बोर्ड के परीक्षा दस्तावेजों में संशोधन के लिए ऑनलाईन सुविधा

अजमेर 11 जून। राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने परीक्षा दस्तावेजों में संशोधन चाहने वाले अभ्यर्थियों के लिए कोविडकाल में बड़ी सकारात्मक पहल की है। परीक्षा दस्तावेजों में संशोधन चाहने वाले अभ्यर्थियों को बोर्ड के चक्कर लगाने की बजाए यह कार्य ऑनलाईन कर दिया जायेगा। राजस्थान बोर्ड परीक्षा दस्तावेजों में ऑनलाईन संशोधन की सुविधा उपलब्ध कराने वाला देश का पहला बोर्ड है।
बोर्ड के अध्यक्ष डॉ. डी.पी. जारोली ने बताया कि बोर्ड परीक्षा में प्रतिवर्ष बैठने वाले लाखों अभ्यर्थियों को परिणाम घोषणा के पश्चात् कई वर्षों बाद यह महसूस होता है कि उनके परीक्षा दस्तावेजों में स्वयं नाम, पिता अथवा माता के नाम में त्रुटि है और संशोधन की आवश्यकता है तो वह बोर्ड के मुख्यालय आते है। वांछित दस्तावेजों के अभाव में चाहा गया संशोधन बोर्ड द्वारा स्वीकार नहीं किया जाता। इस कारण आवेदक को बोर्ड कार्यालय के चक्कर लगाने पडते थे। इन सब झंझटों से मुक्ति के लिए राजस्थान बोर्ड ने परीक्षा दस्तावेज संशोधन प्रक्रिया को ऑनलाईन करने का निर्णय लिया है। नई प्रक्रिया के अनुसार स्वयं के नाम अथवा पिता के नाम अथवा माता के नाम अथवा उपनाम में संशोधन अथवा जन्मतिथि में संशोधन के लिए आवेदक को बोर्ड की परीक्षा शाखा की ई-मेल आई.डी. bserddexam2@gmail.com पर प्रार्थना पत्र, अंकतालिका अथवा प्रमाण पत्र (जिसमें संशोधन चाहा गया है), शाला रिकॉर्ड अथवा स्कॉलर रजिस्टर्ड, आठवीं बोर्ड की अंकतालिका व प्रवेश आवेदन पत्र व पूर्व शाला का स्थानान्तरण पत्र स्कैन कर अपलोड करना होगा।
बोर्ड कार्यालय द्वारा उक्त मेल प्राप्त होने के पश्चात् प्रारम्भिक जांच हेतु शाखा में भेजा जायेगा। यदि प्रारम्भिक जांच में यह पाया गया कि संशोधन उचित है तो 24 घण्टे में प्रार्थना पत्र में दिये गये ई-मेल आई.डी. अथवा मोबाइल नम्बर पर निर्धारित संशोधन शुल्क ऑनलाईन पोर्टल (Apply online and pay for documents) पर जमा कराकर चालान निकालने हेतु निर्देशित किया जायेगा।
यदि संशोधन स्वयं/पिता/माता के नाम में है, तो उक्त चालान तथा मूल अंकतालिका/प्रमाण पत्र बोर्ड कार्यालय को स्पीड पोस्ट से उप निदेशक (परीक्षा- ाा) माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान, अजमेर को प्रेषित करना होगा। जन्मतिथि में संशोधन का प्रकरण है तो प्रारम्भिक जांच में उचित पाए जाने पर छात्र को निर्धारित दिवस को मूल शाला रिकॉर्ड के साथ बोर्ड कार्यालय में उपस्थित होने के लिए निश्चित तिथि और समय दिया जायेगा। जांच के पश्चात् विद्यार्थी को चाहा गया संशोधित दस्तावेज 15 कार्यदिवस में उसके निवास के पते पर स्पीड पोस्ट के जरिये भेज दिया जायेगा। बोर्ड ने इस हेतु एक हेल्पडेस्क भी बनाई है, जिसकी दूरभाष संख्या 0145-2945678 एवं 0145-2627376 है।
डॉ. जारोली ने बताया कि कोविडकाल में विद्यार्थियों और शिक्षकों के सुविधार्थ बोर्ड की अनेक व्यवस्थाओं को ऑनलाईन किया है, जिसमें मुख्यतः ऑनलाईन प्रतिलिपि, मार्कशीट/प्रमाण पत्र हेतु आवेदन स्वीकार करना, बोर्ड सम्बद्धता हेतु ऑनलाईन आवेदन, बोर्ड परीक्षा से जुडे़ शिक्षकों और परीक्षा केन्द्रों के ऑनलाईन भुगतान किया जाना प्रमुख है। बोर्ड ने पिछले एक वर्ष में राजस्थान बोर्ड की विगत परीक्षाओं में प्रविष्ट एक करोड़ से अधिक परीक्षार्थियों के परीक्षा प्रमाण पत्र डिजीलॉकर में उपलब्ध करा दिये है। इसके अतिरिक्त बोर्ड परीक्षकों से परीक्षार्थियों के प्रायोगिक, सैद्धांतिक और सत्रांक के प्राप्तांक भी ऑनलाईन मंगवाने की प्रक्रिया प्रारम्भ की जा चुकी है।

उप निदेषक (जनसम्पर्क)

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

error: Content is protected !!