युवा पीढ़ी का आव्हान

जाग उठो ,ओ नरसिंह जवानों ! हिंद देश के रहने वालों ! नवजागरण की अब बेला आई , कितने ही शत वर्ष हुए सोते , ली नहीं अब तक अंगड़ाई । नवभारत के कर्णधार हो तुम ! ओ देश के नौनिहालों ! निकल पड़ो तुम आंधी बनकर ओ भारत के रखवालो ! भारत में फैल … Read more

जीवनशैली में बदलाव से बढ़ रहे कैंसर के मरीज

पिछले कुछ वर्षों से भारत में कैंसर मरीजों की संख्या में 7.5 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली है. इसका प्रमुख कारण खराब जीवन शैली जैसे कि एल्कोहॉल, शराब, सिगरेट, पान मसाला या तंबाकू आदि का प्रयोग करना है.एक रिपोर्ट से यह जानकारी सामने आई है कि भारत में जो कैंसर सबसे ज्यादा पाए जाते … Read more

संत रविदास के के जीवन में घटित प्रेरणादायक और चमत्कारिक घटनायें Part 1

रवीदासजी ने अपने एक ब्राहमण मित्र की रक्षा एक भूखे शेर से की थी जिसके बाद दोनों मित्र बन गये। शहर के दूसरे ब्राहमण इस दोस्ती से जलते थे सो उन्होंने इस बात की शिकायत राजा से कर दी। रविदास जी के उस ब्राहमण मित्र को राजा ने अपने दरबार में बुलाया और भूखे शेर … Read more

मेरी भावना

दिल में नई उमंगे जागे , मिलजुल कर हम खुशियां बांटे । अशांति के सब बादल छंट जाएं, घर-घर खुशी के दीप जले । आगे बढ़ते रहें जीवन में , स्नेह- शांति के सुमन खिले । कामयाबी की छू ले बुलंदी , खुशियां हमें अपार मिले । भारतवासी सब रहे चैन से , योगक्षेम का … Read more

बजट : बजा दिया “घंटा”

“उम्मीद की किरण चमकती देखने से वंचित हमलोग” डंका नहीं बजा। कुछ तो बजट में बजाना था। सो एक ऐसा “घंटा” बजा दिया जिसकी प्रतिध्वनि सुनने से बचने के लिए कोई भी आय वर्ग तैयार नहीं। सच में, आर्थिक सुधारों और बेरोजगारी दूर करने के प्रयासों की श्रृंखला न्यूनतम, निम्न और मध्यम आय वर्ग को … Read more

राजनाथ सिंह की बढ़ती सक्रियता का सबब

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह इनदिनों एक अलग तरह की सक्रियता को लेकर चर्चा में है। उनका राजनीतिक प्रभुत्व एवं कद में उछाल भले ही भारतीय जनता पार्टी के एक वर्ग के लिये हैरानी का कारण बन रहा हो, लेकिन इसके दूरगामी सकारात्मक परिणाम पार्टी के हित में होने वाले हैं। इन्हीं राजनाथ सिंह के कारण नरेन्द्र … Read more

गांधी ने फिर बचा लिया

ध्यान से सुनो! लोकतंत्र का पौराणिक अट्टहास..! हर पल दुर्घटना घटने के अंदेशे, हमें कभी सोते से जागते हैं,तो कभी जागते हुए सुला देते हैं। 30 जनवरी जब देश गांधी की शहादत को याद कर रहा था एक बार फिर गांधी में हमें अपने तरीके से बचा लिया। पाकिस्तान, हिंदुत्व, इस्लाम की तर्ज़ पर शाहीन … Read more

आस्था से अर्थव्यवस्था के विकास की गंगा-यात्रा

गंगा की सफाई, उसे प्रदूषण मुक्त करने एवं गंगा के माध्यम से आर्थिक विकास, धार्मिक आस्था एवं पर्यटन की संभावनाओं को तलाशने की दृष्टि से वर्तमान उत्तरप्रदेश सरकार एवं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रयास रंग दिखाने लगे हैं। इस संदर्भ में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 27 से 31 जनवरी तक राज्य के … Read more

गांधी की याद में …

*कविता -1* *गांधी ,देह से इतर* धाय! धाय!!धाय!!! करती तीन गोलियां उतर गई थी सीने में उनका धुँआ आज भी सूरज की आंखों में चुभ रहा है है! राम की गूँज सन्नाटों में गूंज रही है कुछ झंडे कुछ नारें कुछ मठ खुश हैं एक देह पर विजय पाकर देह से इतर बहुत कुछ है … Read more

दुनिया को पहचान ले बेटा

इंसानों की फितरत में शैतानी रहती है, सीधे बंदे को ये दुनिया पागल कहती है। लोगों की रग-रग में फैली चालाकी को जान ले बेटा. . . . ! दुनिया को पहचान ले बेटा. . . . ! मतलब होगा तो ये दुनिया मीठा-मीठा बोलेगी, स्वार्थ की तराजू पर तेरे सारे फायदे तौलेगी, अपने दिल … Read more

वसंत पंचमी पर्व विशेष

ब्रह्मवैवर्त पुराण तथा देवीभागवत पुराण के अनुसार जो मानव माघ मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि के दिन संयमपूर्वक उत्तम भक्ति के साथ षोडशोपचार से भगवती सरस्वती की अर्चना करता है, वह वैकुण्ठ धाम में स्थान पाता है। माघ शुक्ल पंचमी विद्यारम्भ की मुख्य तिथि है। “माघस्य शुक्लपञ्चम्यां विद्यारम्भदिनेऽपि च।” श्रीकृष्ण ने सरस्वती से … Read more

error: Content is protected !!