जीवन में कार्य की सीमा बांधने पर सफलता मिलेगी

DSC_0014मदनगंज-किशनगढ़। मुनि सुधासागर महाराज ने आर.के. कम्यूनिटी सेंटर में शनिवार को धर्मोपदेश देते हुए कहा कि संसार का प्रत्येक व्यक्ति एक दूसरे से जुडा हुआ है। व्यक्ति को उतनी इच्छा करनी चाहिए जितनी वह दिनभर में पूरी कर सके। जिनवाणी सभी को जीवन में क्या सही और क्या गलत है की जानकारी देती है। जिनवाणी को नही मानने के कारण मनुष्य का स्वयं पर नियंत्रण नही रहा। जीवन में कार्य की सीमा बांधने पर सफलता मिलेगी। मुनिश्री ने उदाहरण देते हुए कहा कि स्वयं की जिन्दगी को अनुशासित करने की आवश्यकता है। जैन पर्व में कमाई नही करता लेकिन बनिया हर दिन कमाई में लगा हुआ है। बनिये से अच्छा तो मजदूर है जो अमावस्या को कमाई नही करता। यह मंथन करने की जरूरत है। मनुष्य पर्याय को सफल बनाना है तो जीवन में हर समय नियम होना चाहिए। मुनिश्री ने कहा कि दिन में एक कार्य से दूसरे कार्य करने की मध्य में नियम लेने पर उस समय के दौरान होने वाले गलत घटना का भी पुण्य मिलता है। जीवन में त्याग करने पर पुण्य की प्राप्ति होती है। लेकिन, किन्तु, परन्तु आदि जीवन से निकाल देगें तो जीवन धन्य हो जाएगा। बडो की आज्ञा में रहने वाले को किसी के सहारे की जरूरत नही पडती। घर के मुखिया के मन में कभी विकल्प नही आना चाहिए। जिस घर में बडे व्यक्ति परिवार के छोटे सदस्य से पूछ कर कार्य करेगें तो उस घर में दरिद्रता आएगी। जिस घर में बिना विरोध के बडे व्यक्ति सभी कार्य करेगें तो वह घर स्वर्ग बन जाएगा। मुनिश्री ने परिवार व जीवन में सुख पाने के उपाय बताते हुए कहा कि मै कौन हॅू, मुझे क्या, क्यो, कब, कहा और कैसे कार्य करना है यह जान लो तो सुख ही सुख मिलेगा। श्री आदिनाथ दिगम्बर जैन पंचायत के प्रचार प्रसार मंत्री विकास छाबड़ा व धर्म प्रभावना समिति के प्रचार मंत्री संजय जैन ने बताया कि प्रात: श्रीजी का अभिषेक एवं शांतिधारा, पूजन, धर्मसभा में चित्र अनावरण, दीप प्रज्जवलन, शास्त्र भेंट, मुनिश्री के पाद प्रक्षालन का सौभाग्य निहालचंद, राकेश मोहन, चन्द्रमोहन, गणेशचंद, लीलाकांत, प्रशांत, मंयक पहाडिया को मिला। दोपहर में सामयिक, मुनि निष्कंप सागर महाराज द्वारा जिनसहस्त्रनाम स्त्रोत पाठ, मुनि सुधासागर महाराज द्वारा तत्वार्थ श£ोक वार्तिक एवं पद्मनन्दि पंचविशंतिका, मुनि महासागर महाराज द्वारा तत्वार्थ सूत्र तथा सायं जिज्ञासा समाधान के पश्चात क्षुल्लक धैर्य सागर महाराज द्वारा बच्चों की पाठशाला में धार्मिक ज्ञान दिया जा रहा है। आरती के पश्चात क्षुल्लक गंभीर सागर महाराज के प्रवचन हो रहे है। इस अवसर पर अनेक श्रावक-श्राविकाएं व बालक, बालिाकाएं उत्साह पूर्वक भाग ले रहे है।
पाश्र्वनाथ निर्वाण महोत्सव आज
रविवार को कम्यूनिटी सेन्टर में देवाधिदेव १००८श्री पाश्र्वनाथ भगवान का मोक्षकल्याण महोत्सव मनाया जाएगा। इस अवसर पर प्रात: 6 बजे अभिषेक, शान्तिधारा, एवं मुनिश्री द्वारा विशेष मंगल देशना तथा 7.30 बजे निर्वाण लड्डू चढ़ाया जाएगा।

Leave a Comment