स्वामी विवेकानंद के व्यक्तित्व एवं कृतित्व से सीख लें युवा-बलारा

156वीं जयंती पर जिला स्तरीय कार्यक्रम आयोजित
बीकानेर, 12 जनवरी। स्वामी विवेकानंद की 156वीं जयंती के अवसर पर शनिवार को जिला स्तरीय समारोह राजकीय महारानी सीनियर सैकण्डरी स्कूल में आयोजित हुआ।
जिला प्रशासन, युवा बोर्ड और राजस्थान राज्य भारत स्काउट एवं गाइड मंडल मुख्यालय के संयुक्त तत्वावधान् में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उपखण्ड अधिकारी मोनिका बलारा ने कहा कि स्वामी विवेकानंद ने दुनियाभर में भारत को विशिष्ट पहचान दिलाई। उनके आदर्श आज भी प्रासंगिक हैं। युवाओं को स्वामी विवेकानंद जैसे महापुरूषों के व्यक्तित्व एवं कृतित्व से सीख लेनी चाहिए।
मुख्य वक्ता के रूप में बोलते हुए मोटिवेशनल ट्रेनर डाॅ. गौरव बिस्सा ने कहा कि स्वामी विवेकानंद का जीवन और उनका प्रत्येक कथन मैनेंजमेंट की कसौटी पर खरा उतरता है। उन्होंने लगभग 120 वर्ष पूर्व समय के सदुपयोग, लक्ष्य निर्धारण तथा इसकी प्राप्ति के लिए पूर्ण समर्पण के साथ जुटने तथा सदैव सत्य बोलने की बात कही, जो आज के युवाओं के लिए बेहद उपयोगी है। उन्होंने स्वामी विवेकानंद के जीवन के विभिन्न प्रसंगों के माध्यम से मैनेंजमेंट के गुर सिखाए।
रामकृष्ण कुटीर के सचिव महादेव प्रसाद आचार्य ने कहा कि स्वामी विवेकानंद ने दुनिया भर में भारतीय धर्म, सभ्यता और संस्कृति को विशिष्ट पहचान दिलाई। शिकागो के धर्म सम्मेलन में विश्व ने उनकी प्रतिभा का लोहा माना। अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी सुनील बोड़ा ने कहा कि विद्यार्थियों को स्वाकी विवेकानंद का साहित्य पढ़ना तथा इसे आत्मसात करने का प्रयास करना चाहिए।
इससे पहले अतिथियों ने स्वामी विवेकानंद के चित्र के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम की शुरूआत की। सीओ स्काउट जसवंत सिंह राजपुरोहित ने कार्यक्रम की रूपरेखा की जानकारी दी। इस अवसर पर सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के उपनिदेशक एल. डी. पंवार, जिला रोजगार अधिकारी हरगोविंद मित्तल, एसकेआरएयू के जनसंपर्क अधिकारी हरि शंकर आचार्य, अधिशाषी अभियंता सुरेश खत्री, सकूल प्राचार्य मीना शर्मा, यूथ वल्र्ड सोसायटी के भैरूसिंह राजपुरोहित, डाॅ.अनिल वर्मा, डाॅ. गौरी शंकर शर्मा, मण्डल सचिव देवानंद पुरोहित, सीओ गाइड ज्योति रानी महात्मा, मालकोश आचार्य आदि मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन जिला परिषद के आईईसी काॅर्डिनेटर गोपाल जोशी ने किया।
लगाई विभिन्न विभागों की स्टाॅल्स
इस अवसर जिला कौशल एवं रोजगार विभाग, महिला अधिकारिता एवं बाल विकास विभाग, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता तथा आयुर्वेद विभाग की स्टाॅल्स लगाई गईं। इन स्टाॅल्स के माध्यम से सरकार की विभिन्न योजनाओं और कार्यक्रमों का प्रचार-प्रसार किया गया।

Leave a Comment