नारी शक्ति नवदुर्गा के नौ स्वरूपों का औषधिय महत्त्व

पंचम स्कंदमाता यानी अलसी नवदुर्गा का पांचवा रूप स्कंदमाता है जिन्हें पार्वती एवं उमा भी कहते हैं। यह औषधि के रूप में अलसी में विद्यमान हैं। यह वात, पित्त, कफ, रोगों की नाशक औषधि है। इस रोग से पीड़ित व्यक्ति ने स्कंदमाता की आराधना करना चाहिए। षष्ठम कात्यायनी यानी मोइया नवदुर्गा का छठा रूप कात्यायनी … Read more

जानें हिंदी महीनों के बारे में

शास्त्रों के अनुसार चैत्र मास से हिंदु धर्म का नववर्ष प्रारंभ होता है, चैत्र मास से लेकर फाल्गुन मास तक कुल 12 महीने होते हैं। इन सभी महीनों का अपना अपना महत्व होता हैं, अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार हिंदु नववर्ष की शुरुआत मार्च-अप्रैल माह में होती है जिसे गुड़ी पड़वा कहा जाता है, जाने इन … Read more

नारी शक्ति नवदुर्गा के नौ स्वरूपों का औषधिय महत्त्व

पंचम स्कंदमाता यानी अलसी नवदुर्गा का पांचवा रूप स्कंदमाता है जिन्हें पार्वती एवं उमा भी कहते हैं। यह औषधि के रूप में अलसी में विद्यमान हैं। यह वात, पित्त, कफ, रोगों की नाशक औषधि है। इस रोग से पीड़ित व्यक्ति ने स्कंदमाता की आराधना करना चाहिए।

नारी शक्ति नवदुर्गा के नौ स्वरूपों का औषधिय महत्त्व

चतुर्थ कुष्माण्डा यानी पेठा नवदुर्गा का चौथा रूप कुष्माण्डा है। इस औषधि से पेठा मिठाई बनती है, इसलिए इस रूप को पेठा कहते हैं। इसे कुम्हड़ा भी कहते हैं जो पुष्टिकारक, वीर्यवर्धक व रक्त के विकार को ठीक कर पेट को साफ करने में सहायक है। मानसिकरूप से कमजोर व्यक्ति के लिए यह अमृत समान … Read more

नारी शक्ति नवदुर्गा के नौ स्वरूपों का औषधिय महत्त्व

तृतीय चंद्रघंटा यानी चन्दुसूर नवदुर्गा का तीसरा रूप है चंद्रघंटा, इसे चन्दुसूर या चमसूर कहा गया है। यह एक ऐसा पौधा है जो धनिये के समान है। इस पौधे की पत्तियों की सब्जी बनाई जाती है, जो लाभदायक होती है। यह औषधि मोटापा दूर करने में लाभप्रद है, इसलिए इसे चर्महन्ती भी कहते हैं। शक्ति … Read more

आज का राशिफल और पंचांग : 15 अप्रैल, गुरुवार, 2021

आज और कल का दिन खास 15 अप्रैल : गणगौर पूजा आज। 15 अप्रैल : मत्स्य जयंती आज। 15 अप्रैल : मेवाड़ उत्सव प्रारम्भ आज से। 16 अप्रैल : विनायक चतुर्थी कल। 16 अप्रैल : बुढ़ी गणगौर मेला कल। 16 अप्रैल : जैन श्रद्धालु कल रखेंगे रोहिणी व्रत। आज का राशिफल ******************* 15 अप्रैल, गुरुवार, … Read more

शिव- पार्वती के अटूट बंधन और प्रेम का प्रतीक है गणगौर

पति की लंबी उम्र के लिए रखा जाता है गणगौर व्रत खुशियों भरा वैवाहिक जीवन और पति की लंबी उम्र के लिए रखे जाना गणगौर व्रत आज है। यह त्योहार मुख्य रूप से राजस्थान और मध्य प्रदेश में मनाया जाता है। इस दिन कुंवारी लड़कियां और सुहागिन महिलाएं व्रत रखती हैं और शिव-पार्वती की पूजा … Read more

नारी शक्ति नवदुर्गा के नौ स्वरूपों का औषधिय महत्त्व 2

द्वितीय –ब्रह्मचारिणी यानी ब्राह्मी – ब्राह्मी, नवदुर्गा का दूसरा रूप ब्रह्मचारिणी है। यह आयु और स्मरण शक्ति को बढ़ाने वाली, रूधिर विकारों का नाश करने वालीऔर स्वर को मधुर करने वाली है। इसलिए ब्राह्मी को सरस्वती भी कहा जाता है। यह मन एवं मस्तिष्क में शक्ति प्रदान करती है और गैस व मूत्र संबंधी रोगों … Read more

नारी शक्ति नवदुर्गा के नौ स्वरूपों का औषधिय महत्त्व

नवदुर्गा के नौ औषधि स्वरूपों का वर्णन मार्कण्डेय चिकित्सा पद्धति के रूप में किया गया है। चिकित्सा प्रणाली का यह रहस्य वास्तव में ब्रह्माजी ने दिया था जिसे बारे में दुर्गाकवच में संदर्भ मिल जाता है। ये औषधियां समस्त प्राणियों के रोगों को हरने वाली हैं। शरीर की रक्षा के लिए कवच समान कार्य करती … Read more

भारतीय गणतंत्र के संविधान के शिल्पकार डॉक्टर अम्बेडकर Part 6

उन्होंने अपनी अंतिम पांडुलिपि “बुद्ध या कार्ल मार्क्स“को 2 दिसम्बर 1956 को पूरा किया। अपनी अंतिम पांडुलिपि बुद्ध और उनके धम्म को पूरा करने के तीन दिन के बाद 6 दिसम्बर 1956 को अम्बेडकर की मृत्यु नींद में दिल्ली में उनके घर मे हो गई। 7 दिसंबर को चौपाटी समुद्र तटपर बौद्ध शैली मे अंतिम … Read more

चैत्र नवरात्र आज से होंगे शुरू

हिंदू पंचांग के अनुसार, चैत्र महीने की शुरुआत हो चुकी है। इस महीने में चैत्र नवरात्रि का त्योहार मनाया जाता है। नवरात्रि हिंदुओं का एक प्रमुख पर्व है। नवरात्रि शब्द एक संस्कृत शब्द है, जिसका अर्थ होता है ‘नौ रातें’। इन नौ रातों और दस दिनों के दौरान, शक्ति / देवी के नौ रूपों की … Read more

error: Content is protected !!