विधानसभा में उठा सीवरेज चार्ज वसूली का मुद्दा

प्रो. वासुदेव देवनानी
अजमेर, 11 फरवरी।
पूर्व शिक्षा मंत्री एवं अजमेर उत्तर विधायक वासुदेव देवनानी ने मंगलवार को राजस्थान विधानसभा में अजमेर शहर में पानी के बिलों के साथ बिना सीवरेज कनेक्शन के वसूले जा रहे सरचार्ज का मामला उठाया।
देवनानी ने राजस्थान विधानसभा की प्रक्रिया एवं कार्य संचालन संबंधित नियम 295 के तहत यह मामला उठाते हुए सरकार से कहा कि अजमेर शहर में अभी तक कई क्षेत्रों में सीवरेज लाईन नहीं बिछाई जा सकी है तथा जहां पर बिछाई हुई है उनमंे से कई क्षेत्रों में लाईन में रही तकनीकी कमियों के चलते कई मकानों के कनेक्षन नहीं हो सके है, परन्तु वर्ष 2017 से नगर निगम अजमेर द्वारा जलदाय विभाग के पानी के बिलों के माध्यम से शहर के सभी उपभोक्ताओं से सीवरेज सरचार्ज की वसूली की जा रही है।
उन्होंने कहा कि ऐसे उपभोक्ताओं के पानी के बिल में भी सीवरेज सरचार्ज जुड़कर आ रहा है जिनके क्षेत्र में ना तो सीवरेज लाईन बिछी हुई है अथवा लाईन चालू अवस्था में नहीं है या फिर तकनीकी कारणों से उन्हें अभी तक कनेक्षन नहीं दिये गये है। इनमें से जिन उपभोक्ताओं ने नगर निगम में चक्कर काट कर उक्त वसूली पर रोक हेतु आवेदन किये है उनके पानी के बिलों में तो उक्त वसूली हटा ली गई परन्तु इससे पूर्व वसूली जा चुकी राषि लौटाने के सम्बंध में कोई कार्यवाही नहीं हुई तथा जो उपभोक्ता जानकारी व समयाभाव के कारण निगम में जाकर आवेदन नहीं दे सके है ऐसे उपभोक्ताओं से उक्त वसूली अभी भी जारी है।
देवनानी ने विधान सभा में कहा कि इस प्रकार की वसूली को किसी भी स्थिति में न्यायसंगत नहीं बताया जा सकता। नगर निगम को अपने रेकार्ड के अनुसार सीवरेज कनेक्षनधारियों से ही सरचार्ज की वसूली करनी चाहिए थी तथा वसूली प्रारम्भ करने से पहले वंचित मकानों में सीवरेज कनेक्षन दिये जाने चाहिए थे।
उन्होने सदन में सरकार से मांग की कि अजमेर शहर में बिना कनेक्षन के वसूले जा रहे सीवरेज सरचार्ज पर तत्काल रोक लगाई जाए साथ ही ऐसे उपभोक्ताओं से अब तक वसूली गई राषि भी उन्हें वापिस लौटाई जाए।

Leave a Comment

error: Content is protected !!