देश के सैनिकों को राखियां भेजी

केकड़ी 13 अगस्त।निकटवर्ती ग्राम *मण्डा की उच्च प्राथमिक विद्यालय की छात्राओं ने सरहद पर तैनात सैनिकों के लिए अपने हाथों से बनाई राखियां भेजी*
रक्षाबन्धन का पर्व नजदीक आ रहा है। भाई बहन के पवित्र प्रेम के इस पर्व की तैयारियां शुरू हो गई है। रक्षाबन्धन के दिन बहनें अपने भाइयों को राखियां बांधेगी और रक्षा का वचन लेगी, लेकिन देश की सरहद पर कई भाई ऐसे है जो पूरे देश की बहनों की रक्षा कर रहे है। ऐसे ही सैनिक भाइयों को रक्षाबन्धन के लिए मंगलवार को राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय मण्डा के मीना मंच की छात्राओं ने अपने हाथ से बनाई हुई राखियां व शुभकामना संदेश भेजा है।

विद्यालय की शिक्षिका सुनिता चौधरी व कीर्ति परिहार के निर्देशन में छात्राओं ने अपने हाथों से राखियां बनाई व उन्हें लिफाफे में रखकर बाड़मेर जिले के चौहटन में स्थित बीएसएफ की चौकी पर भेजा गया। कुछ बच्चों ने पोस्टकार्ड पर भी शुभकामना सन्देश लिखकर भेजें।

इस अवसर पर विद्यालय के शिक्षक दिनेश वैष्णव ने कहा कि रक्षाबंधन पर्व पर हमारे जवान भाई हमारी सुरक्षा के लिए तैनात रहते हैं, हमारी सुरक्षा की खातिर वे त्यौहार मनाने अपने घर भी नहीं जाते, एेसे में हम सभी का यह कर्तव्य बनता है कि वे जवान भाईयों को खुशी के कुछ पल दें। इससे उन्हें पारिवारिक एहसास होगा। शिक्षक वैष्णव ने इस त्यौहार पर सभी से चीनी राखियों व अन्य सामग्री के बहिष्कार के साथ ही स्वदेशी वस्तुओं को खरीदने पर जोर दिया।

विद्यालय की छात्राओं ने “जय जवान-जय किसान, मेरा भारत-श्रेष्ठ भारत, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, पेड़ लगाओ-जीवन बचाओ, पढ़े चलो-बढ़े चलो, बंधन है रक्षा का-बेटी की सुरक्षा का, राखी नही सन्देश है-तुमसे ही देश है” आदि कई स्लोगन लिखी व तिरंगे के रंग में रंगी सुन्दर-सुन्दर राखियां बनाई। शारीरिक शिक्षक राजेश कुमार उपाध्याय ने भी एक आकर्षक राखी बनाकर बच्चों को बताई।

इस दौरान शिक्षक दिनेश वैष्णव, शारीरिक शिक्षक राजेश कुमार उपाध्याय, अध्यापिका सुनिता चौधरी, कीर्ति परिहार व रीना कुमारी भी उपस्थित थी।

Leave a Comment

error: Content is protected !!