मण्डा विद्यालय के बच्चों ने देखी सुपर 30 मूवी

केकडी 25 जुलाई। निकटवर्ती ग्राम मण्डा के राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय के विद्यार्थियों ने गुरुवार को शिक्षक दिनेश वैष्णव के नेतृत्व में स्थानीय सांवरिया सिने वर्ल्ड में सुपर-30 मूवी देखी।

फिल्मी जगत ने हमेशा से फिल्मी नायकों और अनोखी कहानियों से दर्शकों को उम्मीद और प्रेरणा दी है। इसमें कोई दो राय नही है कि सिनेमा ने आम जनमानस को बहुत ज्यादा प्रभावित किया है, मगर जब ठीक इसका उल्टा होता है तो नजारा कुछ और सुखद हो जाता है, ऐसा ही कुछ महसूस किया मण्डा विद्यालय के विद्यार्थियों ने, जिन्होंने असली जीवन के नायक व जाने-माने शिक्षक आनन्द कुमार की कहानी को पर्दे पर देखा। ऋतिक रोशन अभिनित फिल्म सुपर-30 से प्रभावित विद्यार्थियों व शिक्षकों ने भी इसका भरपूर आनन्द लिया और प्रेरणा लेकर ये निश्चय किया कि वे भी स्वयं और दूसरों के भविष्य के लिए ऐसा ही कुछ कर दिखाने का हौंसला रखते है।

शिक्षक दिनेश वैष्णव ने बताया कि बच्चों को ये मूवी दिखाने का उद्देश्य बच्चों को ये बताना था कि विषम परिस्थितियों व संसाधनों की कमी के बावजूद कड़े परिश्रम से सफलता प्राप्त की जा सकती है।

फिल्म देखने के बाद शिक्षिका सुनिता चौधरी ने विद्यालय के बच्चों से प्रश्न भी पूछे जिनका बच्चों ने बड़े ही रोचक ढंग से जवाब दिया। इस दौरान विद्यालय के शिक्षक दिनेश वैष्णव, सुनिता चौधरी व भागचन्द जाट सहित कई विद्यार्थी उपस्थित थे।

गौरतलब है कि ये फिल्म बिहार के एक गणितज्ञ आनंद कुमार के जीवन पर आधारित है। ऋतिक रोशन ने फिल्म में इन्हीं का किरदार निभाया है। फिल्म में ऋतिक रोशन यानि आनंद कुमार बच्चों को पढ़ाते नजर आ रहे हैं। कड़े परिश्रम से लेकर सफल होने तक का संघर्ष इस फिल्म में आप देख सकते है। यह बिहार के ऐसे द्रोणाचार्य की कहानी है जिसने अर्जुन को नहीं एकलव्य को महान बनाया। बिहार के जीनियस गणितज्ञ और शिक्षक आनंद कुमार, जिन्होंने अपना खुशहाल करियर छोड़कर 30 ऐसे बच्चों को आईआईटी के लिए पढ़ाया जो बिल्कुल ही साधन विहीन थे।

Leave a Comment

error: Content is protected !!