भेड़ निष्क्रमण के संबंध में समस्त व्यवस्थायें सुनिश्चित करें

अजमेर, 7 जून। जिला कलक्टर श्री विश्व मोहन शर्मा ने समस्त अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे आगामी जुलाई माह से होने वाले भेड़ निष्क्रमण के दौरान समस्त व्यवस्थाएं सुनिश्चित करें। इस दौरान उपखण्ड अधिकारी अपने अपने क्षेत्र में नियमित रूप से नजर रखेगे।
जिला कलक्टर शुक्रवार को भेड़ निष्क्रमण के संबंध में आयोजित जिला स्तरीय बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंनेे कहा कि भेड़ निष्क्रमण के दौरान पशुपालकों एवं भेड़ों की सुरक्षा आवश्यक है। इस दौरान कानून व्यवस्था पूरी तरह मुस्तैद होनी चाहिए। भेड़ पालकों के परंपरागत रास्तों पर से अतिक्रमण एवं बाधाओं का निराकरण कर सीधे रास्ते के बारे में जागरूक किया जाना चाहिए। इसके साथ ही उपखण्ड अधिकारी समस्त व्यवस्थायें सुनिश्चित करने के लिए नियमित रूप से मोनिटरिंग करें। उन्होंने कहा कि किसी भी क्षेत्र में भेड़ों का रूकाव एक दिन से ज्यादा नहीं रहें। भेड़ों का निष्क्रमण निर्धारित मार्ग से ही हो।
उन्होंने कहा कि अजमेर जिले में भेड़ पालकों का ठहराव होता है। जिले में पशुपालकों एवं ग्रामीणों के मध्य आपसी समन्वय सें भेड़ों का निष्क्रमण सुनिश्चित किया जाना चाहिए। जिले में पुलिस और प्रशासन का संयुक्त दल निष्क्रमण के रास्तों का जायजा ले लेवें। साथ ही मार्ग की बाधाओं को समय रहते दूर करे। समस्त मार्ग में चेक पोस्टों की स्थापना की जाए। इन पर पर्याप्त मात्रा में सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित की जायें। प्रत्येक भेड़ पालक का परिचय पत्र बनाया जाए। साथ ही यह सुनिश्चित किया जाए कि परिचय पत्र संबंधित के पास ही रहे। इस परिचय पत्र के उपयोग से उचित मूल्य की दुकानों से राशन सामग्री प्राप्त की जा सकेगी।
उन्होंने कहा कि पशुपालन विभाग द्वारा भेड़ों के लिए पर्याप्त मात्रा में दवाएं एवं टीकाकरण सामग्री उपलब्ध रहनी चाहिए। यह सामग्री निष्क्रमण मार्ग तथा चेक पोस्टों पर अग्रिम ही पहुंचाई जाए। इस कार्य के लिए जिला स्तर पर भेड़ निष्क्रमण के संबंध में नियंत्रण कक्ष की स्थापना की जाए। पशुपालकों के लिए रास्ते के स्वास्थ्य केन्द्रों पर उपचार की व्यवस्था भी चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा उपलब्ध करवाई जाएगी।

पशुपालन विभाग में नियंत्रण कक्ष स्थापित
बैठक में पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ. अजय अरोड़ा ने बताया कि जिला स्तर पर भेड़ निष्क्रमण कार्य के लिए विभागीय नियंत्रण कक्ष स्थापित कर दिया गया है। जिसके प्रभारी अधिकारी उप निदेशक डॉ. प्रफुल्ल माथुर होंगे। जिनके दूरभाष संख्या 0145-2429447 तथा मोबाईल नम्बर 9414644385 रहेगा। उन्होंने बताया कि जिले में भेड़ निष्क्रमण के लिए सात मार्ग निर्धारित किये है। इन मार्गो पर पशु चिकित्सा की आठ स्थानों पर अस्थाई चैक पोस्ट स्थापित की गई है। चैक पोस्टों के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त कर दिये गये है।
बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री कैलाश चन्द लखारा, वन उप संरक्षक श्रीमती सुदीप कौर, पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक श्री अजय अरोड़ा, पशुधन कल्याण एव पर्यावरण विकास संस्था के श्री होतीराम देवासी सहित रसद, कृषि एवं वन विभाग के विभिन्न अधिकारी उपस्थित थे।

देवस्थान एवं पर्यटन मंत्री 9 को ब्यावर आयेंगे
अजमेर, 7 जून। देवस्थान एवं पर्यटन मंत्री श्री विश्वेन्द्र सिंह रविवार 9 जून को दोपहर 12 बजे ब्यावर आयेंगे तथा स्थानीय कार्यक्रमों में भाग लेकर एक बजे नाथद्वारा के लिए प्रस्थान कर जायेंगे।

जिला यातायात प्रबंधन समिति की बैठक 13 को
अजमेर, 7 जून। जिला यातायात प्रबंधन समिति की बैठक आगामी 13 जून गुरूवार को सायं 4 बजे जिला कलक्टर श्री विश्व मोहन शर्मा की अध्यक्षता में कलक्ट्रेट सभागार में आयोजित की जायेगी। प्रादेशिक परिवहन अधिकारी श्री अर्जुन सिंह राठौड ने यह जानकारी दी।

बाल श्रमिकों का पुर्नवास सुनिश्चित करें – जिला कलक्टर
जिला बाल संरक्षण ईकाई की बैठक सम्पन्न
अजमेर, 7 जून। जिला कलक्टर श्री विश्व मोहन शर्मा ने श्रम विभाग को निर्देशित किया है कि वे बाल श्रमिकों के संबंध मे प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित करते हुए उनके पुर्नवास के लिए समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करें।
जिला कलक्टर शुक्रवार को जिला बाल संरक्षण ईकाई एवं बाल श्रमिक टास्क फोर्स की संयुक्त बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि चाईल्ड लाईन से सूचना प्राप्त होते ही तुरन्त श्रम विभाग धावा बोल कर कार्यवाही करें तथा साथ ही ऎसे बाल श्रमिकों को स्कीन कार्यक्रमों से जोडकर उनका पुर्नवास भी सुनिश्चित करें। उन्होंने बाल कल्याण समिति, राजकीय सम्पे्रक्षण गृह, राजकीय शिशु गृह, दयानंद बाल सदन, चंचल केयर होम, चाईल्ड लाईन, श्रम विभाग एवं संबंधित संगठनों द्वारा बाल श्रम रोकने के लिए किये जा रहे प्रयासों की प्रगति की समीक्षा की।
जिला कलक्टर ने बाल श्रम के बकाया प्रकरणों की स्थिति के संबंध में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग को प्रभावी मोनिटरिंग करने तथा एक सप्ताह में रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश भी दिये। किशोर न्याय बोर्ड के अधिकारी के बैठक में अनुपस्थित पाये जाने पर नोटिस जारी करने के निर्देश भी दिये। उन्होंने कहा कि बाल श्रमिकों को बाल श्रम से रोकने के साथ ही उनका पुर्नवास भी जरूरी है, ऎसे में स्वयं सेवी संगठनों से भी ऎसे बाल श्रमिकों को भी किसी स्कील से जोड़ने के लिए भी आगे आने को कहा।
उन्होंने बंधुआ श्रमिकों के लिए अधिनियम के तहत कार्यवाही करने के लिए श्रम विभाग को निर्देशित करते हुए कहा कि इस कार्य में पुलिस एवं उपखण्ड अधिकारियों का सहयोग भी लिया जा सकता है। बैठक में बाल श्रम के साथ ही भिक्षावृति एवं नशे में लिप्त बच्चों की रोकथाम पर भी चर्चा की गई।
बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री कैलाश चंद लखारा, उप निदेशक सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग श्री जयप्रकाश सहित पुलिस, चिकित्सा, श्रम विभाग के अधिकारियों के साथ बाल कल्याण समितियों के अध्यक्ष एवं सदस्यगण उपस्थित थे।

सातवीं आर्थिक गणना- 2019 के लिए जिला स्तरीय समन्वय समिति गठित
अजमेर, 7 जून। राज्य में आर्थिक एवं सांख्यिकी निदेशालय द्वारा सातवी अर्थिक गणना -2019 करायी जायेगी। इसके लिए जिला स्तरीय समन्वय समिति का गठन किया गया है।
जिला स्तरीय समन्वय समिति में जिला कलक्टर अध्यक्ष होंगे, जबकि उप निदेशक आर्थिक एवं सांख्यिकी विभाग सदस्य सचिव हाेंगे। समिति में जिला पुलिस अधीक्षक, अतिरिक्त जिला कलक्टर, मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद, समस्त उपखण्ड अधिकारी, मुख्य आयोजना अधिकारी, एसीपी, सूचना एवं प्रोद्योगिकी विभाग, महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र, उप निदेशक सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग, एनएसएसओ के प्रतिनिधि, समस्त तहसीलदार, विकास अधिकारी, नगर निगम/नगर परिषद/नगरपालिका के आयुक्त सदस्य होंगे।

टंकण गति परीक्षा के परिणाम घोषित
अजमेर, 7 जून। अनुकम्पात्मक नियुक्त कार्मिकों की टंकण गति परीक्षा 2019 के परिणाम घोषित किए गए है।
अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री कैलाश चंद लखारा ने बताया कि कलक्टर अजमेर द्वारा 9 मई को अनुकम्पात्मक कार्मिकाें की कम्प्यूटर टंकण गति परीक्षा आयोजित की गई थी। इसके लिए 63 कार्मिक योग्य पाए गए थे। इनमें से 61 अभ्यर्थियों ने टंकण परीक्षा दी । उपस्थित कार्मिकों में से 39 उत्तीर्ण तथा 22 अनुतीर्ण घोषित किए गए।

खसरा रूबेला अभियान की वीडियो कांफे्रंस 10 जून को
अजमेर, 7 जून। खसरा रूबेला अभियान जुलाई से आरम्भ किया जाएगा। इस अभियान के सफल क्रियान्वयन एवं अन्तर विभागीय समन्वयक के लिए मुख्य सचिव राजस्थान सरकार की अध्यक्षता में 10 जून को प्रातः साढे़ 10 बजे वीडियो कांफ्रेंस आयोजित की जाएगी। इसमें अभियान के संबंध में समस्त जिला स्तरीय अधिकारी भाग लेंगे। यह जानकारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. के.के.सोनी ने दी।

समीक्षा समिति की बैठक 19 जून को
अजमेर, 7 जून। जिला कलक्टर श्री विश्व मोहन शर्मा की अध्यक्षता में जिला स्तरीय समीक्षा समिति (डीएलआरसी) की बैठक 19 जून को प्रातः 11 बजे कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित होगी। इसमें मार्च माह तक की प्रगति की समीक्षा की जाएगी। यह जानकारी अग्रणी जिला प्रबन्धक एम.एस.रावत ने दी।

Leave a Comment

error: Content is protected !!