विद्यादान से बढ़ा कोई दान नहीं- रविन्द्र जैन

IMG-20180113-WA0028स्वामी विकेकानन्द जयन्ती के उपलक्ष में शंखनाद के इस कार्यक्रम के साथ ही विवेकानन्द केन्द्र द्वारा विवेक पखवाड़े की शुरूआत की गई है, जिसके तहत केन्द्र द्धारा अजमेर के आजा़द पार्क में चल रहे श्री राम नाम महामंत्र परिक्रमा महोत्सव स्थल पर बुक स्टॉल लगाई गई है, बच्चों , युवाओं एवं सभी उम्र के लोगों के लिए स्वामी विवेकानन्द जी के विचारों एवं उदबोद्धनों से संबंधित विभिन्न प्रेरणादायी पुस्तके उपलब्ध है।

केन्द्र द्धारा लगाई गई स्टॉल पर विषेष आकर्षण का केन्द्र नववर्ष , 2018 की डायरी है, जिसके प्रत्येक पन्ने पर स्वामी जी का संदेष अंकित है, जोकि प्रतिदिन लोगों को देष और समाजसेवा के लिए प्रेरित करेगें। स्टॉल पर बच्चों के लिए परिक्षा दे हस्ते-हस्ते, कर्मयोग , योग एंव प्रणायाम्, सुर्यनमस्कार की विधि, एकनाथ जी की जीवनी, संगठन के सिद्धान्त एवं मूलतत्व तथा बच्चों के स्वामी जी आदि पुस्तकें उपलब्ध है।

इस अवसर पर स्वामी विवेकानन्द केन्द्र के नगर प्रमुख रविन्द्र जैन ने बताया कि मकर संक्राति के इस पावन पर्व पर दान का बहुत बडा महत्व है, ऐसे मंे विद्ययादान से बढ़ा कोई दान नहीं हो सकता इन पुस्तकों का दान कर आमजन लोगों को देष एंव समाजसेवा के प्रति प्रेरित कर सकतें है।

Leave a Comment