आखिर कब तक पकिस्तान हाई कमिश्नर भारत का अपमान करता रहेगा ?

rakesh bhattअब्दुल बासित भारत में पाकिस्तान के राजदूत की हैसियत से दिल्ली में रहते है । यह हमारे देश में रहकर , हमारे देश का ही अन्न खाकर हमारे भारत के खिलाफ ही हर वो  हरकत करते है जिससे देश के दुश्मनो को बढ़ावा मिलता है ।आज भी पाकिस्तान दिन के  उपलक्ष्य में बासित ने एक बार फिर अपनी उसी सोच को उजागर किया जिसमे वह भारत से दोस्ती नहीं बल्कि दुश्मनी निभाने के लिए नजर आती है । दोस्तों अब्दुल बासित ने भारत सरकार के विरोध के बावजूद उस मसर्रत आलम को दिल्ली में भोज करने के लिए आमंत्रित किया जो भारत के खिलाफ ना सिर्फ जहर उगलता है बल्कि कश्मीर के युवको को आतंकवादी बनाकर इस देश के खिलाफ साजिश भी रचता है । अभी हाल ही में इसी मसर्रत आलम की रिहाई के बाद देशभर में संसद से लेकर सड़क तक जबरदस्त हंगामा हो चूका है । लेकिन भारत के विरोध और भारतीय नागरिको की भावनाओ से बासित अली को कोई लेना देना नहीं है । उसने आज ना सिर्फ मसर्रत आलम को बल्कि सभी अलगाववादी नेताओ को भी खाने पर बुलाया जो हमेशा से ही पाकिस्तान की हिमायत करते आये है ।  खास बात यह है कि बासित ने यह हरकत पहली बार नहीं की है । इससे पहले भी वह भारत सरकार के ऐतराज के बावजूद समय समय पर उन्हें ठेंगा दिखाते हुए अलगावादी नेताओ से दिल्ली में ही मुलाक़ात कर चूका है ।
मेरा सवत देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से है की आखिर क्यों बार बार बासित की देश विरोधी हरकतों को नजर अंदाज किया जा रहा है । क्यों बार बार  उसकी ऐसी नापाक हरकतों के बावजूद उसके खिलाफ कार्यवाही नहीं की जा रही । राजदूतों के लिए बने नियमो की खुलेआम धज्जियाँ उड़ाने के बाद भी क्यों अब्दुल बासित जैसे सांपो को देश की राजधानी में ही रखकर सरकार दूध पिला रही है । एक आम आदमी होने के बावजूद बासित की हरकतों पर हमें इतनी नाराजगी है तो क्यों देश की सबसे मजबूत सरकार कार्यवाही करने में हिचक रही है । यदि इस बार भी इसकी गलती को नजर अंदाज किया गया तो वो दिन दूर नहीं जब यह बासित अली आई एस आई एस के आतंकियों को भी दिल्ली के ऑफिस में बिठाकर बिरयानी खिलायेगा और हैम सब तमाशबीन बनकर देखने के अलावा कुछ नहीं कर सकेंगे ।

राकेश भट्ट   –     एडिटर 
पॉवर ऑफ़ नेशन 
हिंदी न्यूज मेगज़ीन

Leave a Comment