नारी की कमज़ोरी

माँ की ममता

नारी दुर्गा है ,अन्नपूर्णा हैं ,लक्ष्मी हैं
परिस्थितियों के अनुरूप हर रूप में है नारी
अपनी हर बात पर डट कर खड़ी रहती हैं
दूसरों की नज़रों में मिशाल बन जाती हैं
लेकिन माँ की ममता कहते है
कमज़ोर होती हैं ………..

बूढ़ी माँ को नया नया मोबाइल प्रकाश ने दिलाया
कावेरी ख़ुश बेटा फ़ोन ले आया ….
व्हाट्सएप्प पर सबकी बातें पढ़ रही थी तस्वीरें देख ख़ुश हो रही थी लेकिन अपनी बात नहीं लिख पा रही …….
टाइप करना नहीं आता ……..
सबकी आवाज़ सुन रही पर ख़ुद की आवाज़ नहीं भेज सकती ……….
बेटा प्रकाश इसपर आवाज़ कैसे भेजते हैं ?
मम्मी कितना आसान है देखो वहाँ एक बटन है ……दबाना ही तो है ……
बेटा थोड़ा बता दे …….
प्रकाश ने फ़ोन हाथ में लिया ओर बस जल्दी से बताया ओर चला गया ……

कावेरी दिन भर प्रयास करती रही …..
डरते डरते रात को प्रकाश को पूछ ही लिया
बेटा मुझ से नहीं हो रहा एक बार बता देगा ………..
प्रकाश हर दम की तरह कह कर निकल गया

” मम्मी आप रहने दो आप कुछ नहीं जानते ”

सही कहा है किसी ने एक माँ अपने बच्चों के आगे ही हार जाती हैं ।

अम्बिका हेड़ा
अजमेर

Leave a Comment