महावीर जयंती का विषाल शोभा यात्रा जुलूस सम्पन्न

जुलूस का जगह-जगह व्यापारिक संघो ने किया भव्य स्वागत
श्रीजी निकले नगर भ्रमण पर, हजारो की संख्या में भक्तोें ने लिया लाभ, महिलाओं ने घर के बाहर सजाई रंगोली

अजमेर 17 अपै्रल ( ) जैन धर्म के 24 वें तीर्थंकर श्री 1008 भगवान महावीर स्वामी का 2617 वां जन्मोत्सव चैत्र शुक्ला तेरस संवत 2076 के उपलक्ष्य में आज बुधवार को भगवान महावीर स्वामी जन्मोत्सव पर विषाल रथ यात्रा जुलूस बहुत ही धूमधाम से निकाला गया।
यह जानकारी देते हुए राकेष घीया ने बताया कि इस शुभ अवसर पर प्रातः 4ः30 बजे जैन मन्दिर केसरगंज में राजा सिद्धार्थ के दरबार में ब्राहमी महिला मण्डल द्वारा बधाईयॉं गायी गयी एवं प्रातः 6ः00 बजे केसरगंज जैन मन्दिर से भगवान महावीर स्वामी की प्रभात फेरी निकाली गयी जो कि केसरगंज जैन मन्दिर से प्रारम्भ होकर दैनिक नवज्योति रोड, बाबू मौहल्ला, सेन्ट एन्सलम स्कूल, केसरगंज गोल चक्कर, आदिनाथ मार्ग पडाव, कबीर मार्ग, टीकमगंज, स्टेषन रोड, पुलिस चौकी केसरगंज होते हुए पुनः जैन मन्दिर पहंुची। तत्पष्चात् प्रातः 8.00 बजे ध्वजारोहण श्रेष्ठी श्री जयकुमार साहबजाज द्वारा किया गया। कमेटी के द्वारा ध्वजारोहरणकर्ता का साफा एवं माला पहनाकर स्वागत किया गया। इस अवसर पर उन्होने कहा कि भगवान महावीर का संदेष ‘‘जीओ और जीने दो’’ एवं सत्य अहिंसा का जो संदेष भगवान महावीर स्वामी ने विष्व को दिया उसी से आज मानव का कल्याण हुआ है। आज के युग में भगवान महावीर के संदेष की जन-जन को आवष्यकता है।
अध्यक्ष सुनील ढिलवारी ने बताया कि शोभा यात्रा में जैन समाज की ब्राहमी महिला मण्डल, आदि सृष्टि महिला मण्डल, स्वतन्त्र जैन चिन्तन महिला प्रकोष्ठ एवं सुनन्दा महिला मण्डल एवं जैन सोषल गु्रप की महिलाओं द्वारा विषेष ड्रेस मे भगवान महावीर स्वामी के संदेष देते हुए हाथो में पट्किाऐं लेते हुए शोभा यात्रा में सम्मिलित हुई। जुलध्ूस के आगे आगे समाज के नव युवको द्वारा सफाई करके स्वच्छता का संदेष दिया गया। आज मुख्य रथ के सारथी, खवासी, जिनवाणी रथ के सारथी जय कुमार दिनेष कुमार धर्मेष कुमार रूपेष कुमार साहबजाज परिवार रहे। प्रथम चंवरकर्ता विकास कुमार अनुज कुमार पुणारावत एवं द्वितीय संजय कुमार अंकुर कुमार हर्ष कुमार चडौसिया परिवार के द्वारा किया गया।
प्रातः 8ः30 बजे महावीर स्वामी की विषाल रथ यात्रा का जूलूस श्री 1008 पार्ष्वनाथ दिगम्बर जैसवाल जैन मन्दिर महावीर मार्ग केसरगंज से शुभारम्भ होकर राजकीय महाविद्यालय, गोल चक्कर, आर्य समाज मार्ग, स्टेषन रोड़, क्लॉक टॉवर, मदार गेट, गंाधी भवन, चुड़ी बाजार, नया बाजार, चौपड़, कडक्का चौक, थान मंडी, दरगाह बाजार, नला बाजार, जाटिया वास, मदार गेट, भगवान आदिनाथ मार्ग पड़ाव होता हुआ केसरंगज जैन मन्दिर पर समाप्त हुआ। इस विषाल रथ यात्रा के जुलूस में जैन धर्म पर आधारित व भगवान महावीर स्वामी के जीवन पर आधारित लगभग 30 झांकिया, श्रीजी स्वर्णमयी सफेद घोड़ो का रथ, ऐरावत हाथी, 11 घोड़े, उद्घोषक रथ, 7 बैण्ड, 21 ढोल, आदि सवारियॉं, ढोल बैण्ड बाजे, जिनेन्द्र संगीत मंडल के साथ हजारों धर्मालम्बी सम्मिलित होकर धर्म लाभ प्राप्त किया। जूलूस में बच्चे पंचरगी ध्वज, गुब्बारे व धर्म ध्वजा लेकर ‘‘जीओ और जीने दो’’ महावीर स्वामी की जय’’ के जयकारे लगाते हुए आगे आगे चल रहे थे। शोभा यात्रा में मुख्य रूप से भगवान का महामस्ताभिषेक, सम्मेद षिखर जी बचाओ, आर्शिवाद देष के जवानो को, स्वच्छ भारत, शिखर जी बचाओ, कमठ का उपसर्ग, टीले से प्रकट हुए महावीर, जियो और जीने दो, गिरनारजी,उभरता हुआ ज्ञानोदय, नारेली, स्वर्ग व नरक, पार्श्वनाथ भगवान का जन्म विवरण, वृक्ष ही जीवन है, बाहुबली भगवान की तपस्या, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, रिद्धि सिद्धि भक्तामर पाठ, पावापुर का जलमंदिर, जैन धर्म की प्राचीनता, अतिवीर प्रभु आदिनाथ से महावीर तक, भगवान का जन्मोत्सव, नारियल के अन्दर महावीर स्वामी, श्रीजी का अभिषेक करते हुए श्रावक, महावीर भगवान का केवल ज्ञान, महावीर भगवान का समोषरण, झूठन ना छोडे आचार्य मनतुंगाचार्य भक्तामर रचित, सहित अनेक झांकिया सजाई गई। जुलूस में महिलाऐं पीले वस्त्र व पुरूष स्वेत वस्त्र पहनकर चले। जुलूस का बाबू मौहल्ला, पल्लीवाल जैन मन्दिर केसरगंज, जिया लाल मार्केट, गोल चक्कर, केसरगंज व्यापारिक संघ, मोटर पार्टस एसोसिएषन, यषविल्ला एवं ज्ञानोदय नगर व्यापारिक संघ, जैन मिलन, जैन सौषल गु्रप अजमेर, वैष्य समाज अजमेर, मदार गेट व्यापारिक संघ, नया बाजार, दरगाह बाजार में ख्वाज मोईनुद्धीन चिष्ती के बाहर मुस्लिम भाईयो द्वारा समाज के बन्धुओं की एवं कमेटीयों की सदस्यों की दस्तारबंदी की गई एवं माला पहनाकर स्वागत किया गया। गंगा जमुनी तहजीब के तहत मन्दिर कमेटी के अध्यक्ष सुनील ढिलवारी, विरेन्द्र महतिया नेताजी, सुनील साहबजाज काके, योगेन्द्र कोलानायक, राजकुमार पॉण्डया, सुभाष चडौसिया, सचिन बजाज सहित समस्त कमेठी के द्वारा मुस्लिम भाईयो का भी स्वागत किया गया साथ ही अजमेर के कई स्थानों पर व्यापारिक संघो द्वारा जगह-जगह जोरदार स्वागत किया गया। जैन समाज की महिलाओं ने अपने-अपने निवास स्थान के बाहर रंगोली सजाई। शोभा यात्रा को लेकर समाज की महिलाओं व पुरूषों व बच्चों में काफी जोष व उत्साह था।
जुलूस समापन पर भगवान महावीर स्वामी जी के कलषाभिषेक श्री 1008 पार्ष्वनाथ दिगम्बर जैसवाल जैन मन्दिर केसरगंज पर आयोजित किये गये। सकल दिगम्बर जैन समाज का समूहिक वात्सल्य भोज मोईनिया इस्लामिया स्कूल प्रांगण पर हुआ एवं सांय 6.30 बजे मन्दिर जी में मय संगीत व गाजो-बाजों के साथ महाआरती का आयोजन किया गया जिसमें सैकडो की संख्या में महिलाओं ने भाग लिया।

Leave a Comment