यूनाइटेड अजमेर का 2 साल बेमिसाल कार्यक्रम विभिन्न गतिविधियों के साथ संपन्न

सुनील जोस को प्रथम अजमेर रत्न पुरस्कार
नया बाजार में राजकीय संग्रहालय से गोल प्याऊ तक का क्षेत्र रविवार को पुराने दौर में पहुंच गया जब यूनाइटेड अजमेर के दो साल बेमिसाल कार्यक्रम में प्रशासनिक अधिकारियों, जन प्रतिनिधियों, महिलाओ, युवाओ व बच्चो ने सामूहिक रूप से संगीत, एरोबिक्स, व्यायाम, स्ट्रीट क्रिकेट, स्लो साइकल रेस, म्यूज़िकल चेयर लट्टू, कंचे, सतोलिया, गिल्ली डंडा, बोरी रेस, टायर रेस, तीन टाँग की रेस, सरीखे खेलो का आनंद लिया।
यूनाइटेड अजमेर की संयोजिका कीर्ति पाठक ने जानकारी देते हुए बताया कि कार्यक्रम के अतिथि डीआरएम पुनीत चावला, महापौर धर्मेंद्र गहलोत, उप आयुक्त नगर निगम ज्योति ककवानी, पुलिस उप अधीक्षक प्रीति चौधरी, सीआरपीएफ कमांडेंट बीके वैष्णव, चित्रकूट धाम के पाठक जी महाराज, पूर्व अतिरिक्त निदेशक सूचना एवं जनसंपर्क प्यारे मोहन त्रिपाठी, वरिष्ठ मंडल यांत्रिक अभियंता डी बालाजी, राजयोगिनी शांता बहन, चिश्ती फाउंडेशन के सलमान चिश्ती ने सभी खेलो में भाग लिया।
महापौर धर्मेंद्र गहलोत ने यूनाइटेड अजमेर की मुहिम की सराहना करते हुए कहा कि अजमेर के युवाओं व बच्चों को कंप्यूटर, मोबाइल गेम्स और सोशल मीडिया की गिरफ्त से बाहर निकालकर पारंपरिक खेल कूद और व्यायाम कराने की निरंतर परंपरा एक सराहनीय प्रयास है, इसके अलावा भी यूनाइटेड अजमेर द्वारा मिट्टी के गणेश, भाईचारे का सेतु, कपड़ा बैंक, उजियारी सांझ जैसे प्रकल्पो ने अजमेर को एक परिवार की तरह जोड़ा है व नगर निगम प्रशासन हर तरह से यूनाइटेड अजमेर के साथ है।
डीआरएम पुनीत चावला ने आयोजन की प्रशंसा की और कहा कि यूनाइटेड अजमेर के इस प्रयास से अजमेर की सड़कें व कॉलोनियां प्राचीन दौर में चली गई है, लोग एक दूसरे के पास आ रहे हैं, अनजान लोग मिल रहे हैं वह पारंपरिक खेल- कूद, कला एवं संस्कृति का सम्मिश्रण एक साथ देखने को मिल रहा है।
सीआरपीएफ कमांडेंट बी.के. वैष्णव ने कहा कि आपसी भाईचारा व मिल जुलकर रहना भारतीयों की विशेषता रही है और टीवी चैनल्स व इंटरनेट आदि के उपयोग ने युवाओं को मात्र घर अथवा ऑफिस में सीमित कर दिया है ऐसे में यूनाइटेड अजमेर कि यह सार्थक पहल है।

कार्यक्रम के प्रारंभ में प्रसिद्ध गायक डॉ रजनीश चारण नए प्रातःकालीन राग व कर्णप्रिय भजनों की प्रस्तुति से माहौल को आध्यात्मिक किया। फिटनेस जिम के परीक्षित राठौड़ व जन्मजय सिंह राठौड़ के निर्देशन में युवाओं व महिलाओं ने एरोबिक्स व जुंबा का अभ्यास किया। सभी अतिथियों ने इस मौके पर पावर रोप पर व्यायाम किया व धीमी साइकिल प्रतियोगिता में भाग लिया जिसमें महापौर धर्मेंद्र गहलोत ने बाजी मारी। महिला एवं पुरुषों के लिए आयोजित म्यूजिकल चेयर रेस में सभी ने उत्साह से भाग लिया वही नागरिको ने क्रिकेट, फुटबॉल, रस्सी कूद, लट्टू, व कंचे खेल अपनी बचपन की यादों को ताजा किया।

सेंट एंसलम स्कूल के गणित अध्यापक सुनील जोस को अजमेर रत्न पुरस्कार से प्रदान किया गया। सुनील जोस विगत कई वर्षों से कच्ची बस्ती के गरीब बच्चों को गणित पढ़ा रहे हैं, इनके द्वारा पढ़ाए गए 3 बच्चों का आईआईटी में व दो बच्चों का नीट में भी चयन हो चुका है, साथ ही सुनील बच्चों को मजदूरी से मुक्त कराने के लिए भी कार्यरत हैं। स्वीप गतिविधियों में भागीदारी निभाने हेतु सोफिया कॉलेज की छात्राओं, रेल म्यूजियम ऑन वॉल्स के कलाकारों, जन्मजय राठौड़ को एरोबिक्स प्रशिक्षण व क्षितिज तिवारी को विगत दिनों फ्लोरेंस अपार्टमेंट में आगजनी के दौरान सबको सक्रिय देने के लिए प्रमाण पत्र दिए गए। राजयोगिनी शांता बहन ने यूनाइटेड अजमेर की टीम को उनके सकारात्मक प्रयासों के लिए सम्मानित किया। कार्यक्रम का सञ्चालन अजय कुमार ने किया, यूनाइटेड अजमेर के संरक्षक आनंद अरोड़ा व सर्वेश्वर अग्रवाल ने आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर राजेश बुन्देल व नितिन कृष्णा व टीम ने फेस पेंटिंग की।
यूनाइटेड अजमेर व चिश्ती फाउंडेशन की हरित अजमेर मुहिम के अंतर्गत 500 पोधो का वितरण भी किया गया। इस मौके पर सीआरपीएफ की ओर से पीने के पानी व प्राथमिक चिकित्सा की व्यवस्था की गई।
कार्यक्रम के अंत में 200 गुब्बारे आसमान में छोड़े गए व नृत्य कर खुशिया मनाई गयी। यूनाइटेड अजमेर के सदस्य संजय टांक, रोहित छीपा, अनुज गांधी, प्रदीप अग्रवाल, विजय यादव, नीरज जैन, सपना टांक, अनीता भार्गव, गौरी टांक, ललित नागरानी, पुष्पा क्षेत्रपाल ,श्वेता फौजदार, लोकेश मिश्रा, बिमला नागरानी, रीना व्यास मिश्रा, विपुल खंडेलवाल, अंकुर मित्तल, संदीप तंवर, दीपशिखा क्षेत्रपाल , मनीषा चंदु सहिजवानी ने कार्यक्रम को सफल बनाया।

Leave a Comment

error: Content is protected !!