एक और कैलेंडर का बदल जाना …!!

बचपन में सुना था हैप्पी है बर्थ अरसे बाद जाना इसका अर्थ फिर सुना हैप्पी न्यू ईयर हिंदी में बोले तो शुभ नववर्ष उलझन ने मन को बहुत भरमाया एक खास दिन का उत्सव में बदल जाना देर तक अपनी समझ में न आया मथा खुद को सोचा खूब जीवन में कितनी छांव कितनी धूप … Read more

बुझता बुझता एहसास कि अरमान रह जाता

बुझता बुझता एहसास कि अरमान रह जाता शाम की वीरानियों में तन्हा इंसान रह जाता नाचते गाते लम्हे ले गया चुरा कर बड़ी दूर शिद्दत से रोकता तो शायद मेहमान रह जाता बहुत मजबूर लगा कुम्भिल, साथ रुक जाता नज़र न चुरानी पड़ती घर में सामान रह जाता हमने सुन कर भी कुछ न सुना … Read more

कैसे पाये छुटकारा जान लेवा तनाव से ?

डा.जे.के.गर्ग तनाव ना केवल वर्तमान को खत्म कर देता है बल्कि आने वाले कल पर भी बुरा असर डालता है |तनाव पर काबू पाने से पहिले इसे समझना होगा | हमने तनाव पैदा होने वाले कारणों को जान लिया तो मानों आधी जंग जीत गये | तनाव को दूर करना एक तकनीक है | अगर … Read more

महलों वाले मशहूरों के चोचले …!!

ऊंचे महलों वालों मशहूर लोगों के भी अजब चोंचले हैं दिखते हैं दमदार मगर अंदर से खोखले हैं पर्दे पर नजर आते दमदार पर भीतर से पोपले हैं कुत्ते भी पसंद हैं विदेशी नस्ल के पर खाते नजर आते ढोकलें हैं मतलब के लिए ये दिन को रात बना सकते हैं और गधे को बाप … Read more

काँग्रेस वादों पर खरी उतरी अब मोदीजी की बारी

जिस तरह काँग्रेस ने किसानों से वादा किया था दस दिनों में कर्ज माफ करने का उसे दस दिन के अंदर अंदर पूरा किया है बहुत ही अच्छी बात है कि किसी राजनैतिक दल ने चुनाव से पहले किया वादा इतनी जल्दी पूरा किया है अब ये अलग विषय है कि कर्ज माफी होनी चाहिए … Read more

क़र्ज़ माफ़ी सत्ता की चाबी

तीन राज्यों में विधानसभा चुनावों के नतीजों के परिणामस्वरूप कांग्रेस की सरकार क्या बनी, न सिर्फ एक मृतप्राय अवस्था में पहुंच चुकी पार्टी को संजीवनी मिल गई, बल्कि भविष्य की जीत का मंत्र भी मिल गया। जी हाँ, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपने इरादे स्पष्ट कर चुके हैं कि किसानों की कर्जमाफी के रूप में … Read more

आँखों में सँभालता हूँ पानी

आँखों में सँभालता हूँ पानी आया है प्यार शायद ख़ुशबू कैसी, झोंका हवा का घर में बार बार शायद रात सी ये ज़िंदगी और ख़्वाब हम यूँ बिसार गए बार बार नींद से जागे टूट गया है ए’तिबार शायद सिमटके सोते हैं अपने लिखे ख़तों की सेज बनाकर माज़ी की यादों से करते हैं ख़ुद … Read more

शेर का राज

एक घने जंगल में खूब आँंधी तूफान चल रहा था। बारिश से तबाही मची थी। सभी शाकाहारी जानवर एक छोटी सी पहाड़ी पर एकत्र हो गए थे। इसी दौरान एक बब्बर शेर एक विशाल ईक्का खींचकर लाया और सब जानवरों को हाथ जोड़ कर कहा- आपकी सुरक्षा का दायित्व मेरा है। मैं आपका राजा हूँ … Read more

मचलती तमन्नाओं ने

मचलती तमन्नाओं ने आज़माया भी होगा बदलती रुत में ये अक्स शरमाया भी होगा पलट के मिलेंगे अब भी रूठ जाने के बाद लड़ते रहे पर प्यार कहीं छुपाया भी होगा अंजाम-ए-वफ़ा हसीं हो यही दुआ माँगी थी इन जज़्बातों ने एहसास जगाया भी होगा सोचना बेकार जाता रहा बेवजह के शोर में तुम आये … Read more

विपक्षी एकता के नये परिदृश्य

पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव परिणामों ने कांग्रेस को एक नयी ऊर्जा दे दी है। अब कांग्रेस और देशभर की विभिन्न क्षेत्रीय पार्टियों के गठबन्धन को संगठित होने का एक सकारात्मक परिवेश इन चुनावों ने दिया है। सोमवार को राजधानी में आयोजित अपनी बैठक में कांग्रेस एवं विपक्षी दलों ने संदेश दिया है कि वे … Read more

हार की जीत या जीत की हार …!!

राहुल का रेला मजबूत हुआ हाथ मुर्झाया कमल भाजपा भुसभास जो जीते थे वो हार गए जो हारे थे वो जीत गए जिन पर लगते थे आरोप वो अब आरोप लगाने लगे जिनसे मांगा जाता था हिसाब बही – खाता खंगालने लगे जिनसे रोशन थी महफिल हाशिये पर जाने लगे गुमनामी में खोई शख्सियतें महफिल … Read more