कांग्रेस ने जिला निर्वाचयन अधिकारी के सामने आपत्तियां दर्ज करवाई

अजमेर। आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर जिला निर्वाचन विभाग द्वारा बुलाई गई राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों की बैठक में कांग्रेस की ओर से उत्तर विधानसभा क्षेत्र में मतदान केंद्रों की दूरी की विसंगतियों और 4 मतदान केंद्रों को सहायक मतदान केंद्रों के रूप में उपयुक्त स्थान पर स्थानांतरित नहीं करने पर आपत्ति दर्ज कराई।
शहर कांग्रेस प्रवक्ता मुजफ्फर भारती ने बताया कि सोमवार को जिला कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर आरती डोगरा की अध्यक्षता में आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर राष्ट्रीय मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों की बैठक आयोजित की गई जिसमें चुनाव आयोग के नियमों के मुताबिक 1420 मतदाताओं से अधिक संख्या होने पर सहायक मतदान केंद्रों के स्थापन प्रस्ताव की जानकारी दी गई। इस दौरान कांग्रेस की ओर से उत्तर विधानसभा क्षेत्र के बीएलए प्रथम मुजफ्फर भारती ने भाग संख्या 145, 146 इमामबाडा के 2 मतदान केंद्रों को विभक्त करके 4 मतदान केंद्रों के रूप में आर्य पुत्री बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में स्थानांतरित किए जाने के प्रस्ताव पर आपत्ति दर्ज कराई उनका कहना था कि जिस स्कूल में इन मतदान केंद्रों को शिफ्ट किया जा रहा है वह मतदाताओं की पहुंच से काफी दूर हैं इसलिए इन मतदान केंद्रों को दरगाह कमेटी के गेस्ट हाउस परिसर में स्थापित करने के लिए प्रस्तावित किया जाना चाहिये जिला कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी आरती डोगरा ने इस आपत्ति को स्वीकार भी किया लेकिन इस शर्त के साथ कि यदि दरगाह कमिटी गेस्ट हाउस परिसर में इन सभी मतदान केंद्रों के स्थापन के लिए पर्याप्त जगह मिलेगी तो इसे प्रस्ताव में शामिल कर लिया जाएगा इसके लिए उन्होंने एडीएम प्रथम एवं एडीएम सिटी को मौका निरीक्षण करने के निर्देश दिए।
बैठक में कांग्रेस के प्रतिनिधियों का यह भी कहना था कि उत्तर एवं दक्षिण विधानसभा क्षेत्र के कई मतदान केंद्रों में मतदाताओं के निवास से मतदान केंद्र की दूरी की विसंगतियां हैं जिसके लिए कांग्रेश लोकसभा उपचुनाव से पहले भी आपत्तियां लिखित प्रतिवेदन प्रस्तुत कर चुकी है परंतु उन पर कोई सकारात्मक कार्यवाही नहीं की गई जिस कारण आम मतदाता को अपने घर के पास स्थापित मतदान केंद्र के स्थान पर घर से दूर बने मतदान केंद्रों पर वोट डालने जाना पड़ता है इस विसंगति के कारण मतदाताओं को तो अधिक परेशानी होती है साथ ही मतदान प्रतिशत भी कम होने की संभावना बनी रहती है जिला निर्वाचन अधिकारी ने इस आपत्ति को यह कहते हुए खारिज कर दिया कि भारत के निर्वाचन आयोग द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुसार आचार संहिता लगने के बाद मतदान केंद्रों में बदलाव की गुंजाइश नहीं है।
बैठक में संवेदनशील एवं अति संवेदनशील भूतों की समीक्षा की भी मांग उठी और प्रशासन को बताया गया कि पिछले कई चुनावों से जो बूथ संवेदनशील अथवा अति संवेदनशील निर्धारित किए हुए हैं वह आज भी उसी ट्रेंड पर कायम है ऐसे मतदान केंद्रों पर अत्याधिक फोर्स लगाए जाने के कारण मतदाताओं में भय का वातावरण रहता है इसलिए संवेदनशील एवं अति संवेदनशील मतदान केंद्रों की समीक्षा की जानी चाहिए।
बैठक में अतिरिक्त जिला कलेक्टर भू रूपांतरण अबू सुफियान चौहान ने सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को आचार संहिता की अनुपालना पर विस्तार से जानकारी दी। बैठक मैं बहुजन समाज पार्टी भारतीय जनता पार्टी सहित राष्ट्रीय राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया कांग्रेस की ओर से मुजफ्फर भारती राकेश धाबाई कमल वर्मा विपिन बेसिल शामिल हुए।

Leave a Comment

error: Content is protected !!