मानवीयता निभाने में अव्वल रहे जैसलमेर और सम के विकास अधिकारी

जैसलमेर कोरोना संक्रमण काल और लॉक डाउन के दौरान लोगो को सुरक्षित रखने के लिए जिला प्रशासन द्वारा जो बेहतरीन प्रयास किया उनमे दो विकास अधिकारियो की महत्वपूर्ण भूमिका रही ,उच्च अधिकारियो के आदेशों की पलना को धरातल पर उतरने में इन अधिकारियो ने कर दिया,जैसलमेर पंचायत समिति के अधिकारी हीरालाल कलबी और सम समिति के विकास अधिकारी सुखराम विश्नोई ,इन दोनों अधिकारियो ने जिले में कोरोना संक्रमण काल और लॉक डाउन दौरान जो कार्य किया उसकी बेहतरी का प्रमाण मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आधा दर्जन से अधिक ट्वीट इन अधिकारियो कार्यो पर आधारित रहे ,तीन महीनो से अपने गृह जिलों से दूर रहकर कोरोना संक्रमणकाल में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया ,

हीरालाल कलबी, विकास अधिकारी पंचायत समिति जैसलमेरर
मानवीय गुणों से भरपूर ,लोगो की सदैव सेवा करने में तत्पर रहते हैं। इन्होने क्वारेंटाइन सेंट्रो ,होम आइसोलेसन केन्द्रो का ,निरीक्षण सत्रह हजार प्रवासी श्रमिकों के लिए आश्रय स्थलों और भोजन की व्यवस्था ,बाद में उन्हें उनके गृह जिलों तक बसों से पहुंचने की जिम्मेदारी ,ग्रामीण इलाको में जरूरतमंद परिवारों का खाद्य सुरक्षा में सर्वे चयन ,फिर उन तक नियमित खाद्य सामग्री वितरित कराना ,नरेगा कार्यो में श्रमिकों को लाभान्वित करना ,पाकिस्तान विस्थापित परिवारों के लिए भोजन सामग्री की व्यवस्था जैसे कार्य बखूबी किया ,इन्होने मानवता दिखते हुए एक श्रमिक महिला चंदा पत्नी तिकाल निवासी मध्य प्रदेश जिसकी डिलीवरी एक दिन पहले ही हुई यात्रा करने से रोक उसके लिए जवाहर नगर में रहने की व्यवस्था के साथ उसके लिए घी ,गुंड ,अजवाइन ,जैसे पौष्टिक आहार की और एक दिन के मासूम बच्चे के लिए दूध और सप्लीमेंट पौष्टिक आहार की व्यवस्था चौदह दिनों तक तक तक की जब तक जच्चा और बच्चा पूर्णतः स्वस्थ न हो गए ,उनके स्वस्थ होने के बाद ही उन्हें निजी वाहन से उनके गृह राज्य मध्य प्रदेश रवाना किया ,नरेगा में सत्रह हजार श्रमिकों को रोजगार ,144 पाक विस्थापित परिवारों को खाद्य सामग्री ,23 प्रवासी परिवारों को रोजगार ,209 नए जॉब कार्ड बनाकर अपना कर्तव्य का पालन किया,8500 परिवारों को लॉक डाउन में नियमित रूप से खाद्य सामग्री के किट वितरण की जिम्मेदारी बखूबी निभाई ,

सुखराम विश्नोई विकास अधिकारी सम
पाकिस्तान की सीमा से लगती सम पंचायत समिति के ग्राम पंचायतो में लॉक डाउन में जरूरतमंद लोगो के लिए व्यवस्था करना सबसे दुरूह कार्य था ,तो श्रमिकों के लिए आश्रय स्थलों और भोजन की व्यवस्था ,होम आईसोलेट पर गए संदिग्ध कोरोना संक्रमितों की नियमित देखभाल ,क्वरेन्टीन सेंट्रो में व्यवस्थाएं करना ,प्रवासी लोगो को रोजगार उपलब्ध कराना ,नरेगा कार्यो का सुचारु संपादन ,प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह जिलों तक भेजने की व्यवस्थाए करना ,अधिकारियो के आदेश की पालना करने में विश्नोई की महत्वपूर्ण भूमिका रही,सहज ,सरल स्वाभाव के सुखराम विश्नोई ने अपनी पंचायत समिति में एक भी परिवार को भूखा सोने नहीं दिया न रोजगार से वंचित रखा,अपने कर्तव्य पालन के साथ इन्होने कई मौको पर मानव धर्म निभा अपना फर्ज अदा किया ,विश्नोई जालोर के निवासी हे करीब तीन माह से जैसलमेर में ही रहकर अपना कर्तव्य निभा रहे हैं ,परिवार से फोन पर ही बातचीत कर लेते हैं ,कई बार उन्हें रात भर जागकर श्रमिकों के लिए व्यवस्थाएं जुटानी पड़ी

chandan singh bhati
7597450029

Leave a Comment

error: Content is protected !!