सेवादारों ने श्रमदान कर बदल दी मोक्षधाम की तस्वीर

*संत निरंकारी मंडल के सेवादारों ने श्रमदान कर बदल दी मोक्षधाम की तस्वीर, केवल पांच महीनों में ही मोक्षधाम निखरकर स्वछ व सुंदर दिखने लगा*
*शहर के अन्य मोक्षधामों के भी कायाकल्प की जरूरत, आग्रह-भामाशाह आगे आकर करें सहयोग. सरकार व जनप्रतिनिधि भी दें इस ओर ध्यान !*

आज भागदौड़ भरी इस जिंदगी में किसको फुर्सत है कि वो अपना समय, श्रम व पैसा खर्च कर पीड़ित मानव सेवा के कार्यों में भागीदार बने। लेकिन फिर भी ऐसे बहुत से लोग है जिनमें मानव सेवा के कार्यों का संकल्प कूट-कूट कर भरा है।
अत्याधिक व्यस्त जिंदगी जीने वाले भी कई लोग हैं जो विभिन्न सामाजिक संस्थाओं से जुड़कर निस्वार्थ भाव से मानव सेवा के कार्य कर रहे हैं वहीं मानव सेवा से जुड़ी सामाजिक संस्थाएं भी बखूबी से मानव सेवा के कार्य कर रही हैं।

तिलक माथुर
ऐसी ही एक सामाजिक संस्था संत निरंकारी मिशन ने मानव सेवा से जुड़े कार्य व श्रमदान कर लोगों की सोच को बदल दिया है। अब कई लोग भी मानव सेवा के कार्यों में भाग लेने लगे हैं। नगर के संत निरंकारी मण्डल के सदस्यों ने तो पीड़ित मानवता की सेवा करने के क्षेत्र में एक मिसाल कायम की है। संत निरंकारी मंडल ने मानव सेवा व समाज सेवा के ऐसे अनेक कार्य किये हैं, जो न केवल लोगों के मददगार साबित हो रहे हैं बल्कि उनके प्रेरणादायक कार्यों से समाज को बहुत कुछ सीखने व करने का अवसर मिला है। ऐसे ही सामाजिक सरोकार से जुड़े एक कार्य का मैं जिक्र करने जा रहा हूं जिसने लोगों की सोच में भारी बदलाव ला दिया है। मैं बात कर रहा हूं केकड़ी के उस मोक्षधाम की जो आज से पांच माह पहले जीर्णशीर्ण अवस्था में बदहाली के आंसू बहा रहा था, लेकिन संत निरंकारी मंडल से जुड़े सेवादारों ने श्रमदान कर मोक्षधाम की तस्वीर ही बदल दी है। आज केकड़ी का यह मोक्षधाम जो कि देवगांव गेट के बाहर स्थित है स्वच्छ व सुंदर किसी रमणीय स्थल की तरह नजर आने लगा है। इस बदहाल मोक्षधाम पर संत निरंकारी मंडल के सैकड़ों सेवादारों ने यहां बम्बूल, झाड़ियों को काटकर साफ-सफाई की है वहीं परिसर में बालूरेत बिछाकर हजारों पौधे लगा दिए हैं, यही नहीं पूरे मोक्षधाम को रंग-रोशन कर संवार दिया है। मोक्षधाम के स्वरूप में आये निखार की आज हर कोई प्रंशसा कर रहा है। मोक्षधाम परिसर में चारों ओर हरियाली दिखाई देती है जो मोक्षधाम की खूबसूरती को चार-चांद लगा रही है। इस मंडल के कुछ सेवादार मोक्षधाम में निरन्तर पौधों की सुरक्षा के साथ अन्य व्यवस्थाओं को अंजाम दे रहे हैं। इसके लिए कुछ सेवादारों की यहां नियमित रूप से तैनात किया गया है, जो निरन्तर अपनी सेवाएं दे रहे हैं। संत निरंकारी मंडल द्वारा किये गए श्रमदान की वजह से आज मोक्षधाम, बड़े तालाब सहित ऐतिहासिक स्मारक साफ-सुथरे नजर आने लगे हैं। संत निरंकारी मिशन से जुड़े सैंकड़ों सेवादारों के श्रमदान कार्य क्षेत्रवासियों के लिए प्रेरणादायक साबित हो रहे हैं। उल्लेखनीय है कि केकड़ी, धुंधरी, ऊंदरी, टांकावास, रामथला, गुलगांव, बाजटा, फतेहगढ़, बोराड़ा, मोड़ी, खवास सहित कई गांवों के सैंकड़ों सेवादार जुड़े हैं जो समय-समय पर श्रमदान व मानव सेवा के कार्य निस्वार्थ भाव से कर रहे हैं, खासतौर से इस मिशन में महिलाएं भी बढ़चढ़ कर भाग ले रही हैं। मंडल प्रवक्ता रामचन्द्र टहलानी, ब्रांच प्रमुख अशोक रंगवानी, चेतन भगतानी, आशा रंगवानी, संगीता टहलानी, प्रेम जेठवानी, लक्ष्मण धनजानी, कालूराम निरंकारी, बालूराम कहार, गोपाल लाल खटीक सहित कई सेवादार मानव सेवा के कार्यों को अंजाम देने में अपनी अहम भूमिका निभा रहे हैं। मंडल के प्रवक्ता रामचंद्र टहलानी ने एक जानकारी में बताया कि मोक्षधाम परिसर में स्थित बड़े हॉल को एयरकंडीशनर हॉल के रूप में विकसित करने की योजना है जिसमें प्रार्थना सभा के साथ पुस्तकालय स्थापित किया जाएगा, जिसमें करीब 5 से 7 लाख रुपये खर्च होंगे। टहलानी ने बताया कि इसके लिए शहर के भामाशाहों से सम्पर्क किया जा रहा है किसी प्रायोजक की तलाश है। वहीं जन सहयोग से मोक्षधाम में और कई विकास के काम व इसके सौन्दर्यकरण के कदम उठाए जा रहे हैं। उन्होंने एक अन्य जानकारी में बताया कि केकड़ी संत निरंकारी मंडल मानव सेवा सहित चिकित्सा सेवाओं से जुड़े अन्य कार्यों में भी योगदान दे रहा है। उन्होंने बताया कि पीड़ित मानव की सेवार्थ चिकित्सा सेवा क्षेत्र में भी संत निरंकारी मंडल कार्य कर रहा है। संत निरंकारी मण्डल ने पिछले एक साल से चिकित्सा सेवाओं में मरीजों के लिए चिकित्सा उपकरण भी निःशुल्क उपलब्ध कराना शुरू किया है जिसकी सर्वत्र प्रंशसा की जा रही है। संत निरंकारी मण्डल द्वारा मरीजों की आवश्यकता वाले चिकित्सा उपकरण उपलब्ध कराना शुरू किया है जिसमें व्हील चेयर, वॉकर, बेंत (छड़ी), कमोड चेयर, एडजेस्टेबल बेड, वाटर बेड, एयर बेड सहित डेड बॉडी फ्रीजर की निःशुल्क सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। निशुल्क चिकित्सा उपकरण सुविधाओं से आज शहर के करीब चार सौ परिवार लाभांवित हो रहे हैं। कुल मिलाकर संत निरंकारी मंडल के इन नेक कार्यों की जितनी भी प्रंशसा की जाए कम होगी। शहर व क्षेत्र के भामाशाहों को बढ़चढ़ कर पीड़ित मानव सेवा के इस यज्ञ में आहुति देकर पुण्य का कार्य करना चाहिए साथ ही मेरा राज्य की सरकार व क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों से भी आग्रह है कि शहर के तमाम मोक्षधामों के जीर्णोद्धार में सरकार की ओर से अधिक से अधिक सहयोग प्रदान करावें !

तिलक माथुर
केकड़ी_अजमेर
9251022331

Leave a Comment

error: Content is protected !!