एसडीओ ने लिया अतिक्रमण एवं ट्रेफिक संबंधी हालातों का जायज़ा

beawar samacharब्यावर। बुधवार सायं एसडीओ नमित मेहता ने ब्यावर शहर एवं मुख्य मार्गाे का अचानक दौरा कर अतिक्रमण एवं ट्रेफिक संबंधी हालातों का जायजा लिया। एसडीओ द्वारा किये गए इस दौरा के दौरान एसडीओ के संग ब्यावर के तहसीलदार मदनलाल जीनगर एवं नगरपरिषद आयुक्त मुरारी लाल वर्मा पूरे समय साथ रहे।
एसडीओ का ब्यावर में पदभार सम्भालने के बाद श्री मेहता का यह शहर की व्यवस्थाओं संबंधी यह प्रथम दौरा है। आज किये गए दौरे में एसडीओ ने तहसीलदार एवं परिषद आयुक्त के संग लेते उपखण्ड कार्यालय से रवाना होकर सतपुलिया होते हुए अजमेर रोड़ पर रीको ऐरिया व कृषि सहायक निदेशक कार्यालय के नज़दीक पहुंचे और यहां पर ज़ाम होरखे नाला का जायज़ा लिया तथा इस नाले के कारण उत्पन्न होरही परेशानियों से निज़ात दिलाने की दृष्टि संबंधित अधिकारियों द्वारा अपेक्षित कार्यवाही की जरूरत बताते हुए अवगत कराया कि इस बारे में संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि अजमेर रोड़ स्थित रीको ऐरिया के समीपवृति अवरूद्ध इस नाले के कारण उत्पन्न हालात से कृषि विस्तार कार्यालय के अधिकारी /स्टाफ सहित अन्य नागरिकगण खासे परेशानी का अनुभव करते रहे हैं।
इसके बाद एसडीओ ने दौलतगढ़ सिंहा , धर्म कांटे तक के रोड़ का जायज़ा लिया। उसके उपरान्त वापस शहर की ओर मुड़े और अजमेर रोड़ पर ममता ट्रांसपोर्ट कम्पनी के समीप नाले का अवलोकन कर इसके हालात का जायज़ा लिया। उन्होंने इस नाले सहित अन्य बडे़ नालों की सफाई करवाने हेतु आयुक्त नगर परिषद को समुचित कार्यवाही की जरूरत हेतु निर्देशित किया। अपने दौरे में एसडीओ ,आगे बढ़े और मेगाश्री सिटी हाईवे, सिटी सिनेमा, चांगगेट होते हुए एलआईओ तक पहुंचकर कॉलेज के पीछे वाले रोड़ से होकर अजगर बाबा के थान तक पहुंचे और वहां से मोतीनगर के सामने हाईवे होते हुए वापस शहर की ओर मुख्य रोड़ से होकर तहसील कार्यालय के पीछे होकर अजमेरी गेट से वापस अपने कार्यालय पहुंचे।

चिन्हित बडे़ अवैध निर्माण के विरूद्ध जनहित में चलायी जाएगी मुहिम : एसडीओ
एसडीओ नमित मेहता ने शहर में बुधवार को दौरा करने के बाद बताया कि ब्यावर शहर में अतिक्रमण हटाने, यातायात व्यवस्था को सुगम बनाने तथा बडे़ अवैध निर्माण को नियंत्रित एवं बंद कराने हेतु जनहित में मुहिम चलायी जाएगी।
एसडीओ ने कहाकि पहले शहर में बडे़ अवैध निर्माण को चिन्हित किया जाएगा। उन्होंने शहर में खास बडे अवैध निर्माण चिन्हित करने के कार्यवाही एक-दो हफ्ता दौरान कर लिये जाने की उम्मीद ज़ाहिर की। उन्होंने बताया कि चिन्हित अवैध निर्माण की जांच आदेश दिये जाएगे। जांच में जो निर्माण अवैध एवं नियमों के विपरीत पाये पर उन्हें सीज़ करने जैसी कार्यवाही की जावेगी। अवैध निर्माण/ अतिक्रमण को हटवाया जाएगा। प्रशासन की ओर से इस बारे में पहले संबंधित पक्ष को अपनी स्वेच्छा से अतिक्रमण व अवैध निर्माण हटा लेने हेतु समझाईश की जाएगी। अवहेलना अथवा उल्लंघन की दशा में प्रशासन द्वारा कठोर कार्यवाही अमल में लायी जाकर हालात से निपटा जाएगा, यहां तक कि अवैध निर्माण को ध्वस्त करने में प्रशासन पीछे नहीं हटेगा।

Leave a Comment