लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक की जयंती आज

लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक की आज यानी 23 जुलाई को जयंती है। उनका जन्म 23 जुलाई, 1856 को महाराष्ट्र राज्य के रत्नागिरी प्रदेश के चिखली नामक गाँव में हुआ था।
बाल गंगाधर तिलक सबसे अग्रिम स्वतंत्रता सैनानी थे और वह साथ ही समाज सेवक, राजनेता और अच्छे वकील भी थे। यह लोकमान्य के नाम से भी प्रसिद्ध थे और इन्हें हिंदु राष्ट्रवाद के पिता के नाम से भी जाना जाता है। बाल गंगाधर तिलक का बचपन का नाम केशव गंगाधर तिलक था। इनके पिता का नाम गंगाधर रामचंद्र तिलक था जो कि एक धर्मनिष्ठ ब्रहाम्ण थे। बाल गंगाधर तिलक ने 1879 में बी.ए. और कानून की परीक्षा उत्तीर्ण की थी लेकिन वकालत में पैसा न कमाकर उन्होंने लोगों की सेवा की। सन 1890 में वह भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का हिस्सा बना गए और उनके गरम स्वभाव के कारण कांग्रेस 1907 में दो दलों में विभाजित हो गई गरम दल और नरम दल। गरम दल में बील गंगाधर तिलक थे।
भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में सबसे पहले पूर्ण स्वतंत्रता की माँग रखने वाले व्यक्ति बाल गंगाधर तिलक ही थे। उन्होंने कहा था कि स्वराज मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है और मैं इसे लेकर रहूँगा। बाल गंगाधर तिलक को 6 साल के लिए कारावास में भी डाला गया था। इन्होंने बाल विवाह ता विरोध किया और लड़कियों की शादी की उमर को 10 साल से बढ़ाकर 12 साल कर दिया गया था और लोकमान्य तिलक अंग्रेजी भाषा के विरुद्ध थे क्योंकि उनका मानना था कि यह हमें हिंदु संस्कृति के प्रति हीन भावना सिखाती है। इन्होंने दक्खन शिक्षा सोसायटी की स्थापना भी की थी जिससे कि भारत में शिक्षा का स्तर सुधर सके।
बाल गंगाधर तिलक ने बहुत सी पुस्तकें लिखी थी जिनमें सें उन्होंने एक गीता सीर पर लिखी थी। 1 अगस्त, 1920 को उनका निधन हो गया था लेकिन अपने राष्ट्रवादी विचारों के कारण वह आज भी हम सबके दिलों में जिंदा है।

राजेन्द्र गुप्ता,
ज्योतिषी और हस्तरेखाविद
मो. 9611312076, 7976009175
नोट- अगर आप अपना भविष्य जानना चाहते हैं तो ऊपर दिए गए मोबाइल नंबर पर कॉल करके या व्हाट्स एप पर मैसेज भेजकर पहले शर्तें जान लेवें, इसी के बाद अपनी बर्थ डिटेल और हैंडप्रिंट्स भेजें।

Leave a Comment

error: Content is protected !!