सिंधी भाषा संवर्द्धन के प्रयासों को तेज करना जरूरी – महेंद्र तीर्थाणी

बीकानेर । भारतीय सिन्धुसभा बीकानेर द्वारा पवनपुरी झूलेलाल मन्दिर में आयोजित बैठक में समाज के गणमान्य व्यक्तियों सहित सिन्धुसभा के कार्यकर्ता बड़ी संख्या में उपस्थित हुए।राष्ट्रीय महामंत्री श्री महेंद्र तीर्थाणी ने सभा द्वारा सिन्धी संस्कृति व सिन्धी भाषा के संवर्धन के लिये अनौपचारिक कार्यक्रम में सँस्कार शिविरों के बाद सिन्धी सर्टिफिकेट कोर्स के बारे मे विस्तार से बताया उन्होंने आग्रह किया कि सभी सामाजिक संस्थायें इस पुनीत कार्य में अपना योगदान दे।
इससे पूर्व भाषा व साहित्य मंत्री ने अनौपचारिक व औपचारिक तरीके से भाषा के सम्वर्द्धन के लिये किये गये प्रयासो पर विस्तार से प्रकाश डाला।उन्होंने रथखाना झूलेलाल मन्दिर सुरेश खेसवानी के नेतृत्व में चल रहे सिन्धी सर्टिफिकेट कोर्स का भी अवलोकन किया।महिला जिलाध्यक्ष श्रीमती भारती गवालानी व उनकी सहयोगी श्रीमती कांता हेमनानी ने सँस्कार शिविरों की अवधि व आवर्ती बढ़ाने पर जोर दिया। श्री श्याम आहूजा ने संस्कार शिविरों में सहभागियों की आयु अनुसार नये सिरे से योजना बना कर विविधता लाने और समाजोपयोगी कार्यक्रम देने का आह्वान किया।श्री हासा नन्द जी,किशन सदारंगनी व टीकम पारवानी ने सर्टिफिकेट कोर्स की समाज के लिये उपयोगिता को देखते हुए सभी संस्थाओं व सम्पूर्ण समाज को इस कार्य मे अपनी आहुति डालने का आग्रह किया।मानसिंह मामनानी ने आगन्तुकों का धन्यवाद ज्ञापित किया।

Leave a Comment

error: Content is protected !!