क्या आप ज्योतिष में विश्वास करते हैं?

हम जीवन में किसी भी अंधविश्वास पर विश्वास क्यों करते हैं, उपरोक्त प्रश्न का उत्तर उस दायरे में ही निहित है। लोग ज्योतिष में विश्वास करते हैं क्योंकि यह कई प्रकार की वांछनीय बातें प्रदान करता है जैसे जानकारी और भविष्य के बारे में आश्वासन, उनकी परेशानियों को हल करने, और अपने साथियों, परिवार और … Read more

*भूल*

बिट्टू रानी बहुत दिनों से , गई आज स्कूल । सोच रही थी मन ही मन में, हुई अरे कुछ भूल । तभी अचानक मुख पर उसने, फेरा अपना हाथ । घर पर अपने मास्क लगाने , दौड़ी हाथोहाथ । – नटवर पारीक

कोरोना-मुक्ति: कृतज्ञता की शक्ति को जगाएं

कोरोना महामारी ने समूची जीवनशैली, सोच एवं परिवेश को बदल दिया है। इस बदलते परिवेश और बदलते मूल्यों ने समाज में एक नई आकांक्षा को जन्म दिया और वह आकांक्षा है नाउम्मीदी में से उम्मीद एवं निरोगी एवं स्वस्थ जीवन। इस आकांक्षा के लिए जरूरी है आप जीवन में शुक्रिया कहना, धन्यवाद देना और आभार … Read more

*आजादी से पूर्व अजमेर*

अपनी भौगोलिक स्थिति और ऐतिहासिक एवं धार्मिक द्रष्टि से महत्वपूर्ण अजमेर का अपना विशिष्ठ महत्व है । जिस समय जयपुर और उदयपुर का नामो-निशान तक नहीं था , उस समय भी अजमेर की ख्याति देश भर ही नहीं अपितु दुनियां में सब तरफ थी , मुगल काल में भी अकबर और जहाँगीर के समय भी … Read more

कोरोना प्रकोप से योग की स्वीकार्यता बढ़ी

भारतीय योग एवं ध्यान के माध्यम से भारत दुनिया में गुरु का दर्जा एवं एक अनूठी पहचान हासिल करने में सफल हो रहा है। इसीलिये समूची दुनिया के लिये अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस स्वीकार्य हुआ है। इसके लिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सूझबूझ एवं प्रयासों से अपूर्व वातावरण बना है। आज कोरोना महामारी के कारण जीवन … Read more

एक निवेदन

अब जबकि लाखों कुशल-अकुशल मजदूर, कर्मचारी बेरोजगार होकर वापस गांवों-कस्बों में लौट गए है और उन्हें काम की भी आवश्यकता है. इधर केन्द्र सरकार भी उनके लिए गरीब कल्याण रोजगार योजना लेकर आई है. इसी कडी में श्री पीयूष गोयल रेल मंत्री ने भी कहा है कि मनरेगा के तहत ऐसे लोगों को रेलवे काम … Read more

अध्यात्मक्रांति के सूत्रधार थे आचार्य महाप्रज्ञ

आचार्य महाप्रज्ञ जन्मशताब्दी पर विशेष सदियों से भारत वर्ष की यह पावन धरा में संबुद्ध महापुरुषों ने, साधु-संतों ने समाधि के स्वाद को चखा और उस अमृत रस को समस्त संसार में बांटा। कहीं बुद्ध बोधि वृक्ष तले बैठकर करुणा का उजियारा बांट रहे थे, तो कहीं महावीर अहिंसा का पाठ पढ़ा रहे थे। यही … Read more

*जागो मेरे देश*

चीन बना शैतान,देश पर संकट भारी , इधर पाक-नेपाल , बन रहा है बीमारी । पहले भी हमने, ग़फ़लत में धोखा खाया , भाई- भाई का नारा भी काम न आया । जागो मेरे देश , शत्रु को सबक सिखाओ , शैतानों का नक्शे पर से नाम मिटाओ । – नटवर पारीक, डीडवाना

किरदार ऐसा कि दुश्मन भी तारीफ करने मजबूर हो गए # रानी लक्ष्मीबाई

आसान नहीं होता एक महिला होने के बावजूद पुरूष प्रधान समाज में विद्रोही बनकर अमर हो जाना। आसान नहीं होता एक महिला के लिए एक साम्राज्य के खिलाफ खड़ा हो जाना। आज हम जिस रानी लक्ष्मीबाई के बलिदान दिवस पर उन्हें श्रद्धा पुष्प अर्पित कर रहे हैं वो उस वीरता शौर्य साहस और पराक्रम का … Read more

ज्योतिष विज्ञान है या अंधविश्वास?

कुछ लोग ज्योतिष को अंधविश्वास मानते हैं वहीं ज्योतिष को विज्ञान मानने वालों की भी कमी नहीं है। मेरा मानना है कि ज्योतिष पूर्ण विज्ञान है क्योंकि हमारी सनातन संस्कृति का आधार वेद है, जो पूर्ण विज्ञान है और ज्योतिष वेदों का छठा अंग माना जाता है…। ज्योतिष दो शब्दों ज्योति+अष्क से मिलकर बना है, … Read more

error: Content is protected !!