जिला कलक्टर ने किया खानपुरा एसटीपी का अवलोकन

अजमेर, 9 फरवरी। जिला कलक्टर श्री विश्व मोहन शर्मा ने शनिवार को नगर निगम एवं स्मार्ट सिटी परियोजना के दल के साथ खानपुरा स्थित सिवरेज ट्रीटमेंट प्लान्ट का अवलोकन कर अधिकारियों को आवश्यक निर्देश प्रदान किए साथ ही नाले पर बुस्टर लगाकर दूषित पानी का अवैध उपयोग करने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध कार्यवाही करने के भी निर्देश दिए।

श्री शर्मा ने खानपुरा स्थित सिवरेज ट्रीटमेंट प्लान्ट के पास नाले की दीवार पक्की बनाने के लिए स्मार्ट सिटी परियोजना के अधिकारियों को निर्देशित किया। दीवार की गुणवत्ता के संबंध में सामग्री लैब टेस्टिंग आवश्यक है। विभिन्न स्थानों पर नाले की दीवार की मरम्मत के कार्य की जीपीएस टेगिंग की जानी चाहिए। नाले की दीवार तोड़कर अवैध बूस्टर के माध्यम से दूषित एवं अनुपचारित पानी खींचकर खेती करने वालों के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही की जाएगी। इसके लिए नगर निगम के अधिकारियों को बूस्टर जप्त करने के निर्देश प्रदान किए।

उन्होंने खानुपरा तालाब का भी मौके पर निरीक्षण किया। तालाब का साकारात्मक एवं प्रदूषण मुक्त उपयोग की संभावनाएं तलाशने के लिए अधिकारियाें को निर्देश प्रदान किए साथ ही तालाब की भूमि के खातेदारी अधिकारों एवं मालिकाना हक के संबंध में चर्चा की। तालाब से निकलने वाले गंदे पानी का स्वास्थ्य एवं जन जीवन पर प्रभाव को कम करने के संबंध में विचार विमर्श किया।

उन्होंने कहा कि सिवरेज ट्रीटमेंट प्लान्ट के विस्तारित भाग में रूके हुए निर्माण कार्य को तेजी से पूर्ण किया जाना चाहिए। इस संबंध में अजमेर विकास प्राधिकरण के अधिकारियों के साथ सोमवार को साप्ताहिक समीक्षा बैठक में चर्चा की जाएगी। नए प्लान्ट के निर्माण में आने वाली बाधाओं को दूर करने के लिए साप्ताहिक समीक्षा बैठक में विचार विमर्श किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि पूरे आनासागर एस्केप चैनल की सफाई नियमित रूप से की जानी चाहिए। चैनल का डम्पिंग की तरह इस्तेमाल करने वालों के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही की जाएगी। चैनल की सफाई वर्तमान संसाधनों के द्वारा सही तरीके से नहीं होने की स्थिति में इसकी अलग से निविदा निकाली जाने की आवश्यकता है।

उन्होंने कहा कि भवन निर्माण के मलबे का निस्तारण प्रोपर तरीके से किया जाना चाहिए। नगर निगम द्वारा वार्डों के जोन में ऎसे स्थानों का चिन्हिकरण किया जाएगा जहां भरती करने की आवश्यकता हो इन स्थानों पर मलबा डाला जा सकेगा। इससे अन्य स्थानों पर मलबा डालने की प्रवृति खत्म होगी। शहर के सौन्दर्यीकरण पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि सिवरेज ट्रीटमेंट प्लान्ट में पर्याप्त मात्रा में पानी आना चाहिए। इसके लिए सिवरेज लाइन के साथ घरों के कनेक्शनों में तेजी लायी जाए। घरों में पहले से स्थापित सैप्टिक टैंक को पूरी तरह से बंद करने के उपरान्त ही कनेक्शन किया जाए। सैप्टिक टैंक को बन्द नहीं करने वाले परिवारों के विरूद्ध जुर्माना लगाया जाएगा। उन्होंने रामगंज नाले का भी निरीक्षण किया तथा इसको स्मार्ट सिटी परियोजना के माध्यम से अच्छी तरह तैयार करने के निर्देश दिए।

इस अवसर पर स्मार्ट सिटी के चीफ इंजिनीयर श्री अनिल विजयवर्गीय, अधिक्षण अभियंता श्री अनिल जैन, अधिशाषी अभियंता श्री औंकार मुण्डेल, साहयक अभियंता श्री रविकान्त शर्मा, नगर निगम के अधिशाषी अभियंता श्री ओमप्रकाश डींडवाल सहित विभिन्न अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Comment

error: Content is protected !!