जिला स्तरीय सम्मान को लेकर मचा बवाल

गणतंत्र दिवस पर दिए गए जिला स्तरीय सम्मान को लेकर बवाल मच गया है। सोशल मीडिया पर यह मसला खूब गरमा गया है। कहा जा रहा है कि ऐसे-ऐसे लोगो को सम्मान दे दिया गया है, जो कत्तई डिजर्व नहीं करते और किन्हीं प्रभावशाली लोगों के दम पर सम्मान हासिल करने में कामयाब हो गए हैं। चर्चा है कि ऐसे लोग आवेदन के बाद भी सम्मान पाने वालों की सूची में शामिल नहीं किए गए, जो कि वाकई डिजर्व करते थे, मगर उनकी ठीक से सिफारिश नहीं हो पाई, इस कारण वंचित रह गए। स्वाभाविक रूप से उनमें रोष है। हालांकि पूर्व में भी इसी प्रकार सिफारिशी लोगों सम्मानित होने की घटनाएं हो चुकी हैं, मगर संभवत: पहली बार खुल कर आरोप लग रहे हैं कि जिला प्रशासन ने जिला स्तरीय सम्मान की कद्र दो कोड़ी की कर दी है। खास करके उन सम्मानित लोगों को तकलीफ हो रही है, जो कि पात्रता के कारण पूर्व में सम्मानित हो चुके हैं। पिछले कुछ वर्षों से इस सम्मान को लेकर छिटपुट विवाद होता रहा है, मगर इस बार लगता है कि यह मसला तूल पकड़ सकता है।
-तेजवानी गिरधर
7742067000

Leave a Comment

error: Content is protected !!