सीकर दुष्कर्म पीड़िता को दिल्ली एम्स भेजा

rapeसीकर की 12 वर्षीय दुष्कर्म पीड़ित लड़की की हालत बिगड़ने के बाद उसे शुक्रवार को दिल्ली एम्स में भर्ती कराया गया। दोपहर बाद पीडिता को एम्स के आईसीयू में शिफ्ट किया गया है। उसकी हालत नाजुक बनी हुई है। पांच माह से दर्द से कराह रही लड़की के इलाज में देरी से हालत बिगड़ती जा रही थी। पीड़िता अभी तक जयपुर के जे.के.लोन अस्पताल में भर्ती थी। 20 अगस्त 2012 की रात सीकर में उसके साथ गैंगरेप हुआ था। राज्य सरकार के निर्देश पर शुक्रवार सुबह 10 बजे एसएमएस अस्पताल की क्रिटिकल केयर एम्बुलेंस से पीडिता को मेडिकल टीम के साथ रवाना किया गया।

 

दबाव में फैसला?

सूत्रों के अनुसार दबाव के चलते ही राज्य सरकार के स्तर पर मेडिकल बोर्ड की ओर से सिफारिश नहीं किए जाने के बावजूद पीड़िता को एम्स भेजने का निर्णय किया गया। पीडिता मूलरूप से बिहार की रहने वाली है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार लगातार पीड़िता के बारे में जानकारी ले रहे थे। उन्होंने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से भी बात कर बच्ची के उपचार की जानकारी ली थी। उधर, पीड़िता मां ने कहा कि बेटी की हालत बिगड़ रही थी, लेकिन कोई हमारी सुनने को तैयार नहीं था। एम्स लाने का फैसला भी मीडिया के दबाव में हुआ है।

 

हंगामे के बाद भेजा साथ

परिजनों ने एम्बुलेंस में उन्हें नहीं ले जाने का आरोप लगाते हुए हंगामा मचाया तो परिजनों और अतिरिक्त मेडिकल टीम को अन्य वाहन से एम्बुलेंस के साथ रवाना किया गया।

Leave a Comment

error: Content is protected !!