सिंध स्मृति दिवस समारोहपूर्वक मनाया

बीकानेर । जैकारों और तालियों की गूंज के बीच लोगों ने सिंध के मानचित्र व भारत माता का पूजन किया। फिर बताई गई वृद्धों के संघर्ष की गाथा और उन्हें सलाम किया गया। इसके बाद बच्चों द्वारा गुंजाए जाने लगे सिंधी लोकगीत। सिंधी बाल कलाकारों को सराहते हुए वक्ताओं ने मातृभूमि से दूर होने के लम्हों को बयां किया तो मौजूद लोग आंखें पोंछने लगे। कुछ ऐसा ही समा दिखा 14 अगस्त 2019 की शाम को संत कंवरराम मंदिर ट्रस्ट भवन स्थित झूलेलाल मन्दिर धोबीतलाई में । यहांं भारतीय सिंधु सभा महानगर बीकानेर के तत्वावधान में सिंध स्मृति दिवस समारोह का आयोजन किया गया। आरंभ में मातृशक्ति और पदाधिकारियों ने देशभक्ति गीत से अखंड भारत की महिमा गाई। मुक्ताप्रसाद नगर, रथखाना और धोबीतलाई के सिन्धी बाल संस्कार शिविरों में प्रतिभागी रहे विद्यार्थियों ने सिंधी लोकगीत सुनाए। महासचिव हासानंद मंघवानी ने सम्मानित वृद्धजनों का परिचय वाचन किया । सिंधी साहित्य समिति अध्यक्ष मानसिंह मामनानी ने विषय प्रवर्तन करते हुए आयोजन की उपादेयता बताई। सिंधी सेंट्रल पंचायत अध्यक्ष कमलेश सत्यानी ने आगंतुकों का स्वागत किया । मौजूद पदाधिकारियों और गणमान्यजनों ने फूलमालाओं से लादते हुए स्मृति चिन्ह प्रदान कर पखर ( सिंधी परम्परागत शॉल ) ओढाकर सिन्ध से यहांं आकर बसे 88 वर्षीय पं रामचंद्र गागाराम थानवी, मुरलीधर वलीरमानी, गोरधन ग्वालानी और भगवान दास केशवानी का सम्मान किया । इनमें से जो समारोह में न आ सके उनका सम्मान उनके निवास पर जाकर किया गया। संभाग प्रभारी श्याम आहूजा और दीपचंद सदारंगानी, अशोक वासवानी, विजय ऐलानी ने सिंध की प्राचीन सनातन संस्कृति के बारे में बताया और सिंधीयत के संरक्षण संवर्धन के लिए युवाओं को आगे आने का आह्वान किया । मुख्य वक्ता साहित्यकार मोहन थानवी ने 1947 में हुए विभाजन की त्रासदी रेखांकित करते हुए आज ही के दिन बजुर्गों के सिंध से बिछुड़कर यहांं आकर बसने के संघर्ष को बताया । इस दौरान मौजूद लोगों की आंखें नम हो गई। भारती ग्वालानी, रुक्मणी दादी, कमला सदारंगानी, वर्षा लखाणी, राजकुमार मोटवाणी, लक्ष्मण किशनानी, अनिल डेम्बला, राजेश केशवानी आरके बोस, खेमचंद वासवानी, तेजप्रकाश वलीरमानी ने भजन सुनाए। कार्यक्रम के अंत में बीते वर्ष में बिछड़ जाने वाले समाज – सदस्यों की स्मृति को समर्पित दो मिनट का मौन रखा। आभार महानगर अध्यक्ष किशन सदारंगानी ने ज्ञापित किया। समारोह का संचालन सिंधी शिक्षा प्रसार विभाग के सुरेश केशवानी ने किया । समारोह में बड़ी संख्या में विभिन्‍न मोहल्लेवासी मौजूद थे।

-✍️ मोहन थानवी, सांस्कृतिक साहित्यिक मंत्री भारतीय सिंधु सभा महानगर बीकानेर 9460 001 255

Leave a Comment

error: Content is protected !!