जुमलों की जलेबी ….!!

तारकेश कुमार ओझा
बकलौली की बूंदी
राहत के रसगुल्ले
जुमलों की जलेबी
आश्वासनों के गुलाब जामुन
तृप्त हो गई जनता
अब बस भी करो भले मानुष
बचपन में भूखे पेट बहुत सुनी
राजा – महाराजा की कहानियाँ
ठंड से ठिठुरता शरीर
बातों में रजाइयां

तारकेश कुमार ओझा

लेखक पश्चिम बंगाल के खड़गपुर में रहते हैं और वरिष्ठ पत्रकार हैं।
संपर्कः 9434453934, 9635221463

Leave a Comment

error: Content is protected !!