प्रथम प्रधानमंत्री नेहरु को श्रद्धा सुमन Part 2

डा. जे.के.गर्ग
जन जन के नायक नेहरू जी के योगदान को तीन भागों में बांटा जा सकता है 1.ऐसी शक्तिशाली संस्थाओं का निर्माण,जिनसे भारत में प्रजातांत्रिक व्यवस्था स्थायी हो सके। इन संस्थाओं में संसद एवं विधानसभायें व पूर्ण स्वतंत्र न्यायपालिका शामिल हैं। (2 )प्रजातंत्र को जिंदा रखने के लिये Read more

प्रथम प्रधानमंत्री नेहरु को उनकी 128वीं जन्म जयंती पर श्रद्धा सुमन Part 1

डा. जे.के.गर्ग
नेहरू जहाँ धर्म-विरक्त थे, वहीं गांधी अपने विश्वासों के अनुरूप ईश्वर पर आस्था रखते थे |नेहरू भारत की पारंपरिक गरीबी से मुक्ति पाने के लिए औद्योगीकरण को ही एकमात्र विकल्प मानते थे, जबकि गांधी ग्रामीण अर्थ-व्यवस्था के पक्षधर थे| जहाँ नेहरू आधुनिक सरकारों में सामाजिक-व्यवस्था क Read more

जानिये दिन में नेप मैनेजमेंट की उपयोगिता Part 2

डा. जे.के.गर्ग
जानिये हैं कितनी देर की नैप से क्या फायदा मिल सकता है ? स्लीपसाइकल 90 मिनट के पैटर्न पर चलता है। यह गहरी नींद में ले जाता है। अधिकतर लोगों का रात का स्लीपसाइकल 4 से 6 घंटे का होता है। दिन में 90 मिनट की नैप रात के पूरे स्लीप साइकल के बराबर उपयोगी होती है। एक शोध के अनुसार 5 Read more

जानिये दिन में नेप मैनेजमेंट की उपयोगिता Part 1

डा. जे.के.गर्ग
न्यूयॉर्क स्तिथ सिटी यूनिवर्सिटी में किये गये शोध के अनुसार नैपिंग से दिमाग में नए कनेक्शन बनते हैं। 2007 में आर्काइव ऑफ इंटरनल मेडिसिन में प्रकाशित एक स्टडी के अनुसार नैप लेने से दिल की बीमारी का खतरा कम हो जाता है। जो लोग हफ्ते में तीन बार भी नैप लेते हैं, उनमें हार्ट डिसी Read more

एक महान धर्म प्रवर्तक थे

guru-nanak
विश्व मंे अनेक धर्म-सम्प्रदाय प्रचलित हैं। सभी धर्मों ने मानव जीवन का जो अंतिम लक्ष्य स्वीकार किया है, वह है परम सत्ता या संपूर्ण चेतन सत्ता के साथ तादात्म्य स्थापित करना। यही वह सार्वभौम तत्व है, जो मानव समुदाय को ही नहीं, समस्त प्राणी जगत् को एकता के सूत्र में बांधे हुए है Read more

नवम्बर माह 2017 के पर्व त्यौहार

दयानन्द शास्त्री
01 नवम्बर (बुधवार) – तुलसी विवाह, योगेश्वर द्वादशी, प्रदोष व्रत 02 नवम्बर (बृहस्पतिवार) – वैकुण्ठ चतुर्दशी, विश्वेश्वर व्रत 03 नवम्बर (शुक्रवार) – मणिकर्णिका स्नान, चौमासी चौदस, देव दीवाली 04 नवम्बर (शनिवार) – कार्तिक पूर्णिमा, पुष्कर स्नान, पूर्णिमा उपवास, गुरु नानक जयन्ती, Read more

लौह पुरुष सरदार पटेल के जीवन के प्रेरणादायक प्रसंग

डा. जे.के.गर्ग
लौह पुरुष सरदार वल्लभभाई झावेरभाई पटेल का जन्म 31 अक्टूबर 1875 को नाडियाद मुंबई में हुआ था ! सरदार विभाजन के बाद भारत के बिखरे राज्यो का विलय सरदार पटेल ने बड़ी कुशलता और अनोखे तरीके के साथ किया था, उनकी 142वें जन्मदिन पर उनके श्रीचरणों में 132 करोड़ भारतवाषियों का शत-शत नमन Read more

राष्ट्रीय एकता के शिल्पी सरदार वल्लभ भाई पटेल

sardar patel
राष्ट्रीय एकता दिवस 31 अक्टूबर पर राष्ट्र की स्वाधीनता, उसकी सुरक्षा, एकीकरण और नवनिर्माण करने वालों में अग्रणी योगदान सरदार वल्लभ भाई पटेल का है। वे संकल्प में चट्टान, मन की गहनता में समुद्र व निर्भीकता में सिंह के समान थे। देश की स्वाधीनता के समय सबसे बड़ी समस्या 562 देशी र Read more

सृष्टि के रचियता ब्रह्माजी—ब्रह्मा मन्दिर—–पुष्कर Part 4

डा. जे.के.गर्ग
पुष्कर की उत्त्पति के बारे में पोराणिक मान्यतायें—– पुष्प से बना पुष्कर—– पद्मपुराण में प्राप्त विवरण के अनुसार एक समय ब्रह्मा जी को यज्ञ करना था, उसके लिए उपयुक्त स्थान का चयन करने के लिए ब्रह्मा जी ने प्रथ्वी पर अपने हाथ से एक कमल पुष्प को गिराया, य Read more

सृष्टि के रचियता ब्रह्माजी—ब्रह्मा मन्दिर—–पुष्कर Part 3

डा. जे.के.गर्ग
ब्रह्मा मंदिर——–पुष्कर में स्थित ब्रह्माजी के एक मात्र मंदिर का इस मन्दिर का ग्वालियर के महाजन गोकुल प्राक् ने अजमेर में करवाया था। ब्रह्मा मन्दिर की लाट लाल रंग की है एवं तथा इसमें ब्रह्माजी के वाहन हंस की आकर्षक आकृतियाँ हैं। मन्दिर में चतुर्मुखी ब्रह्मा Read more

सृष्टि के रचियता ब्रह्माजी—ब्रह्मा मन्दिर–पुष्कर Part 2

डा. जे.के.गर्ग
ब्रह्माजी को देवताओं का पितामाह कहा जाता है वैसे ब्रह्माजी देवताओं के साथ दानवों और समस्त के पितामह हैं | ब्रह्माजी सदेव सत्य और धर्म का पक्ष लेते हैं | देवासुरादि संग्रामों में पराजित होकर देवता जब ब्रह्मा के पास गये तब ब्रह्माजी ने भगवान विष्णु से धर्म की स्थापना करने क Read more