बिना चीर-फाड़ नयी विधि से इलाज कर दिखाएगी अंतरराष्ट्रीय ख्यातनाम इंटरवेंशनल रेडियोलॉजिस्टों की टीम

फोर्टिस डीटीएम अस्पताल, बीकानेर में इंटरवेंशनल रेडियोलोजी की लाइव वर्कशॉप का आयोजन 16 फरवरी, 2020 रविवार को किया जा रहा है जिसमें टाटा अस्पताल मुंबई के इंटरवेंशन रेडियोलोजी के विभागाध्यक्ष व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त इंटरवेंशन रेडियोलाजिस्ट डॉ सुयश कुलकर्णी, टाटा अस्पताल, मुंबई से प्रशिक्षित इंटरवेंशनल रेडियोलाजिस्ट डॉ मनीष राजपूत व डॉ अमोल नगवेकर तथा फोर्टिस डीटीएम अस्पताल की इंटरवेंशनल रेडियोलाजिस्ट डॉ सानिया मुस्लिम व उनकी टीम अपनी सेवाएं देंगे.
इस वर्कशॉप में देश भर से चिकित्सक बीकानेर आएंगे तथा इस तकनीक को सीखेंगे. साथ ही इस नयी तकनीक के उपयोगो पर भी विस्तार से चर्चा करेंगे. वर्कशॉप में राजस्थान के सभी मेडिकल कॉलेजो के रेडियोलोजी विभाग के विभागाध्यक्ष व अन्य वरिष्ठ रेडियोलाजिस्ट भी हिस्सा लेंगे.
आयोजन के संरक्षक सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज के रेडियोलोजी के विभागाध्यक्ष डॉ जी एल मीणा ने बताया कि इंटरवेंशनल रेडियोलोजी किरणों के माध्यम से बिना चीर-फाड़ के लीवर, आंत, पैंक्रियास, हड्डी, फेफड़े आदि अन्य कैंसर का इलाज करने की विधि है. इस विधि से कैंसर के अलावा न्यूरोलॉजी गैस्ट्रोएंटरोलॉजी आदि अन्य विधाओं के मरीजों का भी सुलभ इलाज किया जाता है.
आयोजन अध्यक्ष डॉ सानिया मुस्लिम ने बताया कि इंटरवेंशनल रेडियोलोजी को चिकित्सा क्षेत्र में क्रान्ति के रूप में देखा जाता है. ये इलाज की एक नयी विधि है तथा भारत में बहुत कम चिकित्सक इस विधि को जानते हैं. आम तौर पर इस प्रकार के इलाज के लिए विदेश जाना पड़ता है तथा ये इलाज बहुत महंगा होता है.
बीकानेर संभाग में प्रथम बार इस विधि से मरीजों का इलाज किया जा रहा है तथा इस प्रकार के इलाज की सुविधा बीकानेर संभाग के किसी भी सरकारी या निजी अस्पताल में नहीं है.
फोर्टिस डीटीएम अस्पताल में ये इलाज भामाशाह योजना के तहत निःशुल्क किया जायेगा.

Leave a Comment

error: Content is protected !!