बीएसडीयू के विद्यार्थी करेंगे भारत का प्रतिनिधित्व

राष्ट्रीय स्तर की कौशल स्पर्धा में चमके बीएसडीयू के विद्यार्थी, रूस में 2019 में होने वाले वर्ल्ड स्किल्स कॉम्पीटिशन में करेंगे भारत का प्रतिनिधित्व
ऽ बीएसडीयू ने बढाया विजेता विद्यार्थियों का हौसला, पुरस्कार राशि को किया दुगना

जयपुर, 15 अक्टूबर 2018ः
भारतीय स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी (बीएसडीयू) के छात्रों ने एक और उपलब्धि हासिल करते हुए राष्ट्रीय स्तर की कौशल स्पर्धा में एक स्वर्ण और दो कांस्य पदक हासिल किए हैं। उन्होंने यह पदक 2 से 6 अक्टूबर के दौरान नई दिल्ली में आयोजित इस स्पर्धा में जॉइनरी ट्रेड और कैबिनेट बनाने की श्रेणियों के क्षेत्र में प्राप्त किए हैं। प्रतियोगिता का उद्घाटन माननीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस और कौशल विकास और उद्यमिता मंत्री श्री धर्मेंद्र देबेन्द्र प्रधान ने किया था। कई मंत्री, वरिष्ठ सरकारी अधिकारी, उद्योगपति, और छात्र इस कार्यक्रम में शामिल हुए।
बीएसडीयू के छात्र जिन्होंने कारपेंट्री स्किल्स में प्रतियोगिता में भाग लिया और पदक जीते हैं, उनके नाम हैंः-
ऽ जॉइनरी ट्रेड केटेगरी में – विकास कुमार नागा ने स्वर्ण पदक और 1,00,000 रुपए का नकद पुरस्कार हासिल किया, जबकि कमलेश बागडा को कांस्य पदक और 50,000 रुपए के नकद पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
ऽ कैबिनेट बनाने वाले समूह में मोहित कलाल ने कांस्य पदक और 50,000 रुपए का नकद पुरस्कार प्राप्त किया।
इन विद्यार्थियों को आगे बीएसडीयू की तरफ से ट्रेनिंग दी जाएगी और प्रत्येक ट्रेड में चयनित छात्रों को कजान, रूस में 2019 में होने वाली वर्ल्ड स्किल्स प्रतियोगिता में भाग लेने का मौका मिलेगा।
राष्ट्रीय स्तर की कौशल स्पर्धा में विजेता रहे छात्रों का हौसला बढाते हुए बीएसडीयू ने छात्रों द्वारा जीती गई राशि में इतनी ही राशि और मिलाने का एलान किया है।
बीएसडीयू के स्कूल ऑफ कारपेंटरी स्किल्स के प्राचार्य श्री नरेंद्रसिंह राठौड इंडिया स्किल्स-2018 में जॉइनरी ट्रेड में चीफ एक्सपर्ट के तौर पर शामिल हुए थे।
इंडिया स्किल्स-2018 के बाद विद्यार्थी अब वर्ल्ड स्किल्स के लिए तैयारी करेंगे, जो कि दो साल में एक बार होने वाली दुनिया की सबसे बडी स्किल प्रतियोगिता है। कौशल के मामले में इसे दुनियाभर के युवाओं के बीच ओलंपिक खेलों के बराबर दर्जा हासिल है। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2017 में अबूधाबी में आयोजित वर्ल्ड स्किल्स में भारतीय छात्रों का प्रदर्शन बहुत अच्छा रहा था।
भारतीय स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी के प्रेसीडेंट ब्रिगेडियर (डॉ) सुरजीतसिंह पाब्ला ने कहा, ‘‘विश्वविद्यालय को यह गौरव दिलाने वाले छात्रों को हम बधाई देते हैं। विद्यार्थियों का हौसला बढाते हुए हम यही कहना चाहते हैं कि उन्हें हमेशा यह बात ध्यान में रखनी होगी कि जीवन में जिस क्षेत्र में भी वे आगे बढें, उसमें वे हमेशा उत्कृष्टता हासिल करने का प्रयास करें और कडी मेहनत और लगन से आगे बढने की निरंतर कोशिश करें। हम यह भी घोषणा करते हैं कि छात्रों द्वारा जीती गई राशि में इतनी ही राशि बीएसडीयू की तरफ से और मिलाई जाएगी। हम उम्मीद करते हैं कि वर्ल्ड स्किल्स-2019 में अपने बेहतरीन प्रदर्शन के जरिए विद्यार्थी न सिर्फ यूनिवर्सिटी का, बल्कि देश का सिर भी गौरव और शान से ऊंचा करेंगे। हम पूरे आत्मविश्वास के साथ रूस में होने वाली प्रतिर्स्धा का इंतजार कर रहे हैं।‘‘

Leave a Comment