गांव, गरीब व बेसहारा लोगों को राहत पहुंचाने के सार्थक प्रयास

dsc00831भीलवाड़ा, 14 अक्टूबर ः भीलवाडा जिले की प्रभारी महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्राी श्रीमती अनिता भदेल ने कहा कि ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर आयोजित होने वाले ’’पंडित दीनदयाल उपाध्याय जनकल्याण पंचायत शिविरों’’ के माध्यम से गांव, गरीब एवं बेसहारा लोगों को त्वरित राहत पहुंचाने के राज्य सरकार द्वारा सार्थक प्रयास किये जा रहे हैं। ग्रामीणजन इन शिविरों में उपस्थित होकर घर बैठे अपने बकाया कार्य निस्तारित करवाकर अधिकाधिक लाभ उठायें।
प्रभारी मंत्राी शुक्रवार प्रातः जिले की सहाडा पंचायत समिति के आमली ग्राम पंचायत मुख्यालय के अटल सेवा केन्द्र पर आयोजित पंडित दीनदयाल उपाध्याय जनकल्याण पंचायत शिविरंों’’ के जिला स्तरीय उद्घाटन समारोह में मुख्य अतिथि के रुप में संबोधित कर रही थी। शिविर उद्घाटन अवसर पर सहाडा के विधायक डाॅ. बालूराम चैधरी, जिला प्रमुख रामचन्द्र सेन, सहाडा के प्रधान कमलेश चैधरी, दामोदर अग्रवाल, जिले के प्रभारी एवं श्रम विभाग के सचिव रजत मिश्रा एवं जिला कलक्टर डाॅ. टीना कुमार भी उपस्थित थे।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्राी ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा आमजन के कल्याण हेतु शिविरों का आयोजन ग्राम पंचायत स्तर पर आयोजित किये जा रहे हैं ताकि ग्रामीण जनता के अधिकाधिक कार्य निपटाये जा सके। समस्याओं का तत्काल समाधान हो तथा लोगों को राहत मिल सके। उन्होंने कहा कि ग्रामीणजन अपनी समस्यायें अधिकारियों को सीधे बतायें। उनकी छोटी से छोटी तथा बडी से बडी बात का तुरन्त समाधान करने के लिये शिविरों में सभी विभागों को उपस्थित रहने के निर्देश दिये गये हैं। आवेदन पत्रा तैयार करने से लेकर स्वीकृतियां जारी होने तक के काम पंचायत शिविरों में किये जायेंगे।
श्रीमती भदेल ने कहा कि जहां-जहां शिविर आयोजित होने हैं वहां के जनप्रतिनिधिगण ग्रामीणजनों को शिविर आयोजन से पूर्व इसकी जानकारी दें, उनकी समस्यायें पूछें तथा उन्हें शिविर में उपस्थित रहकर अपनी समस्याओं के समाधान कराने के लिए पे्ररित करें। उन्होंने कहा कि जानकारी के अभाव में ग्रामीणजन शिविरों का लाभ नहीं उठा पाते हैं। यह जनप्रतिनिधियों की जिम्मेदारी है कि वे स्वयं भी शिविरों में उपस्थित रहे तथा अपने प्रतिनिधित्व वाले क्षेत्रों के लोगों को अधिकाधिक लाभान्वित करवायें।
प्रभारी मंत्राी ने विभागीय अधिकारियों से कहा कि वे अपने विभाग से संबंधित योजनाओं की जानकारी ग्रामवासियों को दें। उनकी आवश्यकता एवं जरुरत के अनुसार योजनाओं में सम्मिलित करते हुए संवेदनशील एवं समन्वित प्रयासों से लोगों को लाभान्वित करें। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में आंगनबाडी, पोषाहार, राजश्री योजना, श्रमिक पंजीयन, चिकित्सा सुविधाएं, कृषि क्षेत्रा में मृदा स्वास्थ्य परीक्षण, विद्युत, पेयजल एवं सडकों से संबंधित समस्याओं सहित सभी प्रकार की समस्याओं के निराकरण के लिए शत-प्रतिशत प्रयास करने की आवश्यकता जताई।

आज़ाद नेब
ब्यूरो चीफ़ भीलवाड़ा

Leave a Comment