लम्बित राजस्व प्रकरणों का होगा निस्तारण, होंगे अन्य कार्य भी

राजस्व लोक अदालत-न्याय आपके द्वार-2016 9 मई से 1 जुलाई तक
baran samacharबारां, 2 मई। मुख्यमंत्री की बजट घोषणा वर्ष 2015-16 के परिप्रेक्ष्य में इस वर्ष भी विभिन्न राजस्व न्यायालयों में लम्बित प्रकरणो के त्वरित निस्तारण हेतु 9 मई से 1 जुलाई तक ग्राम पंचायत वार राजस्व लोक अदालतों का आयोजन किया जा रहा है। इस दौरान सीमाज्ञान, खातेदारी, नामान्तरण आदि कार्यों के साथ ही नए राजस्व ग्राम हेतु प्रस्ताव भी तैयार किए जाएंगे।
अभियान के प्रभारी एडीएम नरेष मालव ने बताया कि राजस्थान काष्तकार अधिनियम की धारा 53, 88, 188, 183 के तहत दायर मुकदमें व पत्थरगढ़ी एलआर एक्ट की धारा 136 के अन्तर्गत लम्बित प्रार्थना पत्र, इजराय के प्रार्थना पत्र आदि से संबंधित लम्बित प्रकरणों पर इस अभियान के तहत विचार कर निस्तारण किया जाएगा। इसके अतिरिक्त बंद रास्तों को खुलवाने, संकडे रास्तों से अतिक्रमण हटाने, नए रास्ते दर्ज कराने एवं ग्राम पंचायत के लम्बित सभी नामान्तरणों के निस्तारण का कार्य किया जाएगा। पारिवारिक कृषि भूमि के सहमति से विभाजन के नए प्रकरण भी निस्तारित किए जाएंगे। सीमाज्ञान के आवेदन प्राप्त कर निस्तारण कर लम्बित गैर खातेदारी के प्रकरणों में खातेदारी देना, राजस्व अभिलेखों में त्रुटियों का शुध्दिकरण, नए राजस्व ग्राम हेतु नियमानुसार प्रस्ताव तैयार करना, ग्राम पंचायत की राजस्व संबंधी षिकायतों का चिन्हीकरण एवं निस्तारण का समयबद्ध कार्यक्रम तैयार करने जैसे कार्य इस अवसर पर किए जा सकेंगे।
जिला कलक्टर डाॅ एसपी.सिंह ने कहा कि पिछले वर्ष राजस्व लोक अदालत अभियान ने भारी सफलता अर्जित करते हुए हजारों लोगों को राहत प्रदान की थी। उसी प्रकार इस बार भी राज्य सरकार की मंषा के अनुरूप अधिकाधिक प्रकरणों का निस्तारण कर अभियान को सफल बनाया जाएगा। इस हेतु सभी राजस्व अधिकारियों एवं अन्य जिम्मेदार अधिकारियों को आवष्यक दिषा निर्देष जारी कर दिए गए हैं।
——

जल स्वावलम्बन के लगभग 40 प्रतिषत कार्य पूर्ण
बारां, 2 मई। मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान के तहत प्रारंभ हुए 1550 कार्यों में से लगभग 40 प्रतिषत कार्य पूर्ण कर जिले ने आषातीत प्रगति की है। साप्ताहिक प्रगति रिपोर्ट के आंकडों से यह बात उभरकर सामने आई है। जिला कलक्टर डाॅ. एस.पी. सिंह ने बताया कि इस माह में शेष कार्याें को भी प्रारंभ करवा दिया जाएगा। 25 जून तक सभी कार्य पूर्ण कर लिए जाएंगे।
राज्य के सर्वाधिक वर्षा वाले जिले में शामिल बारां जिले में सतही जल के संरक्षण की व्यवस्था नहीं होने से प्रत्येक वर्ष गर्मी की ऋतु में पानी का संकट पैदा हो जाता है। इस संकट को दूर करने में मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान सहायक सिद्ध होने जा रहा है। जिला परिषद सीईओ भगवती प्रसाद कलाल के अनुसार इस अभियान के तहत जिले की 45 ग्राम पंचायतों के 141 गांवों में कुल 1642 कार्य करवाए जा रहे हैं। लगभग 38 करोड़ 20 लाख के इन कार्याें हेतु स्वीकृतियां जारी कर दी गई हैं। ताजा आंकड़ों के अनुसार अभी तक कुल 1550 कार्य प्रारंभ किए गए थे जिनमें से 596 कार्य पूर्ण हो चुके हैं एवं 954 कार्य प्रगतिरत हैं। शेष 92 कार्य भी शीघ्र प्रारंभ कर 25 जून तक सभी कार्याें को पूर्ण करने का लक्ष्य रखा गया है। इन कार्यों के पूर्ण होने के बाद इसी वर्षा ऋतु में अभियान के परिणाम सामने आ जाएंगे। जिले के चयनित 141 गांवों में अगली गर्मी में जल संकट की समस्या समाप्त होने की उम्मीद है। कुल 1642 कार्यों में जलग्रहण एवं भू संरक्षण विभाग के माध्यम से 481, महात्मा गांधी नरेगा से 161, पंचायती राज विभाग से 496, जल संसाधन विभाग से 36, वन विभाग से 69, कृषि विभाग से 299 एवं उद्यानिकी विभाग से 100 कार्य करवाए जा रहे हैं।

सहभागिता पर भी है जोर
अभियान के तहत विभिन्न कंपनियों से सामाजिक सरोकार के तहत सहयोग लिया जा रहा है। अड़ानी ग्रुप लगभग 45 लाख के दो कार्य करवा रहा है वहीं चम्बल फर्टिलायजर्स एंड केमिकल्स द्वारा 15 लाख का एक कार्य करवाया जा रहा है। इसके अलावा आमजन से श्रमदान एवं अन्य साधनों के रूप में सहयोग किया जा रहा है।
——
ब्लाॅक स्तर पर वीडियों कांफ्रेंस आज
बारां, 2 मई। मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान की साप्ताहिक प्रगति की समीक्षा हेतु आज दोपहर 3 से 5 बजे तक ब्लाॅक स्तर के अटल सेवा केन्द्रों पर वीडियों कांफ्रेंस रखी गई है। जिला परिषद सीईओ भगवती प्रसाद कलाल ने बताया कि जिला स्तर से वीडियों कांफ्रेंस के माध्यम से ब्लाॅक स्तर के अधिकारियों से प्रगति रिपोर्ट लेकर आवष्यक निर्देष दिए जाएंगे। एजेंडे के अनुसार मोबाइल एप्स पर कार्य अपलोड करने की समीक्षा सहित जनसहयोग, कार्य प्रारंभ एवं पूर्ण होने की समीक्षा, अब तक की वास्तविक वित्तीय प्रगति आदि बिन्दुओं पर चर्चा होगी। ब्लाॅक स्तर पर उपखंड अधिकारी एवं अभियान से जुड़े अन्य अधिकारी उपस्थित रहेंगे।
——
कृषि आदान विक्रेताओं की बैठक आज से
बारां, 2 मई। आगामी खरीफ की फसल को ध्यान में रखते हुए जिले के कृषि आदान विके्रताओं की बैठक आज से 5 मई तक आयोजित की जाएगी। कृषि विस्तार उपनिदेषक अतीष कुमार शर्मा ने बताया कि शाहबाद व किषनगंज ब्लाॅक के कृषि आदान विक्रेताओं की बैठक सीताबाड़ी अग्रवाल धर्मषाला में मंगलवार को प्रातः 11 बजे रखी गई है। अटरू, छबड़ा व छीपाबड़ौद ब्लाॅक की बैठक कृषि विभाग की सभा भवन छबड़ा में 4 मई को तथा बारां ब्लाॅक के कृषि आदान विक्र्रेताओं की बैठक कृषि मंडी प्रागण स्थित किसान भवन में 5 मई को आयोजित की जाएगी।
शर्मा ने बताया कि इन बैठकों में बीज, उर्वरक व कीट नाषी अधिनियम में किए गए संषोधन की जानकारी, खरीफ की कार्य योजना एवं गुणवत्तापूर्ण बीज की आपूर्ति आदि के संबंध में विस्तार से चर्चा की जाएगी। बैठक में संबंधित ब्लाॅक से सभी कृषि आदान विक्रेताओं को आमंत्रित किया गया है।

फ़िरोज़ खान
बारां

Leave a Comment

error: Content is protected !!