‘आओ रे आओ रे कन्हैया आओ रे…

बीकानेर। मधुर काषर््िन मंडल की ओर से समता नगर में चल रही भागवत कथा के श्रीमद भागवत कथा में कृष्ण जन्म पर नंदोत्सव की धूम रही। जिसमें जमकर बधाइयां गाई और महिलाओं ने जमकर नृत्य किया।
कथा में नंदबाबा बने राजीव अग्रवाल व जसोदा बनी रितू अग्रवाल जैसे ही कथा पंडाल में कान्हा को लेकर पहुंचे। वैसे ही कृष्ण जन्मोत्सव को लेकर बंधाईयां दी जाने लगी। उपस्थित श्रद्वालुओं ने ‘नंद यशोदा के यहां एक तमाशा देखा.,’ब्रज में मच गयो हल्ला, जशोदा के लल्ला भयो… और ‘आओ रे आओ रे कन्हैया आओ रे… समेत कई बधाई गीतों के साथ प्रांगण ‘नंद के आनंद भयो जय कन्हैया लाल की के उद्घोष से गूंज उठा।कथा वाचन करते हुए महाराज स्वामी रजनीशानंद ने कहा साधु संत के दर्शन मात्र से पाप दूर हो जाते है, इसलिए हमेशा साधु संतों का आदर करना चाहिए। वहीं उन्होंने गायत्री मंत्र को सबसे बड़ा मंत्र बताया। इसके बाद भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव की कथा सुनाते हुए भगवान की लीलाओं को सुंदर वर्णन किया गया। इस मौके पर सतपाल कंसल,वेदप्रकाश बंसल,लालचंद भाटी,सोनू कंसल सहित बड़ी संख्या में पहुंचे श्रद्वालुओं ने नंदोत्सव की खुशियंा मनाते हुए टाफियां बांटी।

Leave a Comment