स्टूडेन्ट पुलिस कैडेट योजना के तहत संभाग स्तरीय कार्यशाला आयोजित

बीकानेर, 22 जुलाई। विद्यार्थियों में अनुशासन और कानून की पालना को स्वाभाविक जीवन शैली में शामिल करने के उददेश्य से स्टूडेन्ट पुलिस कैडेट योजना के तहत सोमवार को रवीन्द्र रंगमंच पर एक दिवसीय संभाग स्तरीय कार्यशाला आयोजित की गई। कार्यक्रम में निदेशक माध्यमिक शिक्षा नथमल डिडेल ने कहा कि विद्यार्थियों में समाज के प्रति सेवा भाव के साथ-साथ कर्तव्य बोध तथा उनके व्यक्तित्व के विकास के लिए यह कार्यक्रम आरम्भ किया गया हैं। इससे युवाओं में नेतृत्व क्षमता विकसित होगी तथा वे स्वयं में सामाजिक प्रतिबद्धता का विकास कर सकेंगे।
पुलिस अधीक्षक प्रदीप मोहन शर्मा ने कहा कि यह पुलिस व शिक्षा विभाग की एक संयुक्त योजना है जिसमें विधार्थियांे के व्यक्तित्व विकास के लिए प्रयास किये जाएंगे। इससे विद्यार्थियों में कानून की उपयोगिता की समझ बनेगी और वे स्वतः करण से कानून का पालन करने के लिए प्रेरित होंगे। उन्होंने कहा कि इस गतिविधि से सामुदायिक मामलों को सुलझाने में भी विद्यार्थियों की साझेदारी बढ़ सकेगी। योजना के माध्यम से विद्यार्थियों को यातायात व्यवस्था में सुधार, पुलिस के प्रति विद्यार्थियों में सकारात्मक छवि का विकास, विद्यार्थियेां में शारीरिक व मानसिक स्वास्थ्य में सकारात्मक बदलाव आ सकेगा। उन्होंने कहा कि इस योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए दोनों विभागों में समन्वय की आवश्यकता है। उन्होंने शिक्षा विभाग से बच्चों को सकारात्मक अभिप्रेरणा लेने की बात कही।
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कम्यूनिटी पुलिसिंग रानू शर्मा ने बताया कि स्टूडेन्ट पुलिस कैडेट योजना 2 वर्ष की अवधि के लिए कक्षा 8 से प्रारम्भ होगी। इस योजना के प्रथम वर्ष में कक्षा 8 के शारीरिक रूप से स्वस्थ विद्यार्थियों को प्रशिक्षित किया जायेगा और आगामी वर्ष में इन्हीं कैडेट्स को कक्षा नवीं में प्रशिक्षण दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि इस योजना को राज्य की सभी 249 पंचायत समितियों के एक-एक उच्च माध्यमिक विद्यालय में प्रारम्भ किया जाएगा। उन्होंने बताया कि प्रशिक्षण का उददेश्य सामाजिक बुराईयों के निस्तारण में पुलिस के साथ सहयोग, पुलिस व अन्य हैल्प लाईनों की जानकारी, यातायात नियमों की जानकारी तथा जनता व पुलिस के बीच की दूरी को कम करने का प्रयास किए जाएंगे। इन गतिविधियों से विद्यार्थियों में सड़क नियमों के प्रति जागरूकता, महिलाओं और बच्चों के प्रति सम्मान व सुरक्षा, टीम भावना आदि का विकास होने मे मदद मिलेगी। उन्होंने बताया कि योजना के तहत प्रशिक्षित कैडेट्स को स्वतंत्रता दिवस व गणतंत्र दिवस कार्यक्रमों में भाग लेने का अवसर मिलेगा।
गौतम की अध्यक्षता में बनी है कमेटी
योजना के तहत जिला स्तर पर जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम की अध्यक्षता में जिला स्टीयरिंग कमेटी का गठन किया गया है। कमेटी में पुलिस अधीक्षक व जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक सदस्य होंगे। कमेटी विद्यालयों में स्टूडेन्ट पुलिस कैडेट कार्यक्रम को आवश्यक सम्बल एवं मार्गदर्शन देने का कार्य करेगी तथा विद्यालय स्तर की स्टूडेन्ट पुलिस कैडेट गतिविधियों का मूल्यांकन करने का कार्य करेगी। कमेटी की तीन माह में एक बैठक आयोजित की जाएगी, जिसमें जिले में स्टूडेन्ट पुलिस कैडेट्स कार्यक्रम के क्रियान्वयन एवं प्रगति की समीक्षा की जाएगी। इस प्रशिक्षण के तहत इंडोर व आउटडोर गतिविधियां आयोजित की जाएगी। इसके तहत इन्डोर व आउटडोर कक्षा, पुलिस थाना एवं न्यायालय की कार्यप्रणाली को समझने हेतु भ्रमण आदि करवाया जाएगा।
इस कार्यक्रम हेतु प्रत्येक विद्याालय को प्रति वर्ष पचास हजार रूपए दो वर्षों के लिए उपलब्ध करवाए जाएंगे। कार्यक्रम में जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक उमाशंकर किराडू ने कहा कि योजना के तहत चयनित बच्चों को ड्रेस आदि दिलाने के लिए भामाशाहों का सहयोग लिया जाएगा। कार्यक्रम में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पवन मीना, सीडीईओ माध्यमिक शिक्षा डी के जोशी सहित संभाग के विभिन्न विद्यालयों के शाला प्रधान व थानों के कार्मिक उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन बी डी हर्ष ने किया।
——-
बीकानेर पंचायत समिति में ब्लॉक स्तरीय जनसुनवाई मंगलवार को
बीकानेर, 22 जुलाई। जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम मंगलवार को बीकानेर पंचायत समिति में जनसुनवाई कर आमजन की परिवेदनाओं का निस्तारण करेंगे।
जनसुनवाई सुबह 10 से सांय 5 बजे तक आयोजित होगी। जिसमें पंचायत समिति में चलाए जा रही विकास कार्यों की समीक्षा भी की जाएगी। शिविर में समस्त विभागों के जिला स्तरीय तथा ब्लॉक स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहेंगे। जनसुनवाई शिविर के नोडल अधिकारी अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) तथा उपखण्ड अधिकारी बीकानेर प्रभारी अधिकारी होंगे। जिला कलक्टर ने बताया कि शिविर में संबंधित विभाग संबंधित आवेदन पत्रों का उसी दिन निस्तारण किया जाना सुनिश्चित करेंगे। शिविर में राजस्व, सामाजिक एवं न्याय अधिकारिता विभाग, पशुपालन विभाग, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, ऊर्जा विभाग, जनस्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी विभाग, आयोजना विभाग, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग, श्रम विभाग, कृषि विभाग, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग, आयुर्वेदिक विभाग भाग लेंगे। जनसुनवाई शिविर में विभागों से संबंधित समस्त प्रकार की योजनाओं एवं व्यक्तिगत कार्यो की परिवेदनाएं ली जाएगी।

Leave a Comment

error: Content is protected !!