अंध विद्यालय के शिक्षकों का सम्मान

बीकानेर । लायनेस क्लब व लॉयन क्लब की ओर से अंध विद्यालय के शिक्षकों का सम्मान किया गया। इस अवसर पर प्रो एस सी जैन,लॉयन क्लब अध्यक्ष अनिल माथुर व लायनेस क्लब अध्यक्ष मधु खत्री ने स्कूल के पांच शिक्षकों का शॉल,श्रीफल और स्मृति चिन्ह देकर सम्मान किया। कार्यक्रम में रामदेव राठी,विनोद शर्मा,अशोक बंसल,बाबूलाल सांखला,सीमा माथुर,सुषमा राय,प्रीति माथुर,राजेश मिढ्ढा,भरत चौधरी आदि उपस्थित रहे। बाद में विद्यालय में अध्ययरत विद्यार्थियों को भोजन भी कराया। दयानंद पब्लिक स्कूल के रजत जयंती वर्ष में शिक्षक दिवस पर क्लीन एंड ग्रीन इज आवर ड्रीम थीम के साथ शिक्षक दिवस का आयोजन किया गया। शाला की प्रधानाध्यापिका श्रीमती आशिमा गांधी ने बताया कि कार्यक्रम की मुख्य अतिथि रेलवे वूमैन वैलफेयर एसोसिएशन की अध्यक्ष श्रीमती मीरा दुबे थी। इस अवसर पर शाला के समस्त स्टाफ ने एनवायरमेंट वॉक की । कार्यक्रम में उपस्थित शिक्षक शिक्षिकाओं ने इस थीम पर गीतों व नृत्य की प्रस्तुति दी । इस अवसर पर मुख्य अतिथि श्रीमती दुबे ने उत्कृष्ट शिक्षण के लिए विष्णु दत्त भाटी व अनुप गहलोत को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में मैनेजमेंट अवार्ड से दयानंद पब्लिक स्कूल की श्रीमती श्रेय मोहता, शाला की लिटिल ब्लासम विंग से श्रीमती शशि चौहान व मातृ सेवा सदन की श्रीमती किरण शर्मा को नवाजा गया । इस अवसर पर श्रीमती दुबे ने कहा कि शिक्षक की भूमिका किसी राष्ट्र के निर्माण में सर्वाधिक होती है। उन्होंने सभी शिक्षकों को शिक्षक दिवस की बधाई दी। इस अवसर पर शाला प्रधान इंजी भरत चौधरी ने कहा कि हमारा देश को सदियों से विश्व गुरू का दर्जा मिला रहा है । उन्होंने कहा कि शिक्षक एक सडक की तरह है जो व्यक्ति को उसकी मंजिल तक पहुंचाता है। उन्होंने कहा कि आदर्श शिक्षक वहीं है जो अपने शिष्य को उसकी मंजिल पाने का रास्ता दिखाए उसका मार्गदर्शन करें । इस मौके पर शाला प्राचार्य श्रीमती अलका डॉली पाठक ने कहा कि एक शिक्षक में अन्य गुणों के अलावा सकारात्मक सोच का होना बहुत जरूरी है । उन्होंने कहा कि एक शिक्षक में यदि ये सोच नहीं है तो वो अपने विद्यार्थियों के साथ न्याय नहीं कर सकता।

Leave a Comment

error: Content is protected !!