राज्य का प्रथम सिन्धी बाल संस्कार शिविर का हुआ समापन

अजमेर-25 मई- भारतीय सिन्धु सभा की ओर से राज्य का प्रथम 15 दिवसीय सिन्धी बाल संस्कार शिविर का समापन स्वामी सर्वानन्द विद्या मन्दिर में स्वामी आत्मदास जी निर्मल धाम, विद्यालय प्रधानाचार्या श्रीमती मनजीत कौर, हरिसुन्दर बालिका विद्यालय की प्राचार्या सुश्री महेश्वरी गोस्वामी ,राष्ट्रीय मंत्री महेन्द्र कुमार तीर्थाणी, समाजसेवी हरीश गिदवाणी, रमेश नारवाणी नींगर, खेमचन्द नारवाणी द्वारा ईष्टदेव झूलेलाल,महाराजा दाहरसेन, मां सरस्वती सिन्ध के चित्र पर माल्यापर्ण कर दीप प्रज्जवलित किया गया।
स्वामी आत्मदास जी ने आर्शीवचन देते हुये कहा की बच्चों को श्वििर में जो संस्कार दिये जाते है उनका पालन विद्यालय में ही नही अपितु जीवन में भी करने चाहिये तथा ऐसे बाल संस्कार शिविरों का अयोजन सप्ताहिक बाल संस्कार केन्द्र के रूप में होना चाहिऐ।
मंच का संचालन श्रीमती रूकमणी वतवाणी व महेश टेकचंदाणी ने किया। स्वागत भाषण अध्यक्ष नरेन्द्र बसराणी व आभार संगठन मंत्री मोहन कोटवाणी ने दिया।
संास्कृतिक कार्यक्रम मशहूर कलाकार घनश्याम भगत, सुनीता भागचंदाणी, भावना मेहरा भारती बच्चाणी व सीमा रामचंदाणी ने निरंतर अभ्यास करवाकर बच्चों द्वारा प्रार्थना, बैत, नृत्य ,लाडा एवं शिविर गीत कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुत करवायें जिसे उनके परिजनों ने भी सराहा।
विद्यालय प्रधानाचार्या श्रीमती मनजीत कौर द्वारा योग शिक्षक दौलतराम थदाणी व शिविर में सेवा देने वाले कार्यकर्ताओं विक्की मोतियाणी, विक्रम, रमेश गागनाणी, मोहन टिलवाणी, ईश्वर अमरनानी, रमेश जादवाणी हर्ष मुस्कान कोटवाणी, विनीता मोतियाणी पुरूषोतम लख्याणी, मुकेश शर्मा का सम्मान किया गया।
शिविर में सभा के जिलामंत्री मोहन तुलस्यिाणी, एडवोकेट अशोक तेजवाणी, उपाध्यक्ष भगवान पुरसवाणी, रमेश वलीरामाणी, सिन्धु समिति अध्यक्ष जयकिशन लख्याणी,हरकिशन टेकचंदाणी, रमेश लख्याणी, नरेन्द्र सोनी, डॉ. अशोक सहजवाणी, रमेश जसूजाणी, के.जे. ज्ञानी, कुन्दन वतवाणी सहित विभिन्न संगठनों के सेवाधारी उपस्थित थे।

राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नवलराय बच्चाणी को दी श्रृद्धांजलि
देशभर में सिन्धी भाषा सभ्यता व संस्कृति को बढाने में नींव रखकर सेवा करने वाले कर्मयोगी भारतीय सिन्धु सभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दादा नवलराय बच्चाणी के असामयिक निधन पर दो मिनट मौन रखकर श्रृद्धाजंलि देकर उनके बताये सेवा मार्ग पर चलने का संकल्प लिया गया।

Leave a Comment

error: Content is protected !!