खुब लडी मर्दानी वो तो ग्वालियर वाली रानी थी

राजेश टंडन एडवोकेट
राजेश टंडन एडवोकेट
राजस्थान में तो तकरीबन सभी आ गये काबू , डाक्टर करोडी लाल आजकल में आ रहा है मेरे नेतृत्व में भाजपा में , घनश्याम तिवारी पड गया डंडा , राजवी के पास समान ही नहीं है , ज्ञान देव आहूजा खुद ही अलवर उप चुनाव में सुलट जायेगा उसके खुद के विधानसभा क्षैत्र के नतीजे ही उसे निपटा देगें , अब और कौन बचा है गहलोट जी के सारे चहेते और मर्जीदान और आखों के तारे अफसरों को मैंने पहले ही तोड लिया है और उन्हें The Best से Best Posting दे रखी हैं और खुल के खेलने की इजाजत दे रखी है वो लोग तो अब गहलोट जी कुछ भी नहीं बताते और मिलने से भी कतराते हैं और श्रीमंत पांडे तथा ललित पंवार गहलोट जी राजी रखते हैं उनको मैंने इसीलिये रोटी रोजगार दे रखा है कि गहलोट जी मिजाज पूर्सी करते रहो उनके काम करते रहो वैसे भी अब गहलोट जी राजस्थान में कम ही दखल दे रहे हैं , बाकी बचा तन्मय कुमार उसे मैंने समझा दिया है कि पागल राज है तो आज है , तेरी चवन्नी चले इसलिये मैंने तीन तीन , चार चार महीने के DGP और C S लगा रखे हैं तू चुपचाप उनके मजे ले और उन पर राज कर क्यों विवादों में पडता है अपने आराम से कमा खा पगले !!!!!!
राजस्थान में हो रहे तीन तीन उप चुनाव और गुजरात के चुनावों के खर्चों की वजह से नरेंद्र भाई और चमनघोटा भी अब त़ो ठंडी नजर रखेंगे , वो भी सब समझते हैं………..?
अब बचा सिर्फ हनुमान बेनीवाल वो अकेला क्या कर लेगा , उसका भी मैं कोई जल्दी ही तोड निकाल रही हूँ ……………. जय जय राजस्थान
आपका अपना राजेश टंडन वकील अजमेर।

Leave a Comment