सरकारी स्कूलों के भी होंगे ट्विटर अकाउंट

जयनारायण बिस्सा
बीकानेर। शिक्षा विभाग की ओर से सरकारी स्कूलों के स्तर को निजी स्कूलों के स्तर तक पहु ंचाने के लिए नित नए प्रयास किए जा रहे हैं। जिससे सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों के नामांकन में बढ़ोत्तरी हो सके। इसके लिए विभाग ने अब प्रदेश के समस्त सरकारी स्कूलों के संस्था प्रधानों को स्कूल के ट्विटर अकाउंट खोले जाने के आदेश दिए हैं। ट्विटर पर सरकारी स्कूलों के आने से निजी स्कूलों की तरह व्यापक प्रचार प्रसार होने के साथ ही सरकारी स्कूलों के संस्था प्रधान भी टेक्नोलॉजी से जुड़ेंगे। विभाग का इस पहल को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य राजकीय विद्यालयों में विद्यार्थियों का नामांकन बढ़ाना, स्कूल की भौतिक व्यवस्था में बदलाव लाना, दूरदराज के स्कूलों की जानकारी आमजन तक पहुंचाना है। अधिकारियों की मानें तो अकाउंट खुलने से किसी भी जगह से कोई भी व्यक्ति सरकारी स्कूलों में होने वाली गतिविधियों व भौतिक सुविधाओं को देख सकेगा। इसके लिए समस्त संस्था प्रधानों को जिला शिक्षा अधिक ारी की ओर से आदेश जारी कर दिए गए है।
इन जानकारियों को करना है अपलोड
विभाग की ओर से पहली बार किये जा रहे इस नवाचार में मुख्य रूप से स्कूल में प्रतिवर्ष होने वाली गतिविधियां, स्कूल में उपलब्ध भौतिक सुविधाएं, शैक्षणिक स्तर, शिक्षकों के नाम, विद्यार्थियों की संख्या, स्कूल के फोन नंबर, कक्षा 12वीं व 10वीं में स्कूल का परीक्षा परिणाम, स्कूल का खेल मैदान आदि जानकारी अपलोड करनी है। पूर्व में यह समस्त जानकारियां वैसे शाला दपर्ण, शाला दर्शन, शाला सिद्धि आदि विभाग की वेबसाइट पर उपलब्ध है। लेकिन इस पर स्कूलों की जानकारी विद्यालय के शिक्षक या अधिकारी ही देख व प्राप्त कर सकते है। लेकि न स्कूल के ट्विटर अकाउंट खुलने के बाद अब आमजन भी स्कूलों की जानकारी प्राप्त कर सकता है।
जिले की 415 स्कूलों के होंगे ट्विटर अकांउट
शिक्षा विभाग की इस नई पहल के बाद ट्विटर अकांउट खोले जाने की जिम्मेदारी संस्था प्रधानों को दी गई है। जहां जिले के 415 माध्यमिक व उच्च माध्यमिक स्कूलों की जानकारी ट्विटर होंगी। अधिकारियों ने बताया कि विभाग की ओर से अब सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों की स्कूल ड्रेस में बदलाव, टाई, ब्लेटर व विद्यार्थियों का आइ डी कार्ड होना आदि महत्वपूर्ण जानकारी किसी भी जगह से बैठे कर कोई भी व्यक्ति आसानी से देख सकेगा।

Leave a Comment