप से ताजा तरीन स्मार्ट सिटी योजना में। … Read more

आरएसएस कोई फ्रेश चेहरा सामने लाएगा मेयर पद के लिए?

हालांकि अनुसूचित जाति महिला के लिए रिजर्व मेयर पद के लिए चर्चाओं में स्थापित या चर्चित चेहरे आ रहे हैं, लेकिन अंदरखाने से यह जानकारी छन कर आ रही है कि भाजपा का मातृ संगठन आरएसएस किसी फ्रेश चेहरे को सामने ला सकता है। ठीक वैसे ही जैसे पूर्व महिला व बाल विकास राज्य मंत्री … Read more

कानूनन सज्जादानशीन तो दरगाह दीवान ही हैं

हाल ही में मैने एक फेसबुक पेज व एक वेबसाइट के उस दावे की जानकारी दी थी, जिसमें दर्शाया गया है कि ख्वाजा साहब के ऑरीजिनल सज्जादानशीन तो पाकिस्तान में हैं, जबकि सच्चाई ये है कि महान सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती के वर्तमान सज्जादानशीन दरगाह दीवान सैयद जैनुल आबेदीन अली खान हैं और … Read more

पाकिस्तान में हैं ख्वाजा साहेब के असली सज्जादानशीन?

यह सर्वविदित है कि महान सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती के वर्तमान सज्जादानशीन दरगाह दीवान सैयद जैनुल आबेदीन अली खान हैं और उन्होंने अपने पुत्र को अपना उत्तराधिकारी भी घोषित कर दिया है। दीवान साहब का खुद को ख्वाजा साहेब का सज्जादानशीन सुप्रीम कोर्ट के फैसले के मुताबिक बिलकुल जायज भी है। दूसरी ओर … Read more

निरंजन आर्य के साथ यादगार संस्मरण

25 अगस्त 2001 को श्री निरंजन आर्य ने अजमेर कलक्टर का कार्यभार संभाला और अगले ही दिन 26 अगस्त को प्रात: लॉअर और टी शर्ट में स्वयं ही जिप्सी चलाकर पटेल मैदान पंहुच गये। जिप्सी को मैदान से बाहर दूर खड़ी कर यहाँ वॉलीबॉल ग्राउण्ड में पंहुच गये और ख़ुद भी पीछे खड़े रहकर खेलने … Read more

मुख्य सचिव आर्य से जुडा मार्मिक संस्मरण

बात वर्ष 2003 की है जब श्री निरंजन आर्य अजमेर के ज़िला कलक्टर थे।इनके कार्यकाल में पुष्कर मेले के समापन समारोह के लोक नृत्य में भाग ले रही छात्राओं को इन्होंने दानदाताओं से कॉस्ट्यूम्स के साथ-साथ जूते भी दिलाये थे तब मैं जनसम्पर्क अधिकारी के रूप में कार्य कर रहा था और मैंने श्री आर्य … Read more

प्रूफ रीडर एडीटर का बाप होता है!

हाल ही मैंने एक ब्लॉग में सुरेन्द्र सिंह शेखावत की जगह गलती से सुरेन्द्र सिंह रलावता लिख दिया। ऐसा कभी-कभी हो जाता है। इसे स्लिप ऑफ पेन कहा जाता है। जैसे ही ब्लॉग प्रकाशित हुआ, दैनिक न्याय सबके लिए के ऑनर श्री ऋषिराज शर्मा और श्री राजीव शर्मा बगरू ने तत्काल मेरा ध्यान आकर्षित किया। … Read more

error: Content is protected !!