इसे कहते हैं नवाचार

*ओम माथुर*
अजमेर जिला प्रशासन का बेहतरीन नवाचार। रेलवे स्टेशन के बाहर सार्वजनिक शौचालय के बिल्कुल सटकर बनाई जा रही है इंदिरा रसोई। लेकिन लोग और मीडिया इसका फायदा बताते के बजाय नुकसान बता रहे हैं।

ओम माथुर
सीधा-साधा फायदा है, अगर कोई भूखे पेट है,तो रसोई में खाइए और अगर कोई पेट भरकर आया है,तो शौचालय में जाइए। शौचालय में बैठकर भोजन की सुगंध का आनंद मुफ्त और रसोई में बैठकर शौचालय की दुर्गंध जबरन अनुभव। सोचिए, अजमेर आने वाले जायरीन व यात्रियों को कितना लाभ होगा। सुबह ट्रेन से उतरते ही पहले शौचालय में फ्री हो जाइए और फिर रसोई में जीमकर पर्यटन करिए या अपनी मंजिल पर जाइए। राज्यभर में गहलोत सरकार की ओर से विभिन्न क्षेत्रों में किए जा रहे नवाचारों में अजमेर प्रशासन कुछ ज्यादा ही आगे निकल गया है। राज्य में ये अपने किस्म का पहला ही प्रयोग होगा,जहां पेट भरने और खाली करने की जगह इतनी पास-पास है।
*9351415379*

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

error: Content is protected !!