भगवान विष्णु के धरती पर हर रूप के साथ माता लक्ष्मी भी अवतरित होती है Part 1

धरती पर अधर्म-अनाचार-अत्याचार के खात्में और धर्म-न्याय-सोहार्द की स्थापना के लिये जब जब भगवान विष्णु धरती पर अवतार लेते हैं तब तब माता लक्ष्मी भी उनके साथ अवतरित होती है | भाग्य विधाता और भाग्य लक्ष्मी माता लक्ष्मीजी को देवताओ मे धन-दोलत- ऐश्वर्य, स्नेह , सफलता, आध्यात्मिक एवं भौतिकी प्रगति का अवतार माना गया है … Read more

क्या आप जानते हैं कहाँ कहाँ पर मनाया जाते हैं दिवाली जैसे ‘रोशनी के त्योहार’ Part 2

कनाडा:— कनाडा के ‘न्यूफाउंड लैंड’ में भी 5 नवंबर को दिवाली की ही तरह एक रात ऐसी आती है जब प्रकाशपर्व मनाया जाता है। इस रात को शहर रोशनी से सजाया जाता है और लोग आतिशबाजी करके खुशियां मनाते हैं। इसके पीछे कहानी है कि अंग्रेज और आयरिश लोग अच्छी जिंदगी की तलाश में कनाडा … Read more

क्या आप जानते हैं कहाँ कहाँ पर मनाया जाते हैं दिवाली जैसे ‘रोशनी के त्योहार’ Part 1

दिवाली की ही तरह कई देशों में लाइट फेस्टिवल या फायर फेस्टिवल मनाया जाता है। इन त्योहारों के पीछे भी वहां की स्थानीय मान्यताएं जुड़ी हुई हैं। थाइलैंड:– थाईलैंड में भी बिलकुल दीवाली जैसा ही एक त्योहार मनाया जाता है हालांकि यहां इसे ‘लाम क्रियोंघ’ के नाम से जाना जाता है। इस त्योहार पर थाई … Read more

सद्दभाव न्याय भाईचारा स्नेह प्रेम एवं विनम्रता की विजय का पर्व —-दीपावली Part 1

“असतो मा सद्गमय, तमसो मा ज्योतिर्गमय, मृत्योमा अमृतंगमय, दारिद्र्यात् समृद्धिंगमय “ दीपावली का महामंत्र है दुनिया भर में कोन होगा जो अपने में सुख- समृद्धि- धन-सम्पदा, ज्ञान, ऐश्‍वर्य और मानसिक शांती नहीं चाहता हो? शायद कोई नहीं ? | सच्चाई तो यही है कि इन्सान का झुकाव हमेशा प्रकाश की तरफ ही रहा है उसने … Read more

सद्दभाव न्याय भाईचारा स्नेह प्रेम एवं विनम्रता की विजय का पर्व —-दीपावली Part 2

सातवीं शदी के संस्क्रत नाटक “ नागनन्द” में सम्राट हर्ष ने दीपावली को दीपप्रतिपादुत्स्व कहा है, जिसमें घरों में दीपक जलाये जाते थे और नवविवाहित दम्पतियों को उपहार दिये जाते थे | 9वीं शदी में राजशेखर दुवारा रचित “ काव्यमीमांसा “ इसे दीपमालिका कहा गया था वहीं 11वीं शदी ने फ़ारसी इतिहासकार अलबेरुनी ने अपने … Read more

राशिफल और पंचांग

18 अक्टूबर, शुक्रवार, 2019 —— आज और कल का दिन खास ===================== 18 अक्टूबर- जैन समाज का रोहिणी व्रत आज। 18 अक्टूबर- आज से शुरू होगा कार्तिक मास। 19 अक्टूबर- श्री विश्नोई पंथ का स्थापना दिवस कल। आज का राशिफल ****************** 18 अक्टूबर, 2019 —————————– मेष राशि : आज खान-पान पर नियंत्रण जरूर रखें। व्यर्थ … Read more

दीपोत्सव यानि पाँच दिन का पर्व Part 2

3. अमावस्या (दीपावली) —इस दिन सभी घरों,व्यापारिक प्रतिष्टान, कार्यस्थलों,ऑफिसों में धन-सम्पदा की देवी लक्ष्मी माताजी की विधी-विधान से पूजा-अर्चना की जाती है और विपत्ति-कष्ट निवारक भगवान गणेशजी की भी पूजा की जाती है | ऐसी मान्यता है कि माता लक्ष्मी घर-परिवार में सुखसमृद्धि प्रदान कर समस्त परिजनों को आशिर्वाद देकर उन पर धन-धान्य की वर्षा … Read more

राशिफल और पंचांग

17 अक्टूबर, गुरुवार, 2019 —— आज और कल का दिन खास ===================== 17 अक्टूबर- करवा चौथ आज। 17 अक्टूबर- सूर्य का तुला राशि में संक्रमण आज। 18 अक्टूबर- जैन समाज का रोहिणी व्रत कल। 18 अक्टूबर- कल से शुरू होगा कार्तिक मास। आज का राशिफल ****************** 17 अक्टूबर, 2019 ———————— मेष राशि : व्यावसायिक संदर्भ … Read more

भारतीय संस्कृति का विशिष्ट पर्व करवा चौथ आज

आज यानी 17 अक्टूबर को करवा चौथ पर्व है। करवा चौथ का व्रत सुहागिन महिलाओं के लिए सर्वाधिक महत्‍वपूर्ण होता है और इस व्रत का महिलाओं को साल भर इंतजार रहता है। कार्तिक मास के कृष्‍ण पक्ष की चतुर्थी को करवा चौथ के रूप में मनाए जाने की परंपरा है। महिलाएं इस दिन निर्जला व्रत … Read more

दीपावली कार्तिक की अमावस्या को ही क्यों मनायी जाती है ? Part 2

बारह वर्ष के वनवास एवं एक वर्ष के अज्ञातवास के बाद पांडवों की अपने राज्य में वापसी:- महाभारत के अनुसार 12 वर्ष के निष्कासन एवं एक वर्ष के अज्ञातवास के बाद कार्तिक महीने कीअमावस्या को पांडव अपने ऱाज्य में सकुशल लौटे थे। पांडवों के वापस लोटने से वहां के लोग बहुत खुश थे, उन्होंने मिट्टी … Read more

दीपावली कार्तिक की अमावस्या को ही क्यों मनायी जाती है ? Part 1

भगवान राम का लंका विजय के बाद अयोध्या में आगमन:—-जब भगवान राम अहंकारी राक्षसराज रावण का वध करने के बाद लंका का राज्य विभीषन को सोंप कर माता सीता और अनुजलक्ष्मण के साथ अपने ग्रह राज्य अयोध्या में 14 वर्ष का वनवास पूर्ण कर वापस लोटे तो उस वक्त अयोध्या के समस्त नर-नारी उन सभी … Read more

error: Content is protected !!