अजमेर और गिनती

कहते है कि अजमेर में गिनती का बहुत महत्व है. मसलन, यहां के पुष्कर तीर्थ में विश्व का एक मात्र ब्रह्माजी का मंदिर है. इसमें कोई दो राय नही है कि यहां दोराई नामक गांव भी है जहां चारभुजा नाथ का प्रसिध्द मंदिर है जहां प्रतिवर्ष भादवा की पूनम को मेला लगता है. आजकल इस … Read more

खंभों पर बरसात लिखने वाले का पता लग गया

हर जगह बरसात लिखने वाला कहां चला गया? इस शीर्षक से मेरा ब्लॉग प्रकाशित होते ही कई प्रतिक्रियाएं आई हैं। मेरे मित्र श्री रमेश टिलवानी, जो कि पिछले कई सालों से समाज सेवा में जुटे हुए हैं, ने वाट्स ऐप पर उस शख्स के बारे में काफी जानकारी भेजी है। साथ ही पुराने मित्र श्री … Read more

हर जगह बरसात लिखने वाला कहां चला गया?

जिन लोगों की शहर की हर गतिविधि पर नजर रहती है, उन्हें ख्याल में होगा कि कोई पंद्रह साल पहले शहर में हर खंभे व दीवारों पर चॉक से बरसात लिखा होता था। कहीं-कहीं रेन भी लिखा हुआ पाया गया। ऐसा करने वाला वह कौन था, इसका कभी पता नहीं लगा। यह हरकत हर जगह … Read more

खबर में संक्षिप्तिकरण के मास्टर थे स्वर्गीय श्री श्याम सुंदर शर्मा

हाल ही प्रदेश के जाने-माने पत्रकार श्री श्याम सुंदर शर्मा का निधन हो गया। मूलत: बीकानेर निवासी श्री शर्मा ने बीकानेर में तो लंबे समय तक पत्रकारिता की ही, दैनिक भास्कर के जयपुर संस्करण में काफी समय तक काम किया। वे अलवर संस्करण के स्थानीय संपादक भी रहे। संपादक शब्द के सीधे-सीधे मायने हैं, जो … Read more

नसीराबाद के वरिष्ठ व सुपरिचित पत्रकार श्री अतुल सेठी हमारे बीच नहीं रहे। वे बहुत ऊर्जावान व सक्रिय पत्रकार के साथ हंसमुख, यारबाज व जिंदादिल इंसान थे। अजमेर के पत्रकार जगत को उनका अभाव सदैव खलेगा। उन्होंने पत्रकारों के हितों के लिए पत्रकार संगठनों में भी सक्रिय भागीदारी निभाई। मुझे वे बहुत सम्मान व प्यार … Read more

अजमेर ने खो दिया महान कलाविद्

कला को समर्पित श्री कमलेन्द्र कुमार झा का निधन जाने-माने कलाविद् श्री कमलेन्द्र कुमार झा हमारे बीच नहीं रहे। अजमेर के लिए यह एक अपूरणीय क्षति है। कला की सेवा और उसका संरक्षण करने के क्षेत्र में कवि एवं गीतकार कमलेन्द्र कुमार झा अजमेर में एक स्थापित शख्सियत रहे। हालांकि पेशे से वे इंजीनियर थे … Read more

रहस्यमय गुफा सीसाखान

अजमेर में एक ऐसी रहस्यमय गुफा है, जिसके बारे में कोई प्रमाणिक तथ्य ऐतिहासिक पुस्तकों में मौजूद नहीं हैं, मगर कई दिलचस्प किंवदंतियां प्रचलन में है। इस ऐतिहासिक गुफा की सच्चाई जानने के लिए आजादी के बाद भी कोई अधिकृत प्रयास नहीं किए गए, इस कारण गुफा के रहस्य से आज तक पर्दा नहीं उठ … Read more

हमारा प्यारा अजमेर क्या है

” चूँ पंचू की गली “अजमेर में दरगाह बाजार से नला बाजार होकर आते समय रास्ते में एक गली से डिग्गी बाजार जाने का रास्ते का नाम है। इस गली में मुहाने पर पतंग और लट्टू बेचने वालों की दुकानें हैं और सबसे बड़े अचरज की बात है कि इस गली का नाम ” चूँ … Read more

बेमिसाल डॉक्टर एन. सी. मलिक का एक और दिलचस्प प्रसंग

मैं हूं अजमेर के हृदयस्थल नया बाजार की गोल प्याऊ। हर राजनीतिक, सामाजिक, धार्मिक, आर्थिक हलचल के केन्द्र इस बाजार में होने वाली हताई, सुगबुगाहट व गप्पबाजी की गवाह। गर कहें कि यही नब्ज है अजमेर की तो कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी। शहर में पत्ता भी हिले तो उसकी खबर यहां पहुचंती है। सियासी गणित … Read more

बेमिसाल डॉक्टर एन. सी. मलिक के कुछ और दिलचस्प प्रसंग

मैं हूं अजमेर के हृदयस्थल नया बाजार की गोल प्याऊ। हर राजनीतिक, सामाजिक, धार्मिक, आर्थिक हलचल के केन्द्र इस बाजार में होने वाली हताई, सुगबुगाहट व गप्पबाजी की गवाह। गर कहें कि यही नब्ज है अजमेर की तो कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी। शहर में पत्ता भी हिले तो उसकी खबर यहां पहुचंती है। सियासी गणित … Read more

क्या होगा धर्मेन्द्र गहलोत का भविष्य?

अजमेर नगर निगम के दो बार महापौर रह चुके धर्मेन्द्र गहलोत का राजनीतिक भविष्य क्या होगा, यह सवाल सियासी हलकों में भ्रमण कर रहा है। ऐसा इसलिए कि भाजपा में वे गिनती के उन नेताओं में शुमार है, जो ऊर्जावान माने जाते हैं। दो बार महापौर रह लेना कोई कम बात नहीं है। हालांकि इस … Read more

error: Content is protected !!