कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से बचाने के लिये रेलवे का निर्णय

सभी यात्री रेलसेवाओं का संचालन 31 मार्च तक बंद
रेलवे ने देश में कोरोना वायरस के बढते संक्रमण को देखते हुये अजमेर मंडल सहित सम्पूर्ण देश की सभी यात्री रेलसेवाओं के संचालन को दिनांक 31.03.2020 तक बंद करने का निर्णय लिया है। इसके अनुसार-
1. रेलवे की प्रारम्भिक स्टेशन से रवाना होने वाली सभी मेल/एक्सप्रेस, इंटरसिटी, प्रीमियम ट्रेने तथा सभी सवारी गाडियां दिनांक 31.03.2020 को 24.00 बजे तक रद्द रहेगी।
2. दिनांक 22.03.2020 को 04.00 बजे से पूर्व यात्रा प्रारम्भ करने वाली रेलसेवाएं अपने गंतव्य तक संचालित की जायेगी।
3. देश के विभिन्न भागो में आवश्यक सामग्री की आपूर्ति के लिये मालगाडियों का संचालन जारी रहेगा।
4. सभी रद्द की गई ट्रेनों के यात्रियों की सुविधा के लिये टिकट के धन वापसी हेतु दिनांक 21.06.2020 तक प्राप्त करने की विशेष और आसान व्यवस्था की गई है।

मॉक ड्रिल कर जांची रेलवे हॉस्पिटल की कोरोना वायरस से सम्बंधित व्यवस्थाएँ,
आज दिनाँक 22.03.2020 को रेल प्रशासन द्वारा मॉक ड्रिल कर कोरोना वायरस संदिग्ध का पता चलने या पता लगाने हेतु क्या कैसे और किस तरह से प्रक्रिया अपनायी जानी चाहिए, इसका आँकलन किया गया। जिसमें इस व्यवस्था से जुड़ा सभी संबंधित स्टाफ खरा उतरा। इसके अंतर्गत कोरोना संदिग्ध रोगी देखभाल सेंटर में सभी सुविधाओं- ओ पी डी सलाह, जांच और उपचार तथा अलग एम्बुलेंस की व्यवस्था को परखा गया।
एक अन्य व्यवस्था के अंतर्गत रेलवे अस्पताल में आने वाले रोगियों के लिए दिनाँक 23.3.2020 से अगले आदेश तक ओपीडी का समय 9 बजे से 4 बजे ( बीच मे 1 से 2 बजे,1 घण्टे के भोजनावकाश सहित) तक किया गया है । अब तक ओ पी डी दो शिफ्ट सुबह 9 से 1 बजे और शाम 5 से 6.30 बजे की शिफ्ट चलती थी। रोगियों की सुविधा व इलाज हेतु नई ओ पी डी खुलने की अवधि पूर्व अवधि से 30 मिनिट अधिक की गई है।
रेल प्रशासन रेलवे अस्पताल इलाज हेतु आने वाले रेल कर्मियों व उनके परिजनों से अपील करता है की अति आवश्यक होने पर ही रेलवे हॉस्पिटल आएं, रूटीन चेक हेतु रेलवे हॉस्पिटल आने से बचें।साथ ही अस्पताल में बार-बार आने से बचने के लिए सभी बुढ़ापे की पुरानी बीमारियों के रोगियों को 2 महीने के लिए दवाएं जारी की जाएंगी।

Leave a Comment

error: Content is protected !!