गांव गोलरी [श्री कोलायत] में अध्यापिका मंच की द्वितीय बैठक का आयोजन

IMG-20180113-WA0525बीकानेर दिनांक 13 .1.2018 श्री कोलायत :- राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय गांव गोलरी [श्री कोलायत] में अध्यापिका मंच की द्वितीय बैठक का आयोजन किया गया | बैठक में श्री कोलायत बेल्ट की स्कूलों की करीब 50 अध्यापिकाओं ने भाग लिया | बैठक के दौरान कई महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा की गई | विद्यार्थियों की समस्याओं तथा शिक्षण कार्य को और अधिक सफल बनाये जाने को लेकर महत्वपूर्ण बिन्दुओ पर चर्चा की गई | बैठक में उरमूल संस्थान लूणकरणसर के श्रीमान पुखराज ,श्रीमान रामस्वरूप , श्रीमान उमेश कुमार आदि ने बाल अधिकारों की जानकारी दी | श्री पुखराज जी ने बाल अधिकारों के लिए विश्व में किए गए समझौते संयुक्त राष्ट्रीय बाल अधिकार यू एन आर सी के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि समझौते में 54 अनुच्छेद बनाए गए तथा जिससे बालकों के चार अधिकारों में बांटा गया है | बालकों के अधिकारों पर किस प्रकार कार्य करना चाहिए ऐसी कई महत्वपूर्ण बातों पर चर्चा की गई | | बैठक में अध्यापिका श्रीमती भगवती भाटी ने सुरक्षित विद्यालय वातावरण और बालिकाओं को माहवारी स्वच्छता के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी देते हुए बताया कि बालिकाओं को स्वच्छ व खुला वातावरण देने व किशोरावस्था में होने वाले बदलाव को बालिकाओं के साथ बातचीत कर उन्हें हल किये जाने आदि बातों पर बल दिया | बैठक में SSA की श्रीमती तारा पारीक RP ने मीना मेले की आवश्यक तैयारी को लेकर मीना मंच के सभी अध्यापिकाओं मेंबर्स के साथ विद्यालयी स्तर करवाए जाने वाली गतिविधियों के बारे में बताया और मीना मेले में के लिए बालिकाओं की भागेदारी सुनिश्चित की गई | वही बैठक के दौरान अध्यापिका श्रीमती अंजुमन आरा ने सुरक्षित विद्यालय वातावरण और सेल्फ डिफेंस की जानकारी उपस्तिथ अध्यापकीकाओं को दी | ताकि स्कूलों में बालिकाओं को इस विधा से प्रशिक्षित किया जा सके | ऐसे में प्रशिक्षित बालिकाएं विषम परिस्तिथि में सेल्फ डिफेन्स के जरिये अपने आपको सुरक्षित रख सके | श्रीमती अंजुमन आरा ने बाल अपराध , बाल न्याय और किशोर न्याय अधिनियम , बाल अधिकार संरक्षण कानून ,बाल श्रम कानून ,बालको को निशुल्क एव अनिवार्य शिक्षा ,मातापिता तथा अभिभावकों के कर्तव्य सहित बाल आश्रम प्रतिषेध नियम की जानकारी अध्यापिकाओं को दी | बैठक का संचालन श्रीमती तारा पारीक RP श्रीमती अंजुमन आरा और सुमन सैनी द्वारा किया गया |

Leave a Comment