दो हजार से अधिक स्वयं सहायता समूह की महिलाओं ने किया एक साथ घूमर नृत्य

इण्डिया बुक ऑफ रिकॉर्डस में दर्ज हुआ आयोजन
अजमेर, 7 नवम्बर। अन्तर्राष्ट्रीय पुष्कर मेला में महिला सशक्तिकरण की दिशा में जागरूकता पैदा करने के लिए अजमेर जिले ने आज पुनः इतिहास रचा। मेले में जिले भर की स्वयं सहायता समूह की दो हजार से अधिक महिलाओं ने एक साथ घूमर नृत्य किया। जिले की यह अनूठी उपलब्धि इण्डिया बुक ऑॅफ रिकॉर्ड में दर्ज की गई है।
अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त पुष्कर मेले में गुरूवार को इण्डिया बुक रिकॉर्ड बनने के साथ आज का दिन महिलाओ ने ऎतिहासिक बना दिया। जिलेभर के ग्रामीण क्षेत्रों की दो हजार से अधिक महिलाओ ने राजस्थानी लोक कला संस्कृति पर शानदार घूमर नृत्य की सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति देकर आज के दिन को ऎतिहासिक बना दिया। मेला मैदान में बरसात के बावजूद महिलाओ ने घूमर पर नृत्य किया।
घूमर नृत्य में महिलाओं ने गुल्लक भी साथ रखा जो छोटी बचत को प्रोत्साहन देने का संदेश दे रहा था। इस नृत्य की कोरियोग्राफी स्मिता भार्गव ने की। जिला प्रशासन एवं पृथ्वीराज फाउंडेशन के सहयोग से आयोजित इस शानदार प्रस्तुति पर जिला कलक्टर श्री विश्व मोहन शर्मा ने कहा कि महिलाएं आज हर क्षेत्र में आगे हैं। वह जो ठान लेती है उसे पूरा करके छोड़ती है। महिला सशक्तिकरण की दिशा में स्वयं सहायता समूह काफी कारगार हुए हैं। जिनसे अनेक महिलाएं अपने पांव पर खड़ी होकर परिवार को चला रही है।
इस मौके पर इण्डिया बुक ऑफ रिकॉर्ड के प्रतिनिधि श्री भानुप्रताप ने जिला कलक्टर को इस उपलब्धि पर इण्डिया बुक ऑफ रिकॉर्डस में दर्ज होने पर प्रमाण पत्र सौंपा।

रूमा देवी एवं पायल जांगिड़ ने की महिलाओं से सीधी बात
पुष्कर मेला में गुरूवार को नारी शक्ति पुरस्कार प्राप्त श्रीमती रूमा देवी तथा चैंज मैकर पुरस्कार प्राप्त सुश्री पायल जांगिड़ ने भी स्वयं सहायता समूह की महिलाओं से सीधी बातचीत कर उन्हें अपने अनुभव सुनाएं।
बाडमेर जिले की सामाजिक जनचेतना विकास केन्द्र की श्रीमती रूमा देवी ने बताया कि उन्होंने सुई धागा से अपनी यात्रा प्रारम्भ की और आज लगभग 22 हजार से अधिक महिलाएं उनके समूह से जुड़ी हुई है जो अपने परिवार का पालन कर रही है। उन्होंने बताया कि हर महिला एवं बच्चे के चेहरे पर मुस्कान हो यही उनका प्रयास रहता है। दो -तीन महिलाओं से स्वयं सहायता समूह प्रारम्भ करने वाली रूमा देवी ने धीरे -धीरे अपना कार्य बढ़ाया। डिजाईनिंग के क्षेत्र में स्वयं प्रयास कर आगे बढ़ी। उनका कहना है समूह में नवाचार कर ही आगे बढ़ा जा सकता है। महिलाएं कुछ भी ठान ले तो उसे पूरा करती है। हिम्मत के साथ स्वयं को ही आगे बढ़ना होता है। डिजाईनिंग के क्षेत्र वे स्वयं डिजाईन करती है।
उन्होंने कहा कि पुष्कर में भी महिलाओं को आगे बढ़ना होगा। उन्होंने बताया कि बाडमेर की कला की स्टॉल पुष्कर मेले में भी लगायी गई है । महिलाएं अपने प्रण पर अड़ी रहे, खड़ी रहे तो निश्चित रूप से उसे सफलता मिलती है। पुष्कर में लगायी स्टॉल पर उनकी डिजाईनिंग सामग्री इस बात का प्रमाण है।
इस मौके पर बाल विवाह एवं बाल श्रम पर कार्य करने वाली अलवर जिले की सरसा गांव की सुश्री पायल जांगिड़ मात्र 17 वर्ष की है। इन्होंने अपने कार्यों से देश का नाम रोशन किया है। हाल ही उन्हें न्यूयॉर्क में चैंज मैकर पुरस्कार से नवाजा गया था। उन्होंने अपने अनुभव बताते हुए कहा कि पहले उन्हें समाज में तवज्जो नहीं मिलती थी। लेकिन उनके कार्यों के माध्यम से उन्हें पहचान मिली। इसके साथ ही सम्मान से नवाजे जाने के पश्चात समाज ने अपने दिलों में बसा लिया। वे अपना गुरू नोबल पुरस्कार प्राप्त श्री कैलाश सत्यार्थी को बताती है।
इस मौके पर जिलेभर से आई राजीविका स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं ने अपने अनुभव भी बांटे। जिनमें बैंक सखी सीमा शर्मा, पशु सखी कैलाश देवी, कृषि सखी रेखा, क्लस्टर मैनेजर निर्मला मीना एवं मीना कुमारी, देवनारायण स्वयं सहायता समूह की ओम कंवर प्रमुख थी।
प्रारम्भ में पुष्कर की उपखण्ड अधिकारी एवं मेला मजिस्ट्रेट देविका तोमर ने सभी का स्वागत किया। इस मौके पर जिला कलक्टर श्री विश्व मोहन शर्मा, जिला पुलिस अधीक्षक कुं. राष्ट्रदीप, उपवन संरक्षक श्रीमती सुदीप कौर, उपखण्ड अधिकारी अर्तिका शुक्ला (अजमेर), आईएएस प्रशिक्षु नित्या के, राजीविका के जिला परियोजना प्रबंधक श्री उमर दराज पठान एवं संबंधित अधिकारी भी उपस्थित थे।

पुष्कर मेला 2019
शुक्रवार को मामे खान लाईव कन्सर्ट सहित होंगे अनेक कार्यक्रम
अजमेर, 7 नवम्बर। अन्तर्राष्ट्रीय पुष्कर मेला 2019 में शुक्रवार 8 नवम्बर को अनेक प्रतियोगिता एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन होगा। जिनमें मामे खान लाईव कन्सर्ट की प्रस्तुति होगी।
जिला कलक्टर श्री विश्व मोहन शर्मा ने बताया कि 8 नवम्बर को प्रातः 8.30 बजे आध्यात्मिक पदयात्रा का आयोजन गुरूद्वारे से मुख्य बाजार होती हुई मेला मैदान तक होगा। इसके बाद प्रातः 11 बजे शान ए मूंछ प्रतियोगिता, प्रातः 11.30 बजे पगड़ी बांधना एवं तिलक प्रतियोगिता, दोपहर एक बजे अन्तर पंचायत समिति खेल कूद, सांय 5 बजे गिर एवं क्रॅास ब्रीड पशु प्रदर्शनी का उद्घाटन, सांय 5.30 बजे विकास प्रदर्शनी का उद्घाटन, सांय 6 बजे महाआरती, सांय 6.30 बजे दिनेश पाराशर एवं रघु पाराशर द्वारा प्रस्तुति, सांय 7 बजे मामे खान लाइव कन्सर्ट तथा सांय 7.30 बजे पुराने रंगजी मन्दिर पर क्लासीकल डांस फेस्टिवल का आयोजन होगा।

स्काउट स्थापना दिवस पर स्टीकर का विमोचन
अजमेर, 7 नवम्बर। जिला कलक्टर श्री विश्व मोहन शर्मा ने गुरूवार को कलेक्ट्रेट में स्काउट स्थापना दिवस पर स्टीकर का विमोचन किया। इस मौके पर श्री महेन्द्र विक्रम सिंह एवं श्री मनोज शर्मा सहित स्काउट एवं गाईड के स्थानीय पदाधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Comment

error: Content is protected !!