अजमेर सीट से लोकसभा उप चुनाव लड़ सकती है आनंदपाल की मां?

आनंदपाल एनकाउंटर मामले में सीबीआई जांच ना होने के फैसले ने राजपूत समाज को दिया झटका
राजे सरकार से नाराज चल रही करणी सेना उप लोकसभा चुनाव में दे सकती है भाजपा सरकार को झटका

ajmer parliyament byelectionराजस्थान का कुख्यात गैंगस्टर आनंदपाल के एनकाउंटर के बाद राजपूत समाज पुलिस द्वारा किए गए एनकाउंटर को फर्जी मानते हुए सड़कों पर उतर आया था। भारी जन सैलाब को देखते हुए सरकार ने आनंदपाल एनकाउंटर की जांच सीबीआई को देने की मांग को स्वीकारा, वही मामले में अब केंद्रीय सरकार के पैर पीछे लेने से सीबीआई भी मामले को लेने से इंकार कर रही है जोकि आनंदपाल के परिवार के साथ साथ राजपूत समाज के लिए भी एक झटका साबित हो सकता है। गौरतलब है कि आनंदपाल एनकाउंटर मामले की जांच करने से सीबीआई ने मना कर दिया है। इससे आनंदपाल के परिजनों और इस मांग को लेकर आंदोलन कर रहे राजपूत समाज को झटका लगा है। हाईकोर्टके बाद सीबीआई ने अब राज्य सरकार को भी आनंदपाल सिंह एनकाउंटर की जांच करने से इनकार कर दिया है। बहुचर्चित प्रकरण में राजपूत एवं रावणा राजपूत समाज के कड़े विरोध के चलते राज्य सरकार ने मामले की जांच सीबीआई से कराने की सिफारिश केंद्र से की थी। केंद्र ने राज्य की इस सिफारिश को लौटा दिया है। गृह विभाग ने इसकी पुष्टि की है। वहीं माना जा रहा है कि सीबीआई ने करीब डेढ़ महीने पहले ही इनकार कर दिया था। तो वहीं दूसरी ओर राजे सरकार से नाखुश चल रहा राजपूत समाज आगामी लोकसभा उपचुनाव में भाजपा सरकार को करारा झटका दे सकता है। सूत्रों की माने तो अजमेर लोकसभा उपचुनाव में भाजपा को झटका देने के लिए अपना प्रत्याशी मैदान में उतार सकता है वही सूत्रों के अनुसार यह भी माना जा रहा है कि यह प्रत्याशी और कोई नहीं खुद आनंदपाल की मां हो सकती है। जो कि भाजपा सरकार के लिए अजमेर लोकसभा उपचुनाव के लिए बड़ा खतरा साबित हो सकता है हालांकि करणी सेना ने इस चीज़ की पुष्टि नहीं की है एक अखबार के मुताबिक राजपूतों की राज्य सरकार से नाराजगी बनी हुई है। राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना की ओर से अजमेर लोकसभा उपचुनाव में गैंगस्टर आनन्दपाल की मां को भी मैदान में उतारा जा सकता है। अजमेर में राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखदेवसिंह शेखावत गोगामेड़ी ने यह चेतावनी दी। हालांकि बाद में उन्होंने सेना के किसी सदस्य को चुनाव लड़ाए जाने की बात कहकर पत्ते खोलने से गुरेज किया। कुछ दिनों पूर्व पुष्कर रोड स्थित लालगढिय़ा पैलेस में पत्रकारों से बातचीत के दौरान गोगामेड़ी ने सरकार को आगाह करते हुए कहा कि करणी सेना सर्वसमाज की राय लेकर अपना कोई उम्मीदवार उपचुनाव में उतार सकती है। इस दौरान एकबारगी उन्होंने आनन्दपाल की मां को भी चुनाव मैदान में उतारने की बात कही। बाद में तुरंत कहा कि सेना के किसी सदस्य को भी उतारा जा सकता है। लेकिन अगर ऐसा हुआ तो अजमेर लोकसभा उपचुनाव में भाजपा सरकार को करारी मात मिल सकती है।

पत्रकार कमलेश शर्मा की कलम से
facebook, whats app

Leave a Comment

error: Content is protected !!