देश की सीमा पर शहीद होने वाला वैकुंठ को पाता है- उत्तम स्वामी महाराज

भागवत में डुबकी लगाने वाला जन्म जन्मांतर पार हो जाता है- उत्तम स्वामी महाराज
पाप कर्म छोड़कर पूण्य कर्मों में जीवन को लगाए- उत्तम स्वामी महाराज
भागवत कथा के तीसरे दिन का आयोजन

मगरा क्षेत्र के नेशनल हाइवे आठ पर मियाला में उत्तम स्वामी महाराज के सानिध्य में तीसरे दिन की भागवत कथा का आयोजन मंगलवार को किया गया। कथा वाचन से पूर्व आयोजक मंडल के हीरालाल चंदेल व जयेंद्र सिंह रावत के परिजनों सहित मण्डावर सरपंच प्यारी कुमारी, विजयपूरा सरपंच पारस कँवर, जेडीयू महासचिव बालू सिंह रावत, नेमीचंद वीरवाल, तोलूसिंह आडावाला ने तिलक, उपरना पहनाकर, चरणों मे पुष्प अर्पित करके अभिनन्दन किया गया।
कथा का वाचन करते हुए उत्तम स्वामी महाराज ने बताया कि भागवत कथा की गंगा में डुबकी लगाने पर जन्म जन्मांतर को पार लग जाता है। भागवत स्वयं अपने आप मे तीर्थ है। पाप से सांसारिक सम्पति का नाश होता है, इसलिये पाप कर्म छोड़ना होगा। राम नाम का सुमरिन करने की महत्ता बताई। हर रोज परमात्मा को याद करने पर मोक्ष प्राप्ति का मार्ग बताया। इस अवसर पर रावत राजपूत महासभा प्रदेशाध्यक्ष हरि सिंह सुजावत, संयोजक गोपाल सिंह पीटीआई, किशन सिंह सुजावत, निखिल त्रिवेदी, कौटिल्य भट्ट, ईश्वर सिंह थानेठा, जीवराज चंदेल, सवाई सिंह भादसी, रजनीश गांधी, सतवीर सिंह लगेत, नेमी चंद खटीक, अजमाल सिंह कामलीघाट, मांगीलाल सालवी, अभय सिंह मियाला, अरविंद अग्रवाल, सूबेदार विरद सिंह, भंवर सिंह कनियात, जितेंद्र सिंह बरार, जसवंत सिंह मण्डावर, रामलाल मेवाड़ा, मंजू तिवारी, डूंगर सिंह साँगावास, राजू सिंह सतगुरु, कुशाल सिंह मालावत, किशन सिंह टॉडगढ़, पुष्पा टांक, लक्ष्मण सिंह नाबरी, मोहन सिंह बामनिया, विजय सिंह मियाला, मनोहर सिंह नाबरी, रूप सिंह ढाक समेत राजसमन्द, अजमेर, पाली, भीलवाड़ा, बांसवाड़ा, बड़ौदा, सूरत, उदयपुर समेत दूरदराज से आये भक्तगणों ने भागवत का लाभ उठाया। संचालन कवि नयनेश जानी ने किया।

मगरा क्षेत्र की वीरांगनाओं का अभिनन्दन
भागवत कथा के आयोजन पर उत्तम स्वामी महाराज के हाथों मगरा क्षेत्र के शहीद के परिजनों में 1971 में राजपुताना राइफल्स के शहीद नायक सूबेदार तिलोक सिंह बड़ो की रेल के परिजनों, 1999 में कारगिल युद्ध मे शहीद हवलदार नारायण सिंह परतों का चौड़ा के माता- पिता तथा उरी सेक्टर में शहीद हवलदार निम्ब सिंह राजवा की पत्नी रोड़ी देवी को उपरना पहनाकर तथा प्रतीक चिन्ह प्रदान कर अभिनन्दन किया। इस पर उत्तम स्वामी महाराज ने कहा कि मगरा क्षेत्र वीरों की खान है और इस क्षेत्र में रहने वाली मार्शल कौम रावत- राजपूत समाज देश की आजादी से पूर्व से अब तक अपना लोहा मनवा चुकी है जो इस क्षेत्र को गौरवान्वित करता है। देश की सीमा पर शहीद वैकुंठ में जगह पाते है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!