पिता

नटवर विद्यार्थी
सबसे प्यारा नाम पिता ,
महा सहारा नाम पिता ,
जीवन रूपी सागर में ,
बड़ा किनारा नाम पिता ।
मान और सम्मान पिता ,
ईश्वर का वरदान पिता ,
लम्बी- चौड़ी दुनिया में ,
हम सबकी पहचान पिता ।
रोटी की है खान पिता ,
कपड़ा और मकान पिता ,
जहाँ ज़रूरत खड़ा मिले ,
सचमुच है भगवान पिता ।
– नटवर पारीक

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

error: Content is protected !!