अजमेर की बहू डॉ. प्रीति मित्तल को उनके शोध पत्र के लिये मिला दूसरा स्थान

जयपुर। अजमेर की बहू व हाल जयपुरिया अस्पताल जयपुर के शिशु रोग विभाग में रेज़िडेंट के तौर पर कार्यरत डॉ. प्रीति मित्तल को होटल क्लार्क्स आमेर, जयपुर में आयोजित दो दिवसीय “वेस्ट ज़ोन नियोकॉन (NEOCON) कॉन्फ्रेंस 2019” में उनके शोध पत्र के लिये दूसरा स्थान प्राप्त हुआ। गौरतलब है कि इस कॉन्फ्रेंस में 5 राज्यों के प्रतिभागियों ने भाग लिया था, जिनमें राजस्थान, महाराष्ट्र, गोआ, दमन एंड दिउ तथा गुजरात के शिशु रोग विशेषज्ञ शामिल थे।
डॉ. प्रीति का शोध-पत्र समय पूर्व जन्में बच्चों (यानी प्री-मेंचुअर बेबी) में होने वाली साँस की बीमारी ‘रेस्पिरेटरी डिस्ट्रेस सिन्ड्रोम’ में दो साँस की मशीनों ‘नेज़ल सीपेप’ (nCPAP) तथा ‘हीटिड हुमीडिफाइड हाई-फ्लो नेज़ल कैनुला’ (HHHFNC) की तुलना व उपयोगिता से सम्बन्धित था। डॉ. प्रीति के शोध-पत्र की कॉन्फ्रेंस में उपस्थित सभी डॉक्टरों ने सराहना की तथा कहा कि उनके सुझाये प्रयासों से कईं नन्हीं जानों को बचाने में सहायता प्राप्त होगी।
इस कॉन्फ्रेंस का आयोजन इंडियन अकेडमी ऑफ पीडियाट्रिक्स तथा नेशनल नियोनेटोलोजी फोरम के संयुक्त तत्वाधान में किया गया था।
डॉ. प्रीति मित्तल का विवाह अजमेर पुलिस लाइन्स निवासी साकेत गर्ग के साथ हुआ है। उनकी इस उपलब्धि पर रिश्तेदारों के अलावा कईं गणमान्य व्यक्तियों के द्वारा शुभकामनायें प्रेषित की गई है।

साकेत गर्ग
मोबाइल: 9509226927, 7014659123

Leave a Comment

error: Content is protected !!